चोल साम्राज्य या दक्षिण भारत महत्वपूर्ण प्रश्न | Chola Dynasty

Chola Dynasty

चोलों के उल्लेख अत्यंत प्राचीन काल से ही प्राप्त होने लगते हैं जो कृष्णा तथा तुंगभद्रा नदियों से लेकर कुमारीअंतरीप तक का विस्तृत भूभाग को चोल साम्राज्य के नाम से जाना जाता है. 9वीं शताब्दी के आसपास Chola Dynasty पल्लवों के ध्वंसावशेषों पर स्थापित हुआ, जो दक्षिण भारत में और पास के अन्य देशों में तमिल चोल शासकों ने 9वीं से 13वीं शताब्दी के बीच एक अत्यंत शक्तिशाली हिन्दू साम्राज्य का निर्माण किया.

अशोक के तेरहवें शिलालेख में तीन प्रकार के राज्यों का स्वतंत्र रूप से उल्लेख किया गया है, जो उसके साम्राज्य के सुदूर दक्षिण में स्थित हैं. यह साम्राज्य चोलो का सबसे विशाल साम्राज्य था जो दक्षिण भारत को विकाश के नई पथ पर लाया.

Chola Dynasty से सम्बंधित और भी महत्वपूर्ण तथ्य उपलब्ध है जिसका अध्ययन नियमानुसार करेंगे और समझने का प्रयास करेंगे कि इस साम्राज्य के उदय का रहस्य क्या था और आज महत्वपूर्ण क्यों है.

चोल साम्राज्य का उदय

जानकारों के अनुसार Chola Dynasty के उदय में मतभेद है. लेकिन उपलब्ध साक्ष्यों के अनुसार चोल साम्राज्य की स्थापना विजयालय ने की, जो आरम्भ में पल्लवों का एक सामंती सरदार था. उसने 850 ई. में तंजौर को अपने अधिकार में किया और पाण्ड्य राज्य पर चढ़ाई कर दी.

चोल साम्राज्य 897 तक इतने शक्तिशाली हो गए थे कि, उन्होंने पल्लव शासक को हराकर उसकी हत्या कर दी और सारे टौंड मंडल पर अपना अधिकार कर लिया. इसके सम्बन्ध में कुछ और तथ्य है लेकिन उसका अध्ययन प्रश्न के अनुसार किया जाएगा.

मौर्य काल प्रश्नोत्तरीधार्मिक आंदोलन प्रश्नोत्तरी
प्राचीन भारत प्रश्नोत्तरीविश्व के महासागर
मौर्य-उत्तर कालमहाजनपद काल प्रश्नोत्तरी

चोल वंश के शासक और उनकी अवधि

शासक के नामशासन काल
विजयालय848-871 ई०
आदित्य प्रथम871-907 ई०
परांतक प्रथम907-950 ई०
राजराज प्रथम985-1014 ई०
राजेन्द्र प्रथम1014-1044 ई०
राजाधिराज प्रथम1044-1054 ई०
राजेन्द्र द्वितीय1054-1063 ई०
वीर राजेन्द्र1063-1067 ई०
अधिराजेंद्र1067-1070 ई०
कुलोत्तुंग प्रथम1070-1120 ई०
विक्रम चोल1120-1133 ई०
कुलोत्तुंग द्वितीय1133-1150 ई०
राजराजा द्वितीय1150-1173 ई०
राजाधिराज द्वितीय1173-1182 ई०
कुलोत्तुंग तृतीय1182-1216 ई०
राजाधिराज तृतीय1216-1250 ई०
राजेन्द्र तृतीय1250-1279 ई०

चोल साम्राज्य से सम्बंधित प्रश्नोत्तरी | Chola Dynasty Question Answer

इसमें ऐसे प्रश्न शामिल है जो प्रतियोगिता एग्जाम में कई बार पूछे जा चुके है. अतः ये आपके प्रशों और जिज्ञासा को शांत करने में सबसे अधिक मदद करेगा.

Q.1. ऐहोल प्रशस्ति का रचयिता रविकीर्ति किस चालुक्य शासक का दरबारी कवि था?

  • पुलकेशिन I
  • पुलकेशिन II
  • विक्रमादित्य I
  •  विक्रमादित्य II

उत्तर:- पुलकेशिन II

Q.2.बादामी में दुर्ग का निर्माण करवाने तथा बादामी को राजधानी बनाने का श्रेय किस चालुक्य शासक को है ?

  • पुलकेशिन | 
  • पुलकेशिन II 
  •  विक्रमादित्य I 
  •  विक्रमादित्य II

उत्तर:- पुलकेशिन

Q.3. यादव सम्राटों की राजधानी कहाँ थी?

{SSC 1999}

  • द्वारसमुद्र
  • वारांगल 
  • कल्याणी 
  • देवगिरि

उत्तर:- देवगिरि

Q.4. चोल राजाओं ने किस धर्म को संरक्षण प्रदान किया? [SSC1999]

  •  जैन धर्म
  • बौद्ध धर्म
  • शैव धर्म
  • वैष्णव धर्म

उत्तर:- शैव धर्म

Q.5. प्रथम भारतीय शासक कौन था, जिसने अरब सागर में भारतीय नौसेना की सर्वोच्चता स्थापित की? {SSC 1999; UPPCS 1991;J&KPCS 2002}

  • राजराजा I 
  •  राजेन्द्र I
  • राजाधिराज
  •  कुलोत्तुंग ।

उत्तर:- राजराजा I

Q.6. रविकीर्ति द्वारा निर्मित जिनेन्द्र मंदिर मेगुती मंदिर, ऐहोल का संबंध किससे है?

  • शैव धर्म से
  • वैष्णव धर्म से
  • जैन धर्म से
  • बौद्ध धर्म से

उत्तर:- जैन धर्म से

Q.7. ऐहोल का लाढ़ खाँ मंदिर किस देवता को समर्पित है?

  •  शिव
  •  विष्णु
  • सूर्य
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- सूर्य

Q.8. पापनाथ का मंदिर, पत्तडकल्ल का निर्माण किस वंश के शासक ने किया?

  •  वातापी के चालुक्य
  • राष्ट्रकूट
  • चोल
  • पल्लव

उत्तर:- वातापी के चालुक्य

Q.9. ‘मत्तविलास प्रहसन’ नाटक का रचयिता कौन थे?

  •  महेन्द्रवर्मन ।
  •  महेन्द्रवर्मन II
  • नरसिंहवर्मन I’माम्मल’ 
  • नरसिंहवर्मन II ‘राजसिंह’

Q.10. ‘विचित्र चित्त’, ‘मत्त विलास’ आदि उपाधि धारण करनेवाला पल्लव शासक कौन था?

  • महेन्द्रवर्मन I
  • महेन्द्रवर्मन II
  • नंदिवर्मन
  • अपराजित

उत्तर:- महेन्द्रवर्मन II

Q.11. मंदिर स्थापत्य कला की द्रविड़ शैली का आरंभ किस राजवंश के समय में हुआ?

  • पल्लव
  • चोल
  • राष्ट्रकूट
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- पल्लव

Q.12. किस चालुक्य शासक ने थानेश्वर व कमीज के महान शासक हर्षवर्धन की नर्मदा के तट पर परास्त किया और उसे दक्षिण बढ़ने से रोका? {CPO AC2000}

  • पुलकेशिन ।
  • पुलकेशिन ।।
  •  विक्रमादित्य।
  •  विक्रमादित्य II

उत्तर:- पुलकेशिन II

Q.13. चालुक्यों और पल्लवों के बीच लम्बै समय तक चलनेवाले संघर्ष का आरंभ किसने किया?

  •  पुलकेशिन ॥
  • महेन्द्रवर्मन।
  • नरसिंहवर्मन ।
  • इनमें से कोई नहीं।

उत्तर:- पुलकेशिन ॥

Q.14. चालुक्य पल्लव संघर्ष के दौरान किसने पुलकेशिन 11 की हत्या कर वातापी पर कब्जा पर लिया तथा वातापीकोण्डा’ (वातापी का विजेता) की उपाधि धारण की? [INDA2003]

  • महेन्द्रवर्मन ।
  •  नरसिंहवर्मन ! ‘माम्मल’
  • महेन्द्रवर्मन ॥
  • नरसिंहवर्मन II ‘राजसिंह

उत्तर:- नरसिंहवर्मन ! ‘माम्मल’

Q.15. किस चालुक्य शासक ने चेर, चौल व पांड्य को हराया, जिस कारण उसे ‘तीनों समुद्रों (बंगाल की खाड़ी, हिन्द महासागर व अरब सागर) का स्वामी’ भी कहा गया?

