कंप्यूटर अकाउंटिंग में करियर कैसे बनाये 2024

Whatsapp GroupJoin
Telegram channelJoin

आजकल दफ्तरों में अकाउंटिंग पहले जैसे बही खाता और लेजर के द्वारा नहीं होता है बल्कि उनकी जगह एडवांस कंप्यूटर और सॉफ्टवेयर का प्रयोग करके किया जाता है. जिसे हम कंप्यूटर अकाउंटेंसी / एकाउंटिंग  (कंप्यूटर लेखांकन) का नाम देते हैं.  कंप्यूटर अकाउंटेंसी इस जमाने का अकाउंटिंग कोर्स है. इस बदलते हुए समय के साथ इसकी मांग लगातार बढ़ती जा रही है. अच्छी बात यह है कि इस कोर्स को करने के लिए कॉमर्स बैकग्राउंड का होना जरूरी नहीं है.

अगर आप कंप्यूटर अकाउंटिंग में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं तो आपके लिए  बहुत ही सुनहरा मौका हो सकता है  अब हर व्यापारी संस्थान ,कंपनी, मल्टीनेशनल कंपनी, सरकारी निजी संस्थानों में कंप्यूटर अकाउंटेंसी पर ही बल दिया जा रहा है.                               

कंप्यूटर अकाउंटेंसी क्या है?

Computer accounting/अकाउंटेंसी वित्तीय और प्रक्रियात्मक पहलुओ  से संबंधित क्षेत्र है इसमे कंप्यूटर अकाउंटेंसी का उपयोग वित्त प्रबंधन और आय -व्यय का लेखा -जोखा टैक्स, वित्तीय रिपोर्टिंग , बजट अनुमान, बीमा, बही खाता आदि कंप्यूटर के माध्यम से ही किये जाते हैं.

परिभाषा: टैक्स, बीमा, कर्मचारियों के वेतन के लेन-देन, बहीखाता पद्धति, पीएफ डाटा को कम्प्यूटर के माध्यम से चंद मिनटों में हल करने की प्रक्रिया को Computer Accountancy कहते हैं. इस फिल्ड में करियर के आपर संभानाएं उपलब्ध है. कोई स्टूडेंट्स अपने इंटरेस्ट को फॉलो करते हुए इस इंडस्ट्री में अपना सुनहरा भविष्य बना सकते है.

कंप्यूटर अकाउंटिंग में करियर कैसे बनाये?

कंप्यूटर अकाउंटेंसी आज डिजिटल युग में बहुत ही काम की चीज है.  औसत पढ़ाई करने वाले अभ्यार्थी भी इसमें भाग ले सकते हैं इसमें ज्ञान और अनुभव का होना भी अवश्यक है अभ्यार्थी को कॉमर्स या फाइनेंस बैकग्राउंड का होना जरूरी नहीं है.

12 वी या ग्रेजुएशन के बाद  भी आप इस पढाई के लिए सरकारी या निजी संस्थान में अपना दाखिला करा सकते है . इससे संबंधित कोर्स की अवधि एक से दो साल तक होती है. आपके रोजगार की पूरी गारंटी होती है.

कंप्यूटर अकाउंटेंट बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता:

कंप्यूटर अकाउंटेंट बनने के लिए कम से कम ग्रेजुएशन बैचलर डिग्री की योग्यता होनी चाहिए. इसके अलावा कंप्यूटर एकाउंटिंग, वित्तीय लेखा, और मार्गदर्शन के क्षेत्र में अच्छी जानकारी और अनुभव होना जरूरी है. यदि आपके पास विशेषज्ञ डिग्री जैसे कि CA, CMA, या CS है तो यह भी इस करियर में मददगार हैं.

कंप्यूटर अकाउंटेंसी में करियर बनाने के लिए यह सभी कोर्सेज किये जा सकते है.

कंप्यूटर अकाउंटेंसी कोर्सेज:

1. Bachelor Degree Course: यह 3 से 4 साल की एक बैचलर डिग्री है. इस कोर्स में दाखिला पाने के लिए अभ्यर्थी को 12वीं किसी भी स्ट्रीम से पास होना चाहिए. जिसके बाद वह किसी एक कोर्स को कर सकता है.

Bachelor degree courses name:

  • बीकॉम  (कॉमर्स)
  • बीबीए  (व्यवसाय व्यवस्था)
  • बीसीए  (कंप्यूटर एप्लीकेशन)

2. Master Degree Course:  यह 2 साल का उच्चतर स्तर का मास्टर डिग्री का कोर्स है. इसे ग्रेजुएशन के बाद किया जाता है. इस कोर्स में एकाउंटिंग वित्तीय प्रबंधन, कंप्यूटर प्रोग्रामिंग आदि विषयों में गहराई से अध्ययन कराया जाता है.

Master degree courses name:

  • M.com  (कॉमर्स)
  • MBA  (व्यवसाय व्यवस्था )
  • MCA (कंप्यूटर एप्लीकेशन )

3. डिप्लोमा कोर्स: डिप्लोमा कोर्स की अवधि 6 महीने से 1 वर्ष तक होती है. यह निर्भर करता है आपके द्वारा चयन किए गए विश्वविद्यालय या संस्थान के पाठ्यक्रम पर.

डिप्लोमा कोर्सेज नाम:

  • वित्तीय लेखा
  • कंप्यूटर एकाउंटिंग

कंप्यूटर अकाउंटेंसी कोर्सेज की फीस कितनी है?

कॉलेज और इंस्टिट्यूट के अनुसार इन कोर्सेज की एवरेज फीस प्रत्येक वर्ष की ₹5,000 से लेकर ₹70,000 के बीच में हो सकती है.

इन कोर्सेज की अवधि, योग्यता और फीस भिन्न-भिन्न कॉलेज या विश्वविद्यालयों में भिन्न-भिन्न हो सकती है तथा समय-समय पर बदलती भी रहती है, तो किसी इच्छुक कॉलेज या कोर्स के बारे में जानकारी पाने के लिए उस कॉलेज की वेबसाइट पर विजिट करें या किसी अपने नजदीकी कालेज या विश्वविद्यालय से जानकारी प्राप्त किया जा सकता है.

कंप्यूटर अकाउंटेंसी कोर्सेज के लिए टॉप कॉलेज और संस्थान:

कंप्यूटर अकाउंटेंसी कोर्स करने के लिए भारत में बहुत सारे कॉलेज और संस्थान हैं जिनमें से कुछ टॉप कॉलेज और संस्थान के नाम उनके वेबसाइट के साथ उपलब्ध है. इन वेबसाइट के माध्यम से आसानी से इन कॉलेज के फीस, अवधि और सिलेबस, आदि के बारे में डिटेल से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. जैसे:

ये सभी पूरे इंडिया के टॉप कॉलेज और इंस्टिट्यूट हैं. जो शायद कुछ लोगों के लिए अफॉर्डेबल नहीं हो सकते हैं. ऐसे लोग अपने लोकल क्षेत्र के कॉलेज और यूनिवर्सिटी के बारे में जानकारी लेकर दाखिला ले सकते हैं.

कंप्यूटर अकाउंटेंसी के क्षेत्र में नौकरी के अवसर : 

अकाउंटेंसी कुछ ज्यादा मांग वाला क्षेत्र है. इसमें नौकरी के अवसर काफी होते हैं. यह क्षेत्र विभिन्न उद्योगों, कंपनियों,  आर्थिक संस्थानों, और सरकारी विभागों आदि में रोजगार के अवसर प्रदान करता है.

इसमें इस प्रकार के नौकरियों के अवसर हो सकते हैं:

  • लेखा अधिकारी  
  • कंप्यूटर अकाउंटेंट
  • लेखा सहायक
  • लेखा प्रबंधक
  • फाइनेंशियल एनालिस्ट
  • टैक्स कंसलटेंट
  • लेखा और वित्त प्रशासनिक कार्य
  • स्वतंत्र सलाहकार
  • बैंकिंग सेक्टर में लेखा और वित्त संबंधित पद
  • वित्तीय रिपोटिंग विशेषज्ञ
  • ई-फाइलिंग विशेषज्ञ
  • प्रशिक्षक
  • फ्रीलांसर, आदि.

कंप्यूटर अकाउंटेंसी की सैलरी कितनी है?

कंप्यूटर अकाउंटेंट या कंप्यूटर अकाउंटेंसी के क्षेत्र में किसी भी कर्मचारी की शुरूआती दिनों में 20,000 से 25,000 तक पर मंथ सैलरी होती है. लेकिन समय और अनुभव के साथ 40,000 से 45,000 तक भी हो सकती है.

सैलरी कम और ज्यादा हो सकते हैं क्योंकि यह विभिन्न तत्वों पर निर्भर करते हैं जैसे की कंपनी का आकार, स्थान, कैंडिडेट की अनुभव, शिक्षा और क्षेत्रीय बाजार की मूड आदि.

अधिक अनुभवी और कुशल कर्मचारियों की सैलरी अधिक होती है और वे अधिक प्रमुख लेखा पदों पर प्रवेश कर सकते हैं जहां उनकी और बेहतर सैलरी की संभावना होती है.

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न: FAQs

Q. कंप्यूटर अकाउंटेंसी क्या है?

कर प्रबंधन, वित्त से संबंधित, आय और व्यय से लेखा जोखा,बजट, बीमा आदि कार्य कंप्यूटर अकाउंटेंसी के माध्यम से किये जाते हैं.

Q. अकाउंटेंसी के लिए 12वीं कॉमर्स बैकग्राउंड का होना अनिवार्य है?

नहीं, कंप्यूटर अकाउंटेंसी के लिए 12वीं कॉमर्स बैकग्राउंड से होना जरूरी नहीं है. इस क्षेत्र में कॉमर्स आर्थिक और कंप्यूटर ज्ञान के अलावा अन्य विषयों में भी रूचि रखने वाले विद्यार्थियों को अवसर मिलते हैं.

Q. क्या कंप्यूटर अकाउंटेंसी में नौकरी का अवसर है?

जी हां,  नौकरी और पद प्रतिष्ठा सम्मान से भरा है. यह एक उच्च और मांग वाला क्षेत्र जो विभिन्न उद्योगों, कंपनियों,  बैंको, सरकारी विभागों,  वित्तीय संस्थानों और अन्य संगठनों में रोजगार के अवसर प्रदान करता है.

Whatsapp GroupJoin
Telegram channelJoin

Leave a Comment