अपरिमेय संख्या की परिभाषा, गुण एवं उदाहरण | Aparimey Sankhya

Aparimey Sankhya

गणितीय नंबर्स संख्या पद्धति के सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है जिसका प्रयोग अंकगणित के प्रशों को हल करने के लिए किया जाता है. और Aparimey Sankhya वास्तविक संख्या का एक भाग है जिसे परिमेय संख्या के तरह p/q नही लिखा जा सकता है. और न ही इसे भिन्न के रूप में भी लिखा जा सकता है. … Read more

अंकगणित फार्मूला और प्रकार | Ankganit Formula

Ankganit Formula

गणितीय मात्रात्मक यानि अंकगणित योग्यता से लगभग सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में महत्वपूर्ण प्रश्न पूछे जाते है. जिसमे विभिन्न प्रकार के संख्यात्मक योग्यता से सम्बंधित प्रश्न होते है. Ankganit Formula प्रशों को सरलता से हल करने में बेहद कारगर सिद्ध होता है. इसलिए, शिक्षक इस टोपिक को ध्यानपूर्वक पढ़ाते और समझाते है. किसी भी प्रतियोगिता परीक्षा … Read more

समानान्तर चतुर्भुज का क्षेत्रफल, परिभाषा एवं गुण

Samantar Cahturbhuj

सामान्यतः समांतर चतुर्भुज एक द्वि-आयामी ज्यामितीय आकृति है जो दो समरूप भुजाओं से निर्मित है. अर्थात जिसके किनारे एक-दूसरे के समानांतर दो रेखाएं हैं. यह एक प्रकार का बहुभुज होता है जिसमे चार भुजाएँ एवं चार कोण होती हैं. samantar chaturbhuj के विकर्ण एक दुसरें को विभाजित करते है. समानांतर भुजाओं की लम्बाई एक दुसरें … Read more

लघुगणक फार्मूला, परिभाषा एवं गुण | Log ka Formula

Logarithm Formula in Hindi

जाॅन नेपियर के अनुसार प्रतिपादित Logarithm Formula, एक ऐसी गणितीय युक्ति है जिसके प्रयोग मात्र से ही गणनाओं को लघु या सरल किया जा सकता है. लघुगणक का अविष्कार सन 1612 ई. में हेनरी ब्रिग्स ने किया, जिसका आधार 10 के रूप में लिया गया. हेनरी ब्रिग्स के समकालीन गणितज्ञ जॉन नेपियर ने लघुगणक का … Read more

पाइथागोरस प्रमेय को कैसे सिद्ध करें: Pythagoras Theorem in Hindi

Pythagoras Theorem in Hindi

पाइथागोरस प्रमेय ज्यामितिय शाखा का सबसे महत्वपूर्ण भाग है. इसका प्रयोग समकोण त्रिभुज की भुजाओं के बिच के सम्बन्ध की व्याख्या करने के लिए किया जाता है. इसलिए, इसे कभी-कभी पाइथागोरस प्रमेय भी कहा जाता है. Pythagoras Theorem in Hindi के अनुसार कर्ण का वर्ग त्रिभुज की अन्य दो भुजाओं के वर्गों के योग के … Read more

क्षेत्रफल फार्मूला लिस्ट एवं परिभाषा | Kshetrafal Formula

Kshetrafal Formula in Hindi

सामान्यतः क्षेत्रफल एक द्वि-आयामी सतह का आकार है जिसे किसी वस्तु द्वारा द्वि-आयामी स्थान की मात्रा के रूप में परिभाषित किया जाता है. दरअसल, Kshetrafal एक प्रकार का माप है जिसके मदद से मात्राओं का अध्ययन सुगम यानि सरल किया जाता है. Kshetrafal Formula का प्रयोग गणनाओं को सरल बना देता है. ऐसे फार्मूला का … Read more