  •  पुलकेशिन ।
  • पुलकेशिन ॥
  • विक्रमादित्य ।
  • विक्रमादित्य

उत्तर:- विक्रमादित्य ।

Q.16. श्रीलंका पर विजय प्राप्त करनेवाला चोल वंश का सबसे प्रतापी राजा कौन था? [SSC2002: TC2005, UPSC2001]

  •  राजराजा
  • राजेन्द्र । 
  •  राजेन्द्र 
  •  विक्रम चौल

उत्तर:- राजेन्द्र ।

Q.17. पहाड़ी काटकर एलोरा के विश्वविख्यात कैलाशनाथ मंदिर का निर्माण किसने कराया था? {SSC2002, 1999, SSC 2003,2002,CPOST2003;UPPC9-2001}

  • कदम्ब ने राष्ट्रक्ट ने
  • राष्ट्रकूट ने
  • चील ने
  • चेर ने

उत्तर:- राष्ट्रकूट ने

Q.18. निम्नलिखित में किसने तंजौर में वृहदेश्वर मंदिर का निर्माण कराया था? ISSC 2002:SSC 2002: RRB TC 2005)

  • आदित्य । ने
  •  राजराजा । ने
  •  राजेन्द्र ने
  • कारिकाला ने

उत्तर:- राजराजा । ने

Q.19. माम्मलपुरम किसका समानार्थी है ?

  • महाबलिपुरम 
  • उज्जयिनी 
  •  मदुरै 
  •  कल्याणी

उत्तर:- महाबलिपुरम

Q.20. निम्नलिखित में से किस शासक के पास एक शक्तिशाली नौसेना थी? [RRB CE 2005; UPPCS 2004,1993; RAS/RTS 1992]

  • चोल
  • पांड्य
  •  चेर
  •  पल्लव

उत्तर:- चोल

Q.21. भगवान् नटराज का प्रसिद्ध मंदिर जिसमें भरतनाट्यम शिल्प कला है कहाँ स्थित है? [RRB TC 2005]

  •  तिरुवण्णमलै 
  • मदुरै 
  • चिदंबरम
  • तंजौर

उत्तर:- चिदंबरम

Q.22. राष्ट्रकूटों को किसके द्वारा उखाड़ फेंका गया था ? [RRB ASM/GG 2005]

  • जयसिंह
  •  पुलकेशिन II
  • विक्रमादित्य VI
  • तैलप II 

उत्तर:- तैलप II 

Q.23. प्रशासन के क्षेत्र में चोल राजवंश का मुख्य योगदान किसमे रहा है? {RRB ASM/GG 2005}

  • सुनियोजित राजस्व प्रशासन में 
  •  सुनियोजित राजस्व प्रणाली में
  • सुसंगठित केन्द्रीय सरकार में 
  • सुसंगठित स्थानीय स्वशासन में

उत्तर:- सुसंगठित स्थानीय स्वशासन में

Q.24. चालुक्य वंश का सर्वाधिक प्रसिद्ध शासक कौन था? {SSC 2002: UPPCS 19911}

  •  जयसिंह II
  • विक्रमादित्य
  • सोमेश्वर II
  •  पुलकेशिन II

उत्तर:- पुलकेशिन II

Q.25. निम्नलिखित में से कौन-सा शहर चोल राजाओं की राजधानी था? {SSC 2002}

  •  सांची
  •  तंजौर
  • मदुरै 
  • त्रिचिरापल्ली

उत्तर:- तंजौर

Q.26. पांड्य साम्राज्य की राजधानी कहाँ थी? [SSC 2001;16EKPCS 2002]

  •  कांची
  •  मदुरै 
  •  कावेरीपट्टनम 
  •  तिरुची

उत्तर:- मदुरै

Q.27. राष्ट्रकूट साम्राज्य का संस्थापक कौन था? {SSC 2001; UPSC2006}

  •  दन्तिदुर्ग 
  • अमोघवर्ष 
  • गोविन्द III 
  • इन्द्र III

उत्तर:- दन्तिदुर्ग

Q.28. निम्न राजवंशों में से किसने श्रीलंका एवं दक्षिण-पूर्व एशिया को जीता? {SSC 2001}

  • पांड्य 
  •  चालुक्य
  • चोल
  • राष्ट्रकूट

उत्तर:- चोल

Q.29. विरुपाक्ष मंदिर का निर्माण किसने किया था? [SSC 2000]

  •  चालुक्य
  • पल्लव 
  • वाकाटक 
  • सातवाहन

उत्तर:- चालुक्य

Q.30. पल्लवों के एकाश्मीय रथ मिलने का स्थान कौन सा है? [SSC 1999;UPPCS 1994]

  • कांचीपुरम 
  • पुरी 
  •  महाबलिपुरम 
  •  आगरा

उत्तर:- महाबलिपुरम

Q.31. होयसल की राजधानी का नाम क्या है? {SSC 1999;ASM/GG2005)}

  • वारंगल 
  • देवगिरि
  • द्वारसमुद्र
  • कृष्णागिरि

उत्तर:- द्वारसमुद्र

Q.32. महाबलिपुरम, जो एक मुख्य नगर है, वह कला में किन शासकों की रुचि कोदर्शाता है? {SSC 1999; SSC Grad, 2002: RRB Tech. 2001}

  • पल्लवों की 
  • चेरों की 
  • पाण्ड्यों की 
  • चालुक्यों की

उत्तर:- पल्लवों की 

Q.33. ‘मिताक्षरा’ की विषयवस्तु क्या है?

  • आयुर्वेद
  • खगोल
  • काव्य शास्त्र
  • हिन्दू पारिवारिक विधि संहिता

उत्तर:- हिन्दू पारिवारिक विधि संहिता

Q.34. पल्लवों की राजभाषा क्या थी?

  • संस्कृत
  •  तमिल
  • प्राकृत
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- संस्कृत

Q.35. गोपुरम (मुख्य द्वार) के प्रारंभिक निर्माण का स्वरूप सर्वप्रथम किस मंदिर में मिलता है?

  • कांची का कैलाशनाथ मंदिर 
  • तंजौर का वृहदीश्वर मंदिर
  • गंगैकोण्डचोलपुरम का मंदिर 
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- कांची का कैलाशनाथ मंदिर 

Q.36. 12वीं सदी के राष्ट्रकूट वंश के पाँच शिलालेख किस राज्य में मिले हैं ? {43वीं BPSC 1999}

  •  तमिलनाडु 
  • कर्नाटक 
  •  केरल
  • महाराष्ट्र

उत्तर:- कर्नाटक

Q.37. निम्नांकित राजवंशों में से किसके शासक अपने शासनकाल में ही अपना उत्तराधिकारी घोषित कर देते थे? [UPPCS 2003]

  •  चालुक्य
  •  चोल
  •  कदम्ब 
  • कल्चुरि

उत्तर:- चोल

Q.38. दक्षिणी भारत का ‘तक्कोलम का युद्ध’ हुआ था—- [UPPCS 2003]

  •  चोल एवं उत्तर चालुक्यों के मध्य 
  • चोल एवं राष्ट्रकूटों के मध्य
  • चोल एवं होयसल के मध्य 
  • चोल एवं पांड्यों के मध्य

उत्तर:- चोल एवं राष्ट्रकूटों के मध्य

Q.39. एलोरा गुफाओं का निर्माण किसने कराया था? {UPPCS 1999}

  •  पल्लवों ने 
  • चोलों ने
  •  राष्ट्रकूटों ने 
  •  पालों ने

उत्तर:- राष्ट्रकूटों ने 

Q.40. द्रविड़ शैली के मंदिरों में ‘गोपुरम’ से तात्पर्य है—- [UPPCS 1998]

  • गर्भगृह से
  • दीवारों पर की गई चित्रकारी से
  • शिखर से
  • तोरण के ऊपर बने अलंकृत एवं बहुमंजिला भवन से 

उत्तर:- तोरण के ऊपर बने अलंकृत एवं बहुमंजिला भवन से 

Q.41. एलोरा में गुफाओं व शैलकृत मंदिरों का संबंध है केवल—- {TUPPCS 1998, NET/JRF 2015)

  • बौद्धों से
  • बौद्धों एवं जैनों से
  • हिन्दुओं एवं जैनों से 
  •  हिन्दुओं, बौद्धों एवं जैनों से

उत्तर:- हिन्दुओं, बौद्धों एवं जैनों से

Q.42. एलोरा का 34 गुफाओं का मंदिर ……… एवं के बीच बनाया गया- [RRB Tech. 2004]

  •  500 ई., 700 ई.
  • 300 ई., 500 ई.
  • 700 ई., 800 ई.
  • 250 ई., 450 ई.

उत्तर:- 700 ई., 800 ई.

Q.43. तीन मुखवाली ब्रह्मा, विष्णु व महेश की मूर्ति, जो त्रिमूर्ति के नाम से जानी जाती है, गुफा में है- [RRB Tech. 2004]

  • कल्वा 
  •  एलोरा
  • एलीफैण्टा
  • अजन्ता

उत्तर:- एलीफैण्टा

Q.44. ह्वेनसांग के कांची प्रवास के समय पल्लव शासक था?

  •  महेन्द्रवर्मन I
  • महेन्द्रवर्मन ।
  • नरसिंहवर्मन I ‘माम्मल’ 
  •  नरसिंहवर्मन II ‘राजसिंह’

उत्तर:- नरसिंहवर्मन I ‘माम्मल’ 

Q.45.आलवारों (वैष्णव संतों) एवं नायनारों / आडियारों (शैव संतों) द्वारा दक्षिण में भक्ति आंदोलन किस राजवंश के समय में आरंभ हुआ?

  • पल्लव
  • चालुक्य
  • चोल
  • विजयनगर

उत्तर:- पल्लव

Q.46. ‘महाभारत’ का ‘भारत वेणवा’ नाम से तमिल में किसने अनुवाद किया?

  • तोल्लकप्पियर
  • इलांगो आडिगल
  • सीतलै शतनार
  • पेरुन्देवनार

उत्तर:- पेरुन्देवनार

Q.47. माम्मलपुरम के मंडप मंदिरों एवं रथ मंदिरों (सप्त पगोडा) का निर्माण किसने कराया?

  • महेन्द्रवर्मन I
  • नरसिंहवर्मन I ‘माम्मल’
  • नरसिंहवर्मन II ‘राजसिंह’ 
  •  नंदिवर्मन अपराजित

उत्तर:- नरसिंहवर्मन I ‘माम्मल’

Q.48. किस मंदिर को ‘राजसिंहेश्वर / राजसिद्धेश्वर’ मंदिर भी कहा जाता है ?

  •  कांची का कैलाशनाथ मंदिर
  • कांची का मुक्तेश्वर मंदिर
  • कांची का मातंगेश्वर मंदिर
  •  गुडिमल्लम का परशुरामेश्वर मंदिर

उत्तर:- कांची का कैलाशनाथ मंदिर

Q.49. राजेन्द्र चोल द्वारा किये गये बंगाल अभियान के समय बंगाल का शासक कौन था ? [NDA 2003]

  •  महिपाल-II 
  •  नयपाल 
  •  देवपाल
  • महिपाल-I

उत्तर:- महिपाल-I

Q.50. 8वीं सदी के प्रारंभ में निम्नलिखित में से किसने जोरोऐस्ट्रियनों (पारसियों) को शरण दी जो पर्शिया (ईरान) से समुद्र द्वारा फरार होकर तटीय रास्ते से पश्चिमी भारत पहुँचे थे? [CDS 2004]

  • चालुक्यों ने 
  •  चोलों ने
  •  होयसलों ने
  •  राष्ट्रकूटों ने

उत्तर:- राष्ट्रकूटों ने

Q.51. वेंगी के चालुक्य राज्य का चोल साम्राज्य में विलय किसने किया?

  • राजराजा I
  • राजेन्द्र I
  • राजेन्द्र II
  •  राजेन्द्र III (कुलोत्तुंग चोल I)

उत्तर:- राजेन्द्र III (कुलोत्तुंग चोल I)

Q.52. ‘चालुक्य विक्रम संवत्’ का प्रचलन किसने किया?

  • तैलप II
  • सोमेश्वर I
  •  विक्रमादित्य VI
  • सोमेश्वर IV

उत्तर:- विक्रमादित्य VI

Q.53. ‘विक्रमांकचरित’ का रचयिता बिल्हण एवं ‘मिताक्षरा’ के रचनाकार विज्ञानेश्व के संरक्षक शासक थे?

  • तैलप II
  • विक्रमादित्य VI
  •  सोमेश्वर I
  • सोमेश्वर IV

उत्तर:- विक्रमादित्य VI

Q.54. निम्नलिखित में से चोल प्रशासन की विशेषता क्या थी?

  •  साम्राज्य का मण्डल में विभाजन 
  • ग्राम प्रशासन की स्वायत्तता
  •  राज्य में मंत्रियों को समस्त अधिकार
  •  कर संग्रह प्रणाली का सस्ता एवं उचित होना TUPPCS1995 )

उत्तर:- ग्राम प्रशासन की स्वायत्तता

Q.55. चोलों का राज्य किस क्षेत्र में फैला हुआ था ? {UPPCS 1991}

  • विजयनगर क्षेत्र
  • मालाबार क्षेत्र
  •  दक्कन का पठार
  •  कोरोमण्डल तट, दक्कन के कुछ भाग

उत्तर:- कोरोमण्डल तट, दक्कन के कुछ भाग

Q.56. चोल शासकों के समय में बनी हुई प्रतिमाओं में सबसे अधिक विख्यात हुई प्रतिमा कौन-सी है?

  •  पत्थर की प्रतिमाएँ
  • संगमरमर की प्रतिमाएँ
  • विष्णु भगवान की प्रस्तर प्रतिमाएँ 
  • नटराज शिव की कांस्य प्रतिमाएँ

उत्तर:- नटराज शिव की कांस्य प्रतिमाएँ

Q.57.चोल युग प्रसिद्ध था निम्न के लिए—–[RAS/RTS 1993]

  •  धार्मिक विश्वास
  •  ग्रामीण सभाएँ
  • राष्ट्रकूटों से युद्ध
  •  लंका से व्यापार

उत्तर:- ग्रामीण सभाएँ

Q.58. किस राष्ट्रकूट शासक ने रामेश्वरम् में विजय स्तंभ एवं देवालय की स्थापना की थी? {LUCKPCS-2002}

  • कृष्ण I 
  • कृष्ण II 
  •  कृष्ण II 
  •  इन्द्र

उत्तर:- कृष्ण II 

Q.59. वेनिस यात्री मार्को पोलो (1288-1293) के पाण्डय राज्य के भ्रमण के समय वहां का शासक कौन था?

  • माडवर्मन कुलशेखर 
  •  जटावर्मन सुंदर पांड्य
  •  जटावर्मन कुलशेखर
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- माडवर्मन कुलशेखर 

Q.60. अभिलेखों को ऐतिहासिक प्राक्कथन के साथ प्रारंभ करने की परम्परा का सूत्रपात किसने किया?

  •  परांतका
  • राजराजा I
  •  राजेन्द्र
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- राजराजा I

Q.61. किस चोल शासक ने श्रीलंकाई शासक महिन्द पंचम के समय में श्रीलंका पर आक्रमण कर उसकी राजधानी अनुराधापुर को नष्ट किया एवं उत्तरी श्रीलंका पर अधिकार कर लिया?

  •  राजराजा I
  • राजेन्द्र I
  •  परांतक ।
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- राजराजा I

Q.62. राजराजा I ने श्रीलंका के विजित प्रदेशों को मुम्डिचोलमण्डलम के नाम से चोल साम्राज्य का एक प्रांत बनाया तथा मुम्डिचोल देव की उपाधि धारण की। इस नये प्रांत की राजधानी किसे बनाया गया?

  • अनुराधापुर
  •  पोलन्नरुआ
  • कन्याकुमारी
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- पोलन्नरुआ

Q.63. चोलों की पहली सामुद्रिक विजय-श्रीलंका विजय-करने एवं नौसेना के गठन का श्रेय किसको है?

  •  परांतक I
  • राजराजा I
  • राजेन्द्र
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- राजराजा I

Q.64. किस चोल शासक ने अपनी यशस्वी विजयों का समापन मालदीव द्वीप सूमह की विजय से किया?

  • राजराजा I
  • राजेन्द्र
  •  कुलोत्तुंग I
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- राजराजा I

Q.65. किस चोल शासक ने 1000 ई. में भू-राजस्व के निर्धारण के लिए भूमि का सर्वेक्षण करवाया?

  • राजराजा I
  • राजेन्द्र I
  •  परांतक I
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- राजराजा I

Q.66. किस चोल शासक ने श्रीलंका के शेष बचे दक्षिणी भाग पर अधिकार कर श्रीलंका विजय को पूर्ण किया?

  •  राजराजा I
  •  राजेन्द्र I
  •  परांतक I
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- राजेन्द्र I

Q.67. राष्ट्रकूटकालीन स्थापत्य कला के नमूने कहाँ मिलते हैं?

  •  एलोरा
  • एलीफैण्टा
  • एलोरा और एलीफैण्टा {दोनो}
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- एलोरा और एलीफैण्टा {दोनो}

Q.68. रावण की खाई, दशावतार, कैलाश गुफा मंदिर आदि कहाँ मिलते हैं?

  • एलोरा में
  •  एलीफैण्टा में
  • तंजौर में
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- एलोरा में

Q.69. बंबई से 6 मील दूर धारापुरी / धारानगरी में स्थित गुफाएँ कौन हैं ?

  •  एलोरा
  •  एलीफैण्टा
  •  कन्हेरी
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- एलीफैण्टा

Q.70. होयसाल स्मारक कहाँ पाए जाते हैं?

[UPSC 2001]

  •  हंपी और हास्पेट में
  •  हलेबिड और बेलूर में
  •  मैसूर और बंगलूर में 
  •  श्रृंगेरी और धारवाड़ में

उत्तर:-  हलेबिड और बेलूर में

Q.71. चोलों द्वारा किसके साथ घनिष्ठ राजनीतिक तथा वैवाहिक संबंध स्थापित किया गया? [UPPCS 1996]

  •  वेंगी के चालुक्य
  •  बादामी के चालुक्य
  •  इनमें से कोई नहीं
  • कल्याणी के चालुक्य

उत्तर:- वेंगी के चालुक्य

Q.72. चोल काल में निर्मित नटराज की कांस्य प्रतिमाओं में देवाकृति प्रायः- [UPSC 1995]

  •  अष्टभुज है 
  •  षट्भुज है
  • चतुर्भुज है 
  • द्विभुज है

उत्तर:- चतुर्भुज है 

Q.73. 9वीं शताब्दी ई. में निम्नलिखित में से किसके द्वारा चोल साम्राज्य की नींव रखी गई? (RAS/RTS 201611

  •  राजराज चोल 
  •  परान्तक 
  • कृष्ण-I
  •  विजयालय

उत्तर:- विजयालय

Q.74. ‘सुगन्धवृत्त’ (करों को हटाने वाला) की उपाधि किस चील शासक ने धारण की?

  •  राजराजा।
  • राजेन्द्र ।
  •  राजेन्द्र ।।। (कुलोत्तुंग चोल I) 
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:-राजेन्द्र ।।। (कुलोत्तुंग चोल I) 

Q.75. चोल राज्य की राजधानी तंजौर को बनानेवाला कौन था?

  •  विजयालय
  •  परांतक । 
  • परांतक II 
  •  राजराजाI

उत्तर:- विजयालय

Q.76. चोल राज्य का संस्थापक विजयालय पहले किसका सामंत था?

  •  पल्लव 
  •  पांड्य
  • राष्ट्रकूट
  • चालुक्य

उत्तर:- पल्लव

Q.77. पूर्वमध्य काल में विजयालय ने चोल राज्य की स्थापना कब की?

  • 750 ई. 
  •  846 ई. 
  • 950 ई. 
  •  1050 ई.

उत्तर:- 846 ई.

Q.78. किस चोल शासक ने चिदम्बरम का प्रसिद्ध नटराज मंदिर का निर्माण कराया था?

  •  परांतक।
  • राजराजा I
  • राजेन्द्र ।
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- परांतक।

Q.79. चोल काल में किसने हिरण्यगर्भ नामक त्यौहार का आयोजन किया था?

  • लोकमहादेवी 
  •  कुंदवा 
  •  अम्मनदेवी 
  •  मधुरान्तकी

उत्तर:- लोकमहादेवी

Q.80. चीन में व्यापारिक दूत भेजनेवाले चोल सम्राट कौन थे?

  • राजराज I
  • राजेन्द्र I
  • कुलोत्तुंग चोल I
  •  उपर्युक्त सभी

उत्तर:- उपर्युक्त सभी

Q.81. ‘नानादेशिनिगम’ क्या था?

  • दूर-दूर के प्रदेशों व विदेशों के साथ व्यापार करनेवाले व्यापारियों का निगम
  • नगर के व्यापारियों का निगम
  •  तेल का व्यापार करनेवालों का निगम
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- दूर-दूर के प्रदेशों व विदेशों के साथ व्यापार करनेवाले व्यापारियों का निगम

Q.82. प्रसिद्ध कलाविद फर्ग्युसन ने किसके बारे में कहा है, ‘उस काल के कलाकारों ने दैत्यों की तरह कल्पना की और जौहरियों की तरह उसे पूरा किया’ ?

  • चोल स्थापत्य कला
  •  राष्ट्रकूट स्थापत्य कला
  • विजयनगर स्थापत्य कला 
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- चोल स्थापत्य कला

Q.83. तंजौर का वृहदीश्वर | राजराजेश्वर मंदिर किस देवता को समर्पित है ?

  • शिव 
  •  विष्णु 
  • सूर्य
  • इन्द्र

उत्तर:- शिव

Q.84. गंगैकोण्डचोलपुरम का शिवमंदिर का निर्माण किसके समय में हुआ?

  •  राजराजा I
  • राजेन्द्र I
  •  परांतक।
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- राजेन्द्र I

Q.85. चोलकालीन तमिल के विरल में क्या शामिल नहीं है?

  • कुम्बन
  •  पुगलेन्दि
  • जयगोन्दर
  • कुट्टन

उत्तर:- जयगोन्दर

Q.86. किसने चिदम्बरम के निकट गंगैकोण्डचोलपुरम बसाया और उसे अपनी राजधानी बनायी?

  •  राजराजा ।
  •  राजेन्द्र I
  • कुलोत्तुंग चोल I
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- राजेन्द्र I

Q.87. किसने कलिंग, ओडु तथा बंगाल के पाल पर आक्रमण किया जो कि तमिल प्रदेश से किया गया प्रथम उत्तरी सैनिक अभियान था और साथ ही जिसने इस ऐतिहासिक भ्रम को तोड़ा कि उत्तर से ही दक्षिण को विजित किया जा सकता है, दक्षिण से उत्तर को नहीं?

  • राजेन्द्र I
  •  राजराजा।
  • परांतक।
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- राजेन्द्र I

Q.88. किसने इण्डोनेशिया के एक द्वीप सुमात्रा के विजय साम्राज्य के शासक संग्राम विजयोत्तुंगवर्मा को पराजित किया तथा निकोबार द्वीप समूह व मलेशिया प्रायद्वीप के मध्य कडारम (आधुनिक केद्दाह) सहित 12 द्वीपों पर अधिकार कर लिया?

  • राजराजा I
  • राजेन्द्र I
  •  परांतक I
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- राजेन्द्र I

Q.89. किसने 1077 ई० में 92 व्यापारियों का एक शिष्टमंडल चीन भेजा?

  • राजेन्द्र II
  • परांतक ।
  • परांतक II
  • कुलोत्तुंग चोल I

उत्तर:- कुलोत्तुंग चोल I

Q.90. कहाँ से प्राप्त अभिलेख से महासभा की कार्यप्रणाली के विषय में विस्तृत जानकारी मिलती है?

  • उत्तरमेरुर
  • तंजौर
  • मणिमंगलम
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- उत्तरमेरुर

Q.91. चोल काल में ‘कडिमै’ का अर्थ क्या था?

  • भूराजस्व/ लगान
  • गृह कर
  •  चारागाह कर
  • जलाशय कर

उत्तर:- भूराजस्व/ लगान

Q.92. चोल काल में नौसेना का सर्वाधिक विकास किसके समय में हुआ?

  • परांतक।
  • राजराजा I
  • राजेन्द्र I
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- राजेन्द्र I

Q.93. युद्ध में विशेष पराक्रम दिखानेवाले योद्वा को कौन-सी उपाधि दी जाती थी?

  • क्षत्रिय शिखामणि
  •  वेडेक्कार
  •  महादण्डनायक
  •  धर्मभट्ट

उत्तर:- क्षत्रिय शिखामणि

Q.94. ‘परैया’ का अर्थ क्या है?

  •  अछूत
  •  ब्राह्मण
  •  क्षत्रिय
  • वैश्य

उत्तर:- अछूत

Q.95. चोल काल में सोने के सिक्के क्या कहलाते थे?

  •  कुलंजु
  •  काशु
  •  रूपक
  • दीनार

उत्तर:- कुलंजु

Q.96. चोल काल में राज्य की स्वामित्व वाली भूमि क्या कहलाती थी?

  • प्रभुमान्यम्
  • देवदान
  •  ब्रह्मदेय
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- 

Q.97. ‘महासभा की कार्यकारिणी समिति को क्या कहा जाता था?

  • वरियम
  •  आलुंगणम
  • नगरम
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- वरियम

Q.98. किसने ‘ऋगार्थ दीपिका’ (ऋग्वेद पर टीका) की रचना की?

  • कम्बन
  •  कुट्टन
  •  पुगलेन्दि 
  • वेंकटमाधव

उत्तर:- वेंकटमाधव

Q.99. रुद्राम्बा किस राजवंश की प्रसिद्ध महिला शासक थी?

  • काकतीय
  •  यादव
  •  होयसाल
  • पांड्य

उत्तर:- काकतीय

Q.100. प्रसिद्ध चोल शासक राजा का मूल नाम क्या था?

  • अरिमोलिवर्मन
  • विजयवर्मन
  • रघुवर्मन
  •  इनमें से कोई नहीं

उत्तर:- अरिमोलिवर्मन

Q.101. वह चोल राजा कौन था जिसने श्रीलंका को पूर्ण स्वतंत्रता दी और सिंहल राजकुमार के साथ अपनी पुत्री का विवाह कर दिया था ? [UPPCS (Pre) 2012]

  •  कुलोतुंग-I
  • राजेन्द्र-I
  • अधिराजेन्द्र
  • राजाधिराज

उत्तर:- कुलोतुंग-I

भारतीय इतिहास से सम्बंधित पोस्ट

वैदिक सभ्यतासिन्धु सभ्यता
संगम कालगुप्त-उत्तर काल
मुग़ल वंशगुप्त काल
राजपूत काल (650 – 1206 ई.)विश्व के महासागर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *