बहन पर सर्वश्रेष्ठ कविता | Poem on Sister in Hindi

Poem on Sister in Hindi

भाई-बहन का प्रेम सिर्फ वही समझ सकता है जिसके जीवन में बहन का अस्तित्व हो या फिर बहन की कमी महसूस कर रहा हो. यह प्रेम का एक ऐसा बंधन है जो कभी भी प्रत्यक्ष नही होता, लेकिन इसका डोर इतना गहरा होता है जिसे तोड़ना लगभग नामुमकिन सा होता है. 

बहन भाई के लिए सबसे प्रिय होती है उसके लिए वह कुछ भी करने के लिए तैयार होते है. लेकिन समाज में चल रहे गलत दुर्व्यवहार की वजह से प्रत्येक भाई की चिंताए बड़ती जा रही है उसकी के सम्बन्ध में बहन पर कुछ प्रसिद्ध कविता उपस्थित है जो समाज को उचित धरना प्रदान करेगा. 

यह कविता प्रत्येक भाई के तरफ से उन बहनों को समर्पित है जो अपने बहन के खुसी जीवन का कामना करते है. बहन के प्रति भाई का प्रेम इन कविताओं के सामान निस्वार्थ होता है जिसे समझना बहन के लिए आवश्यक होता है.

बहन पर बेहतरीन कविताएँ | Best Sister Poem in Hindi

तू चिंगारी बनकर उड़ री, जाग-जाग मैं ज्वाल बनूँ।
तू बन जा हहराती गँगा, मैं झेलम बेहाल बनूँ।।

आज बसन्ती चोला तेरा, मैं भी सज लूँ लाल बनूँ।
तू भगिनी बन क्रान्ति कराली, मैं भाई विकराल बनूँ।।

यहाँ न कोई राधारानी, वृन्दावन, बंशीवाला।
तू आँगन की ज्योति बहन री, मैं घर का पहरे वाला ।।

बहन प्रेम का पुतला हूँ मैं, तू ममता की गोद बनी।
मेरा जीवन क्रीड़ा-कौतुक तू प्रत्यक्ष प्रमोद भरी।।

मैं भाई फूलों में भूला, मेरी बहन विनोद बनी।
भाई की गति, मति भगिनी की दोनों मंगल-मोद बनी।।

यह अपराध कलंक सुशीले, सारे फूल जला देना ।
जननी की जंजीर बज रही, चल तबियत बहला देना ।

भाई एक लहर बन आया, बहन नदी की धारा है।
संगम है, गँगा उमड़ी है, डूबा कूल-किनारा है।।

यह उन्माद, बहन को अपना भाई एक सहारा है।
यह अलमस्ती, एक बहन ही भाई का ध्रुवतारा है।।

पागल घडी, बहन-भाई है, वह आज़ाद तराना है ।
मुसीबतों से, बलिदानों से, पत्थर को समझाना है ।

Author Gopal Singh Nepali

अवश्य पढ़े,

प्रसिद्ध प्रेरक कविताएँ विद्वानों की जुबानी

शिक्षा पर प्रेरक कविता

तितली पर प्रेरक कविता

मेरी प्यारी बहना – कविता

Bahan pr Kavita

लाखों में हजारों में मेरी एक प्यारी बहना हो ।
भाई को प्यार करने वाली एक बहना हो ।।

बड़ी हो तो मां बाप की डांट से बचाने वाली ।
छोटी हो तो हमारे पीठ पीछे छुपने वाली ।।

बड़ी हो तो चुपचाप हमारी पॉकेट में पैसे रखने वाली ।
छोटी हो तो चुपचाप पैसे निकाल लेने वाली ।।

छोटी हो या बड़ी छोटी-छोटी बातों पर लड़ने वाली ।
लाखों में हजारों में मेरी एक प्यारी बहना हो ।।

बड़ी हो तो गलती पर हमारे कान खींचने वाली ।
छोटी हो तुम अपनी गलती पर सॉरी भैया कहने वाली ।।

खुद से ज्यादा हमें प्यार करने वाली ।
लाखों में हजारों में मेरी एक प्यारी बहना हो ।।

Author – Tushar sharma

बहन पर कविता – डॉ स्वाति गुप्ता

मासूम सा चेहरा , इंसानियत की मूरत है।
भोली और प्यारी सी, बहुत ही खूबसूरत है।।

तन उसका कोमल,और मन उसका सुन्दर है।
आँखों में प्यार झलकता है, दिल में उसके रब बसता है।।

कोई और नहीं वो प्यारी सी, मेरी छोटी बहना है।
खुशियों का वो सागर है, प्यार का वो दरिया है।।

छोटा हो या बड़ा हो कोई,हर इंसान के लिए।
उसके दिल में प्यार ही प्यार बरसता है।।

उसका हर शब्द दुआ बनकर निकलता ।
कोई और नहीं वो प्यारी सी,मेरी छोटी बहना है।।

वो प्यारा सा फूल है घर-फुलवारी का।
महकता उससे घर का आँगन है।।

चेहरा उसका जब मैं देखूं,मन प्रफुल्लित हो जाता है।
खुदा से वरदान के रूप में मिला मुझे अनमोल तोहफा है।।

कोई और नहीं वो प्यारी सी, मेरी छोटी बहना है।
कोई और नहीं वो प्यारी सी मेरी छोटी बहना है।।

Author – Dr Swati Gupta

बहन पर लोकप्रिय कविता

बहन हो तुम झँकार सुनाती चली जाती हो।
हर घर-आँगन अपनी धुन से चहकाती चली जाती हो।।

तुम्हारी सबसे खास बात यही है।
तुम कुछ भी दिल पर भार नही लेती।।

बदलावों में आसानी से ढलती चली जाती हो।
गंगा का बहता नीर हो जो बहती चली जाती हो।।

सींचते हुए प्रकृति को राह में चलती चली जाती हो।
ना स्वार्थ ना चिंताएँ बस यूँ ही आनंद के साथ जीती चली जाती हो।।

मैं जानती हूँ तुमको जितना समंदर अपनी गहराई को जाना है।
मैं मानती हूँ तुमको जितना सूर्य ने अपने प्रकाश को माना है।।

कर दे सारी दुनिया भूल गर तुम्हें पहचानने में।
पर मैंने तुम्हें तुमसे अधिक जाना और पहचाना है।।

Author – Unknown

मेरी प्यारी बहना – कविता

बहन अक्सर बड़ी होती है, उम्र में भले ही छोटी हो।
लेकिन एक बड़ा सा एहसास लिए खड़ी होती है, बहन अक्सर बड़ी होती है।।

जो तुम रूठ जाओ तो मना लेगी, जो कोई उलझन हो तो सुलझा देगी।
हर परेशानी को दूर करदे, ऐसी वो जादू की छड़ी होती है
बहन अक्सर बड़ी होती है।।

हर मुसीबत की वो साथी है, हर दर्द की उसे दवा आती है।
तेरे लिए अपनी मुश्किल भी भुला देगी, तेरी ख़ुशी के लिए जी जान लगा देगी।।

वो एक चुलबुली सी प्यारी परी होती है।
बहन अक्सर बड़ी होती है।।

उसे सिखाया जाता है कि हर चीज़ पर हक़ उसका है भाई से कम।
दुनिया तो कहती ही है पर अपने ही करते हैं उसकी आँखें नम।।

फिर भी वो मुस्कान लिए अपने भाई के साथ खड़ी होती है।
बहन अक्सर बड़ी होती है।।

तेरा हर दर्द उसका अपना है, उसे तो सपने देखने की इजाज़त नहीं।
इसीलिए तेरा सपना ही उसका सपना है, कोई सुने उसकी भी बात।।

कोई पूरी करदे उसकी भी फ़रियाद, बस आँखों में चमक, दिल में उम्मीद लिए होठों को सिये खड़ी होती है,
बहन अक्सर बड़ी होती है।।

बहन अक्सर बड़ी होती है, उम्र में भले ही छोटी हो।
लेकिन एक बड़ा सा एहसास लिए खड़ी होती है,
बहन अक्सर बड़ी होती है।।

Author – Abhishek Agrawal

सम्बंधित पोस्ट अवश्य पढ़े,

माता पर लोकप्रिय कविता

प्रकृति पर सर्वश्रेष्ठ कविताएँ

भारत देश पर खुबसूरत कविता

बहन का स्नेह शब्दों से बयाँ नही किया जा सकता है चाहे कोई भी स्थिति हो प्रेम एक ऐसा धागा होता है जिसे केवल महसूस किया जा सकता है और कुछ नही. बहन का प्यार कविता के माध्यम से यहाँ उपलब्ध कराया गया है. उम्मीद है आपको पसंद आया होगा.

  •  
    11
    Shares
  • 11
  •  
  •  
  •  
  •  

2 thoughts on “बहन पर सर्वश्रेष्ठ कविता | Poem on Sister in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *