ITI क्या है और कोर्स कैसे करे | फीस, नौकरी, योग्यता, सैलरी

Iti क्या है | iti kaise kare
Spread the love

हमारे देश में जिस तरह से लोगो की एजुकेशन के प्रति जागरूकता बढ़ी है वो कबीले तारीफ है अब हर कोई चाह रहा है educated होना, क्योकि उन्हें पता है कि अच्छे जॉब्स के लिए शिक्षित होना बहुत जरुरी है. ITI एक ऐसा कोर्स है जो एडवांस करियर प्रदान करता है जिसे निम्न वर्ग से लेकर उच्च वर्ग तक के उम्मीदवार कर सकते है.

हालांकि 10th या 12th पूरा करने के बाद Students बहुत confused हो जाते है किकैसे करियर बनाए. लेकिन यहाँ आपको परेशान होने की आवश्यकता नही है क्योंकि ITI एक ऐसा फील्ड है जिसे स्टूडेंट्स 10th/ 12th के बाद इसे career के तौर चुनना बहुत ज्यादा पसंद करते है।

ITI इंडिया में सबसे लोकप्रिय वोकेशनल कोर्स है और फेमस होने का सबसे बड़ा कारण है कि इसे 8th क्लास के बाद भी किया जा सकता है। Directorate General Of Employment and Training ने युवाओ के लिए स्किल और वोकेशनल ट्रैंनिंग Institutes को पुरे देश में लागु किया, ताकि आप इस इंस्टीटूट्स से trained होकर अपने लाइफ को एक नया मोड़ दे सके।

ITI में आपको वोकेशनल ट्रैंनिंग और डेवलपिंग स्किल प्रोवाइड कराया जाता है ताकि आप अपने सिलेक्टेड फील्ड में एक अच्छा trainee हो सके, यहाँ ज्यादातर theoretical के वजाय practical पर विशेष ध्यान दिया जाता है क्योकि practice से ही इन्सान महान बनता है.

यह एक ऐसा इंडस्ट्री है जिसमे करियर ग्रोथ की संभावनाएं बहुत अधिक होती है. आठवीं पास विद्यार्थी इस इंडस्ट्री का लाभ आसानी से उठा सकता है. ITI course सरकारी या गैर सरकारी दोनों संस्थानों से किया जा सकता है. आठवी या दसवी पास विद्यार्थी ITI से डिप्लोमा कर बेहतर करियर स्थापित कर सकते है.

ITI क्या है ( ITI Details in Hindi)

ITI 1950 में (DGT) Directorate General Of Training के द्वारा शुरुआत किया गया. ITI का मुख्य उदेश्य Fitter, Instrument Mechanic, Information Communication Technology System Maintenance, आदि में विद्यार्थी को trained करना था जिसका समय अवधि 6 Months से 2 Years तक रखा गया था। इस ट्रेनिंग स्कीम के अंतर्गत लगभग 130 विभिन्न टॉपिक पर शिक्षा प्रदान कराया जाता है।

ITI kya hai

अगर ITI ट्रेनिंग center की बात की जाए तो पुरे भारत में लगभग 12,000 Traning Institutes Centers है जो अपनी सेवा वर्षो से दे रहे है. 12,000 ट्रेनिंग इंस्टीटूट्स सेन्टर में से लगभग 2,300 Government Centers है और 9,700 के आसपास Private Centers है।

यह आकड़ा विछले कुछ वर्षो से लगातार बढ़ता जा रहा है जो अब लगभग 20,000 के करीब पहुच चूका है. 2020 में ITI से ट्रेनिंग किए हुए विद्यार्थी की संख्या में लगभग 45% की बढ़ोतरी हुई है, जिससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि ITI इंडस्ट्री में करियर के विकल्प बहुत है.

ITI का फुल फॉर्म (ITI Full Form in Hindi)

इस फिल्ड की लोकप्रियता का अंदाजा इसके नाम से लगाया जा सकता है कि यह करियर के लिए कितना खास है. ITI का पूरा नाम अंग्रेजी में “Industrial Training Institutes” तथा हिंदी में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान होता है.

ITI के लिए योग्यता

ITI करने के लिए किसी स्पेशल डिग्री का जरुरत नहीं है वो कैंडिडेट्स जो ITI में एडमिशन लेने के लिए इक्छुक है वो कम से कम 8th या मैक्सिमम 12th क्लास पास होना चाहिए, तभी उन्हें मेरिट Based या एंट्रेंस एग्जाम Based पर एडमिशन मिलता है।

ट्रेनिंग ले रहे लाभार्थी (candidates) की ट्रेनिंग पूरा होने के बाद उन्हें AITT ( All India Trade Test ) के टेस्ट एग्जाम क्लियर करना होता है एवं उसमे सफल candidates को NTC (National Trade Certificate) के द्वारा Certificate दिया जाता है जो पुरे भारत में मान्य होता है।

