नर्सिंग में कैरियर कैसे बनाएं: सैलरी, जॉब, करियर प्रोफाइल की जानकारी

Whatsapp GroupJoin
Telegram channelJoin

वैसे डॉक्टरों को दूसरा भगवान माना जाता है क्योंकि वे हमें उत्तम स्वास्थ्य का उपहार देते हैं लेकिन यह सब अकेले संभव नहीं होता है उसमें नर्स का एक महात्वपूर्ण योगदान होता है नर्स पूरे Healthcare System की रीढ़ की हड्डी होती है । 

 आजकल टेक्नोलॉजी और तरक्की की दुनिया में हर कोई अपने स्वास्थ्य पर पूरा ध्यान नहीं दे पा रहा है। जिससे कई प्रकार की बीमारियां पनप रही हैं और लोग शिकार / ग्रसित हो जा रहे हैं। जिसका परिणाम यह मिल रहा है कि अस्पतालों में मरीजों की संख्या बहुत ज्यादा दिखती है और हर रोज बीमारियां बढ़ती ही जा रही हैं इसलिए अस्पतालों में डॉक्टरो और नर्सों की कमी होती दिख रही है। 

एक स्टडी के अनुसार भारत में 1000 लोगों की देखरेख के लिए मात्र 1.7 नर्से है जिससे यह पता चलता है कि नर्सों की बहुत कमी है।  कोविड-19 के बाद से विदेशों में भारत की नर्सों की बहुत डिमांड है क्योंकि भारतीय नर्सें मेहनती और वेल ट्रेंड (Well Trained) होती हैं। 

नर्सिंग क्या है?

नर्सिंग (परिचयी) एक पेशा है जो व्यक्तियों, मरीजों, परिवारों और समुदायों की देखभाल पर आधारित होता है। तो नर्स का काम होता है Hospitals में रोगियों, मरीजों और शिशुओ की देखभाल करना। 

नर्सों की संख्या में इस कमी को पूरा करने के लिए आने वाले समय में बहुत भर्तियां आने वाली हैं। 2021 में, नर्सों और मिडवाइफरी का एक अभियान ने यह दावा किया कि 2024 तक भारत को कम से कम 4.3 मिलियन और नर्सों की भर्ती की जरूरत है, जिससे विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organisation) के मानदंड पूरा जा सकता हैं। 

आइए अब हम जानते नर्सिंग में करियर कैसे बनाएं ? / Nursing mein career kaise banayen?  कौन सा कोर्स करें? कितनी फीस है? और कौनसी कोर्स कितने अवधि की है? फिर कोर्स के बाद जॉब/नौकरी कैसे पाएं?  

12th के बाद नर्सिंग में करियर कैसे बनाएं? पूरी जानकरी

अगर आप भी नर्सिंग में अपना करियर बनाने के सपने देखते हैं तो आपके लिए विकल्पों की कमी नहीं है। क्योंकि अब अपने देश में अच्छी नर्सिंग कोर्सेज और जॉब अपॉर्चुनिटीज दोनों की कमी नहीं है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2024 के बजट में यह घोषणा किया है कि 157 नर्सिंग कॉलेजेस की स्थापना की जाएगी। जिससे आने वाले समय में और भी अच्छी कॉलेजेस मिल सकती है। और यदि आप नर्स के क्षेत्र में वेल ट्रेंड (Well Trained) है, तो आपको विदेश में भी जाने का मौका मिल सकता है।

नर्स बनने के लिए हम कई कोर्स कर सकते हैं। जैसे मास्टर कोर्स,  कुछ स्पेसिफिक कोर्स आदि होते हैं,  लेकिन इस आर्टिकल में केवल उसके बारे में आपको जानकारी मिलेगी जो 12वीं क्लास पास करने पर किया जाता है तो ऐसे कोर्सेज है.

एएनएम (ANM), जीएनएम (GNM) और बीएससी नर्सिंग (BSc Nursing) etc. इन कोर्सेज को करने के बाद 6 महीने का इंटर्नशिप करना पड़ता है जिसमें नर्सिंग की प्रैक्टिकल जानकारी आपको दी जाती है। उसके बाद आप कहीं भी जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं।

नर्सिंग कोर्सेज / Nursing Courses

बीएससी नर्सिंग क्या है योग्यता एवं अवधि?

BSc Nursing का फुल फॉर्म Bachelor of Science in Nursing है। यह एक 4 साल का अंडरग्रैजुएटेड डिग्री है। इसे 12वीं के बाद किया जाता है और इसे वही विद्यार्थी कर सकते हैं जिनका 12वीं में PCB (Physics, Chemistry, Biology) विषय मे कम से कम पासिंग मार्क 55% हो।

बीएससी नर्सिंग की फीस की बात करें तो सरकारी और निजी कॉलेज में अलग-अलग फीस क्राइटेरिया हैं। सरकारी कॉलेज में 10,000 से 30,000 तक एक साल की फीस है और वही निजी कॉलेज में 70,000 से 100,000 तक एक साल का खर्च आता है। अगर आप सरकारी कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हैं, तो आपको सबसे पहले गवर्नमेंट नर्स इंट्रेंस एग्जाम (Government Nurse Exam) को पास करना पड़ेगा।

कुछ Government Colleges and Universities की List 

  • AIIMS Nursing
  • Indian Army BSc nursing
  • AFMC Nursing 
  • JIPMER Nursing
  • Lady Hardinge Nursing Entrance Exam
  • PGIMER Nursing 
  • BHU Nursing
  • Christian Medical College
  • Post Graduate Medical r
  • Research and Education Chandigarh 

यदि आप इन कॉलेजेज और यूनिवर्सिटीज के entrance exam पास कर लेते है तो आपको ज्यादा फीस नहीं देनी पड़ेगी।

जीएनएम क्या है, योग्यता और अवधि

जीएनएम एक डिप्लोमा नर्सिंग कोर्स है, जो ट्वेल्थ के बाद किया जाता है। जीएनएम का फुल फॉर्म जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी (General Nursing and Midwifery) है। इसे वे लड़के और लड़कियां कर सकते हैं जिनका ट्वेल्थ में पीसीबी (PCB – Physics Chemistry Biology) विषयों के साथ कम से कम 50% मार्क्स हो।

यह 3 साल का कोर्स है जिसे पूरा करने में साढ़े 3 साल का समय लग जाता है। बात करें इसके फीस की तो बीएससी नर्सिंग की तरह इसमें भी सरकारी और निजी कॉलेज में अलग-अलग फीस क्राइटेरिया है। जैसे: आईपीजीएमईआर (IPGMER) का हर साल का फीस 15000 है और वही जीएमसीएच (GMCH) चंडीगढ़ का फीस 40,000 हैं। यह दोनों ही कॉलेज सरकारी है।

इस कोर्स को करने के बाद 6 महीने की इंटर्नशिप करना जरूरी होता है। उसके बाद किसी भी अस्पताल, नर्सिंग होम, क्लीनिक में स्टाफ नर्स के रूप में काम कर सकते हैं।

एएनएम क्या है, योग्यता एवं अवधि?

ANM का फुल फॉर्म ऑक्सिलिरी नर्स मिडवाइफरी (Auxiliary Nurse Midwifery) होता है। इन्हें हेल्थ वर्कर भी कहते हैं। यह एक ऐसा डिप्लोमा कोर्स है जो सिर्फ लड़कियों के लिए है। यह 2 साल का डिप्लोमा कोर्स है जो दसवीं के बाद किया जाता है।  इस कोर्स को करने के बाद अभ्यर्थी को नर्सिंग में डिप्लोमा सर्टिफिकेट प्राप्त होता है।

इसे 10th एवं 12th दोनों के बाद किया जा सकता है। बात करें इसकी फीस की तो निजी और सरकारी अलग-अलग कॉलेज में अलग-अलग फीस क्राइटेरिया है। अगर आप किसी प्राइवेट संस्थान से कोर्स करते हैं तो प्रतिवर्ष फीस 60,000 से 10,0000 तक होगी और वही प्सरकारी संस्थान से करते हैं तो 20,000 से 40,000 प्रतिवर्ष होगी।

इस कोर्स को करने के बाद बीएससी नर्सिंग और जीएनएम की तरह 6 महीने का इंटर्नशिप आपको करना पड़ेगा,  जिसमें आपको नर्सिंग से जुड़े प्रैक्टिकल नॉलेज दिए जाएंगे। उसके बाद आप कहीं भी नर्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

नर्सिंग कोर्स के बाद जॉब और सैलेरी

नर्सिंग कोर्स और 6 महीने इंटर्नशिप करने के बाद आप किसी भी सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल्स के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

नर्सिंग कोर्स करने के बाद आप इन सभी विकल्प को देख सकते हैं।

  • Government Hospitals 
  • Private Hospitals 
  • Nursing Home 
  • Community Health Centre 
  • Indian Red Cross Society 
  • Indian Nursing Council 
  • State Nursing Council 

बीएससी नर्सिंग (BSc Nursing)के बाद यदि आप एमएससी नर्सिंग (MSc Nursing)भी करते हैं तो आपको टीचिंग के क्षेत्र में भी अवसर मिलेगा।

भारत लंबे समय से भारतीय नर्सों को सेवा का अवसर देने के लिए विदेशों में भेज रहा है और भारत के लोग भी विदेश जाना ज्यादा पसंद कर रहे हैं क्योंकि वहां की वातावरण और वेतन काफी अच्छी है। तो यदि आप भी विदेश जाना चाहते हैं, तो इसके लिए कुछ क्राइटेरिया है जिसे फॉलो करना अनिवार्य है जैसे- CGFNS (Commission of Graduation of Foreign Nursing School) और TOEFL ( Test of English as a  Foreign Language) को पास करना।

नर्सिंग में सैलरी कितनी है?

अगर सैलरी की बात करें तो विदेशों में नर्स की वेतन लगभग ₹100000 प्रतिमाह होती है और इसके बाद ओवरटाइम भी अलग से होती है। और काम करने की टाइमिंग भी अच्छी होती है।

और भारत में नर्स की सैलरी की शुरुआत 8000 से 15000 के बीच में होती है। फिर उसके बाद अनुभवी होने के साथ-साथ सैलरी बढ़ाया जाता है फिर भी विदेश में मिलने वाली सैलरी से बहुत ही कम होता है।

इसे भी पढ़े,

पूछे जाने वाले प्रश्न: FAQs

Q. भारत में नंबर वन पर नर्सिंग कॉलेज कौन सा है?

भारत में नंबर वन नर्सिंग कॉलेज क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, तमिलनाडु (Christian Medical College, Tamilnadu) है।

Q. नर्स बनने के लिए सबसे पहले क्या करना पड़ेगा?

नर्स बनने के लिए सबसे पहले आपको 10वीं और 12वीं में विज्ञान विषय से किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पढ़ाई करनी होती है। 12वीं में कम से कम 60% मार्क्स हो। उसके बाद आप डिप्लोमा कोर्स या अंडरग्रैजुएट कोर्स में दाखिला ले सकते हैं।

Q. नर्सिंग में सबसे अच्छा कोर्स कौन सा है? 

बीएससी नर्सिंग (BSc Nursing) बैचलर ऑफ साइंस इन नर्सिंग एक अंडरग्रैजुएट कोर्स है। इस कोर्स को नर्सिंग कोर्सेज में ज्यादा महत्व दिया जाता है, इसलिए नर्सिंग में इसे सबसे अच्छा कोर्स होता है।

Whatsapp GroupJoin
Telegram channelJoin

Leave a Comment