समानान्तर चतुर्भुज का क्षेत्रफल, परिभाषा एवं गुण | Samantar Chaturbhuj

Samantar Cahturbhuj

सामान्यतः समांतर चतुर्भुज एक द्वि-आयामी ज्यामितीय आकृति है जो दो समरूप भुजाओं से निर्मित है. अर्थात जिसके किनारे एक-दूसरे के समानांतर दो रेखाएं हैं. यह एक प्रकार का बहुभुज होता है जिसमे चार भुजाएँ एवं चार कोण होती हैं. samantar chaturbhuj के विकर्ण एक दुसरें को विभाजित करते है. समानांतर भुजाओं की लम्बाई एक दुसरें … Read more