  • कम से कम आठवी पास होना अनिवार्य
  • आईटीआई के लिए 12th सर्वोत्तम माना जाता है
  • बेसिक टेकनिकल ज्ञान अनिवार्य
  • भाषा का ज्ञान

ITI में एडमिशन लेने की प्रक्रिया (आईटीआई में एडमिशन)

8th/10th और 12th क्लास पास स्टूडेंट्स एडमिशन ले सकते है हर ट्रेड्स में अलग-अलग योग्यता की मांग होती है जैसे; ITI Engineering फील्ड में मिनिमम Qualification 10+2 होना ही चाहिए और Non-Engineering फील्ड में 8th/ 10th क्लास पास होना जरुरी है।

विभिन्न प्रकार के Trades में एडमिशन प्रक्रिया प्रत्येक साल अगस्त के महीना में पहली तारीख से शुरू जाता है, NCVT Guidelines के अनुसार ITI में एडमिशन Merit-Based या Written Exam के आधार पर किया जाता है।

अगर प्राइवेट इन्टीटूट्स के बारे में बात की जाए तो कुछ ऐसे इंस्टीटूट्स है जो एडमिशन के लिए एंट्रेंस का आयोजन करते है और कुछ ऐसे भी है जो डायरेक्ट एग्जाम के मार्क्स के आधार एडमिशन ले लेते है।

ITI में एडमिशन लेने वाले candidates के लिए कुछ Age Rules बनाये गए है जिसे आपको जानना बेहद जरुरी है, ITI के लिए Minimum Age Limit 14 Years है और Maximum Age 40 Years है। लेकिन Ex-Servicemen और War Widow के केसेस में 5 Years टाइम पीरियड बढ़ा दिया जाता है।

  • मेरिट के आधार पर एडमिशन संभव है.
  • एंट्रेंस एग्जाम अनिवार्य है
  • सरकारी फिल्ड में एंट्रेंस एग्जाम देना अनिवार्य होता है.
  • आयु सीमा 14-40 वर्ष
  • विशेष अवस्था में पांच वर्ष तक आयु बढ़ाया जा सकता है.

आईटीआई में अप्लाई कैसे करे

एडमिशन फॉर्म अप्लाई करने के लिए कुछ सामान्यः प्रक्रिया अपनाया जाता है जो निचे अंकित किया गया है.

  • अपने राज्य के अनुसार ऑफिसियल वेबसाइट पर जाए
  • वेबसाइट में अकाउंट बनाए
  • फिर लॉग इन करे
  • उसके बाद कैंडिडेट्स रजिस्ट्रेशन आइकॉन पर क्लिक करे
  • योग्यता एवं पसंदिता कोर्स के अनुसार फॉर्म भरे
  • आवश्यक डाक्यूमेंट्स उपलोड करे
  • फॉर्म भरने के बाद पुनः चेक करे और सबमिट कर दे
  • सबमिट किए हुए फॉर्म की रेसिप्त प्रिंट कर ले
  • नए जानकारी के लिए वेबसाइट विजिट करते रहे
  • जब तक रजिस्ट्रेशन कांफोर्म होने की नोटिफिकेशन न मिले

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए जरुरी डाक्यूमेंट्स

  • आठवी, दसवी या 12वी की मार्कशीट
  • Govt ID प्रूफ जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर कार्ड आदि
  • जाती, निवास आदि सर्टिफिकेट
  • बैंक डिटेल्स
  • राशी भुकतान करने के लिए एड्रेस, जैसे क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड आदि.
  • एवं अन्य जरुरी डाक्यूमेंट्स

ITI कोर्स फीस ( ITI Fees In Hindi)

ITI कोर्स फीस स्टेट और Trades पर आधारित होता है आप जिस ट्रेड्स के साथ जाते है उसी के अनुसार कोर्स फीस तय होता है. सामान्यतः अगर आप Engineering Trades के साथ जाते है तो Government या Private फिल्ड में 2,000 से 12,000 रूपये के बिच और Non-Engineering के साथ 4,000 से 10,000 के बिच फ़ीस देना होता है.

विद्यार्थी अक्शर पूछते है ITI कोर्स फीस क्या होता है या कितना होता है, उनको बता दू, आप सरकारी विभाग के मदद से एंट्रेंस एग्जाम दे कर, आप कम लागत में ही ITI कोर्स कर सकते है, अपने नजदीकी संसथान से संपर्क कर, पता कर सकते है या ऑनलाइन, कोशिश करे की सरकारी संस्थान से ही आपकी ITI कोर्स पूरा हो.

ITI कोर्स फ़ीस ट्रेड्स के अनुसार

  • Engineering Trades से सरकारी सेक्टर में फ़ीस 2 हजार से 10 हजार तक
  • Engineering Trades से प्राइवेट सेक्टर में फ़ीस 20 हजार से 60 हजार तक
  • Non-Engineering Trades से सरकारी सेक्टर में फ़ीस 4 हजार से 15 हजार तक
  • Non-Engineering Trades से प्राइवेट सेक्टर में फ़ीस 15 हजार से 60 तक

ITI कितने प्रकार के होते है? (Types of ITI in Hindi)

ITI में सामान्यतः दो Trades होते है Engineering Trades और Non-Engineering Trades, जिसे 10th या 12th के बाद किया जा सकता है। दोनों ट्रेड्स डिप्लोमा और ग्रेजुएट लेवल पर मौजूद होते है आप किसी एक कोर्स का चुनाव कर सकते है. निचे कुछ Trades का लिस्ट दिया जा रहा है जिससे आपको समझने में आसानी होगी।

ITI में Engineering ट्रेड्स का नाम

(List of Engineering Trades In ITI In Hindi)

  1. Radio Mechanic
  2. TV Machanic
  3. Mechanic Ref. and Air Conditioning
  4. Mechanist Grinder
  5. Information Technology
  6. Electronic system Maintenance
  7. Electronic Mechanic
  8. Radiology Mechanic
  9. Surveyor
  10. Draughtsman Mechanical
  11. Electrician
  12. Draughtsman Civil
  13. Production and Manufacture Sector
  14. Electricals sector
  15. Automobiles Sector
  16. Information Technology Sector
  17. Wire Man
  18. Turner
  19. Mechanist
  20. Fitter
  21. Architectural Assistant
  22. Automotive Body Repair
  23. Auto Electrician
  24. Carpenter
  25. Automotive Paint Repair
  26. Computer in Hardware and Networking
  27. Mechanic Diesel
  28. Spray Painting
  29. Mechanic Tractor
  30. Interior Designing and Decoration
  31. Plastic Processing Operator
  32. Plumber
  33. Welder
  34. Sheet Fabricator
  35. and may more

List of Non-Engineering Trades In ITI in Hindi

  1. Dress Making
  2. Desktop Publishing Operator
  3. Commercial Arts
  4. Computer Operator and Programming Assistant
  5. Cutting and Sewing
  6. Photography
  7. Food Production
  8. Needle Work
  9. Fashion Designing
  10. Health Inspector
  11. Hair and Skincare
  12. Textile Designing
  13. Office Assistant in Computer Operator
  14. Secretarial Practice
  15. Hospital House Keeping
  16. Agro-Processing
  17. Resource Person
  18. Etc.

ITI में नौकरी की संभावना | आईटीआई में Job Option

किसी भी Trades से ITI पूरा करने के बाद ट्रेनी से ट्रेनिंग करवाया जाता है ताकि वो अपने फील्ड में एक्सपर्ट बन सके। Apprenticeship यानि Training कम्पलीट करने के बाद आपके पास जॉब्स के लिए बहुत सारे विकल्प मौजूद हो जाते है, आपको केवल सिलेक्शन करना होता है की आप किस फील्ड के साथ जाना चाहते है.

अवश्य पढ़े,

12th साइंस के बाद फेमस courses लिस्ट

ग्राफ़िक डिजाईन क्या है और डिज़ाइनर कैसे बने

सबसे बड़ी बात की इस फील्ड में आप खुद का बिज़नेस कर सकते है For Example; Electrical Shops, Plumber Shops, Painter, Repairing Shops in Vehicles, Welding in Gas and Electric and more in this field. It totally depends on your goal whatever you want to do, that’s all.

ITI कम्पलीट करने बाद आपके पास दोनों तरह options available होते है आप चाहे तो Government फील्ड या प्राइवेट सेक्टर में जा सकते है, करियर स्कोप दोनों में बहुत ही ज्यादा है। प्राइवेट फील्ड को पसंद करते है तो इसमें जॉब्स आसानी में मिल जाता है क्योकि ITI एक एडवांस Certification है जिसका स्पेशल vacancy ITI Holder के लिए प्राइवेट कंपनी में होता है।

एक registrated Institutes से आप ITI किए हुए है तो आपके पास Government जॉब पाने का एक सुनहरा अवशर है। Indian Railways में ITI Holder के लिए Vacancy निकलती है जिसमें आप Apply कर सकते है और एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करके एक गवर्नमेंट जॉब पा सकते है। इसके अलावा Public Sector Units, Government Department तथा Defence सेक्टर में भी आप अप्लाई कर सकते है।

Conlusion

हमें उम्मीद है कि आपको इस आर्टिकल में, ITI क्या है की सभी जानकारी मिल गई होगी, लेकिन आपको ऐसा लगे की इस आर्टिकल में और कुछ ITI क्या है के बारे होना चाहिए, तो आप आपने विचार निचे कमेंट सेक्शन में छोड़ सकते है, हमारी टीम आपके suggestion पर जवाब देने की कोशिश जरूर करेगी। धन्यवाद।

  •  
    101
    Shares
  • 101
  •  
  •  
  •  
  •  

One thought on “ITI क्या है और कोर्स कैसे करे | फीस, नौकरी, योग्यता, सैलरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *