12th के बाद करियर बेहतरीन विकल्प | Tips For Career After 12 in Hindi

career Guidance in Hindi

आजकल हर कोई एक बेहतर करियर के तलाश में है खासकर वो, जो अभी-अभी अपना 12th कम्पलीट कर लिए है या फिर करने वाले है. ज्यादातर विद्यार्थियों के मन में ऐसे ही सवाल रहते है कि कौन से कोर्स करियर के लिए चयन करे.

अगर यह निर्धारित कर ले कि हमें किस फील्ड में करियर बनाना है तो हमारा 50% काम सिर्फ इसी डिसिशन से पूरा हो जाएगा , उसके बाद कोर्सेज के बारे में सभी तरह की जानकारी प्राप्त करें. जैसे 12th के बाद बेस्ट करियर कोर्सेज आदि.

करियर से रिलेटेड कोर्स सिलेक्शन करना अपने आप में एक बड़ा चुनौती है इससे हर कोई उबर नही पाता है क्योकि जिम्मेदारियों की शुरुवात यही से शुरु होती है.

आज से कुछ समय पहले करियर विकल्प सिमित थे पर आज के दौर में कुछ भी सिमित नही है आज के समय में करियर के आप्शन बहुत बढ़ गए है और इसीलिए शायद स्टूडेंट्स को करियर सिलेक्शन करने में इतनी परेशानी होती है.

कैसे करे करियर का चुनाव?

अपने इंटरेस्टेड सब्जेक्ट का हमेशा ध्यान रखे, दुसरे के मानसिकता से बचे क्योकि शलाह देने में किसी को बुरा नही लगता पर लेने वाले का बहुत कुछ दाव पर लगा होता है इसलिए एडवाइस लेते समय सावधानी बरतें. सभी की बातें ध्यान से सुनिए और गम्भीरता से सोचिए और अंत में निर्णय लीजिए, जैसे साइंस 12th में कौन सा कोर्स करे, 12th आर्ट्स में कौन सा कोर्स करे आदि.

दुसरो की रूचि के अनुसार अपना करियर सिलेक्शन न करे क्योकि हर स्टूडेंट्स की रूचि, प्रतिभा और लक्ष्य अलग-अलग होता है, जल्दीबजी में कोई भी डिसिशन न करे, अपने पेरेंट्स से एक बार राय विचार अवश्य कर ले.

अपने योग्यता का आकलन करे

अगर आप अकादमिक कोर्सेज के साथ जाना चाहते है तो आप अपने स्ट्रीम्स का ध्यान अवश्य रखे क्योकि अकादमिक कोर्सेज के लिए स्ट्रीम्स बहुत मायने रखता है.

अगर आप साइंस के स्टूडेंट्स है तो आपके लिए अकादमिक और प्रोफेशनल कोर्सेज के लिस्ट बहुत है निचे कुछ इम्पोर्टेन्ट कोर्सेज के लिस्ट मेंशन किया जा रहा है.

सबसे जरुरी, ध्यान देने वाला बात, की आप अपने सामर्य्थ का आकलन अवश्य कर ले ताकि यह अंदाजा हो सके की आप किस फील्ड में अपने आप को सक्षम महशुस करते है.

जब तक आप अपने बारे में पूरी तरह से यह पता नही लगा पाते की आप किस फील्ड में अच्छे है तब तक यह निर्णय कर पाना थोडा मुश्किल है कि आप आगे क्या करेंगे.

अपने कौशल का आकलन कैसे करे

अपने कौशल या रूचि (Interest) का आकालन करना कोई मुश्किल काम नही है बस आपको थोडा अपने गतिविधियों पर ध्यान देना होगा की आपको क्या करना अच्छा लगता है.

आप किस काम को करने में अपने आप को सक्षम मशुस करते है. जिस काम को करने में आपको खुसी महशुस होता है, जाहिर सी बात है की आपका रूचि उस काम में है. ऐसे ही अपने सभी पहलुयो पर विचार कीजिए.

हर किसी का कौशल अलग-अलग होता है शायद आपको पढ़ना अच्छा लगता हो या फिर आपको ड्राइंग बनाना अच्छा लगता हो, यानि कहने का मतलब ये है. अगर आप अपने कौशल का आकलन कर लेते है तो आपके लिए आगे का रास्ता आसान हो जायेगा. आप अपने कौशल के अनुशार अपने करियर विकल्प असानी चुन सकते है.

आज के समय में ऐसा कोई फील्ड नही है जिसमे स्पेशल कोर्स न कराया जाता हो, केवल आपको अपने इंटरेस्ट का आकलन करना है.

आपकी आगे की मुश्किलों को आसान करने के लिए हम कुछ कोर्सेज को मेंशन कर रहे है जो आपके उलझनों को हल करने में अहम भूमिका निभाएगा.

12वी के बाद करियर विकल्प

साइंस में करियर के विकल्प

साइंस स्ट्रीम करियर विकल्प के लिए ही फेमस है, ज्यादातर स्टूडेंट्स साइंस स्ट्रीम का चयन इसलिए करते है की इस फील्ड में करियर का विकल्प बहुत ज्यादा है, वैसे देखा जाए तो साइंस में सबसे ज्यादा करियर विकल्प है.

क्योकि साइंस स्ट्रीम के स्टूडेंट्स कभी भी किसी भी फील्ड में अपने आगे की स्टडी के लिए जा सकते है पर दुसरे स्ट्रीम के स्टूडेंट्स के पास ऐसा विकल्प मौजूद नही होता है.

साइंस में 12th के बाद ऐसे बहुत अकादमिक और प्रोफेशन कोर्सेज है जो बेहतरीन करियर विकल्प प्रदान करते है. निचे कुछ ऐसे ही साइंस में करियर विकल्प प्रदान करने वाले कोर्सेज को दिया जा रहा है जिससे आपको अपने कोर्स सिलेक्शन करने में सहूलियत होगी.

कॉमर्स और आर्ट्स में करियर के विकल्प

कॉमर्स और आर्ट्स एक ऐसा फील्ड है जिसमे करियर विकल्प के स्कोप बहुत है. कॉमर्स स्ट्रीम बिज़नस और अकाउंटेंट के लिए ही जाना जाता है. 12th कॉमर्स के बाद बिज़नस कोर्स करके एक अच्छा करियर सेट कर सकते है या खुद का बिज़नस सुरु कर सकते है.

आर्ट्स आज के समय में सबसे ज्यादा करियर विकल्प प्रदान करने वाला स्ट्रीम है. इस फील्ड में स्पेशल कोर्स तो है ही इसके अलावा आप अपने स्किल्स को इस फील्ड में और ज्यादा निखार सकते है, आपका स्किल्स किसी भी फिल्ड में हो आप आर्ट्स के जारीए अपने स्किल्स और ज्यादा बेहतर बना सकते है.

आर्ट्स, स्किल्स को बढ़ावा देने का एक जरिया है. अगर आपका रूचि पेंटिंग, डिजाइनिंग, ड्राइंग आदि में भी है तो आप इस फील्ड में भी बेहतर करियर स्थापित कर सकते है, आगे ऐसे ही कोर्सेज से आपको रूबरू करा रहे है जो करियर के विकल्प के लिए बिलकुल सही है.

  • बैचलर ऑफ़ सोशल डिजाईन [B.S.W (Bachelor of Social Design)]
  • ग्राफ़िक डिजाइनिंग कोर्स (Graphic Design)
  • Teacher
  • डिप्लोमा इन एजुकेशन [D. Ed (Diploma in Education)]
  • L.L.B (Bachelor of Law)
  • बैचलर ऑफ़ बिज़नस एडमिनिस्ट्रेशन (B.B.A )
  • डिप्लोमा इन फॉरेन लैंग्वेज (Foreign Language Diploma)
  • B.A in {History, English, Geography, Psychology, Political Science, etc.}
  • बैचलर ऑफ़ फिने आर्ट्स (B.F.A )
  • कोर्सेज इन जर्नलिज्म और मास कम्युनिकेशन (Journalism and Mass Communication )
  • बैचलर ऑफ़ कॉमर्स में करियर
  • होटल मैनेजमेंट कोर्स (Hotel Management)
  • इवेंट मैनेजमेंट कोर्स (Event Management)
  • B.Com in {Economics, Marketing, Computer and IT, Income Tax etc.}
  • बैचलर ऑफ़ आर्किटेक्चर [B. Arch {Bachelor of Architecture}]
  • चार्टर्ड एकाउंटेंसी C.A (Chartered accountancy)
  • बैचलर ऑफ़ बिज़नस एडमिनिस्ट्रेशन (B.B.A)
  • बैचलर ऑफ़ मैनेजमेंट साइंस (B.M.S)
  • बैचलर ऑफ़ बिज़नस स्टडी (B.B.S)
  • बैचलर ऑफ़ आर्ट्स करना क्यों फायदेमंद है
  • इंटीग्रेटेड लॉ (Integrated Law)
  • बैचलर ऑफ़ फाइनेंस एकाउंटेंसी (B.F.A)
  • बैचलर ऑफ़ होटल मैनेजमेंट (B.H.M Course)

12th के बाद डिप्लोमा कोर्सेज में करियर विकल्प

आज कल अगर कुछ डिमांड में है तो वो है डिप्लोमा कोर्सेज, क्योकि स्टूडेंट्स शोर्ट टाइम कोर्स करके जल्द करियर बनाने के बारे में सोचते है. डिप्लोमा कोर्सेज ऐसे बहुत सारे फैसिलिटी देता है जिससे करियर चुनना आसान हो जाता है.

डिप्लोमा कोर्सेज कई प्रकार के होता है कोई शोर्ट टाइम होता है तो कोई-कोई लॉन्ग टाइम का भी होता है. इन सभी कोर्सेज का कॉम्बिनेशन कर एक लिस्ट में निचे मेंशन किया जा है जिससे आपको समझने में सहूलियत होगा.

12th के बाद डिप्लोमा कोर्सेज का डिमांड, करियर स्कोप और करियर विकल्प बहुत ही बड़ा है.

  • कटाई और टेलरिंग फील्ड [Diploma in (Cutting and Tailoring)]
  • वेब डिजाइनिंग कोर्स (Web Designing in Hindi)
  • ड्राइंग और पेंटिंग कोर्स (Drawing and Painting)
  • ड्रेस डिजाइनिंग कोर्स Diploma in Dress Designing
  • फैशन डिजाइनिंग कोर्स डिटेल्स (Fashion Designing Course In Hindi)
  • कंप्यूटर हार्डवेयर (Diploma in Computer Hardware)
  • डिप्लोमा इन टेक्सटाइल (Diploma in Textile)
  • Diploma in {Beauty Culture and Hair Dress}
  • इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी *Information Technology*
  • एप्लीकेशन टेक्नोलॉजी (Diploma in Application Software)
  • ग्राफ़िक डिजाइनिंग में करियर आप्शन (Graphic Designing Course In Hindi)
  • हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट कोर्स (Diploma in Hospitality Management)
  • डिप्लोमा इन फिल्म आर्ट्स (Film Arts)
  • एनीमेशन डिजाइनिंग कोर्स (Animation Designing)
  • डिप्लोमा इन जर्नलिज्म (Journalism and Mass Communication)
  • कोर्स इन डिजिटल वेदिओ प्रोडक्शन (Digital Video Production)
  • कोर्स इन फोरेन लैंग्वेज (Diploma in Foreign Language)
  • डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (Diploma in Computer)
  • डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट (Diploma in Event Management)
  • एयर क्रू कोर्स (Diploma in Air Crew)
  • डिप्लोमा इन फिल्म मार्केटिंग (Diploma in Film Marketing)
  • कोर्स इन मास और मीडिया (Diploma in Mass and Media)
  • Diploma in Mass Communication
  • डिप्लोमा इन ग्राफ़िक टेक्नोलॉजी (Diploma in Graphic Technology)
  • डिप्लोमा इन डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing)
  • डिप्लोमा इन एनालिटिक्स

कोर्स सिलेक्शन करने बाद और कुछ चीजो पर विशेष कर ध्यान देना बहुत जरुरी हो जाता है जैसे; जिस organization से आप कोर्स करने जा रहे वो organization समुचित रेगुलेरिटी अथॉरिटी से मान्यता प्राप्त है या नही, प्रोफेसर, लेक्चरर और असिस्टेंट का Ratio, institutes की फैसिलिटी इत्यादी के बारे में अच्छे से जान लेना चाहिए उसके बाद एडमिशन के बारे सोचे.

Conclusion

12th के बाद करियर विकल्प/ आप्शन के सभी संभावित कोर्सेज के बारे में आपने पढ़ा. मुहे उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आपको करियर से रिलेटेड अच्छी जानकारी मिली होगी. Tips For Career After 12th in Hindi में करियर से सम्बंधित सभी टॉपिक्स पर विस्तार से चर्चा किया गया है. अगर आपको अभी भी कुछ संदेह हो तो आप अपना विचार या सुझाव कमेंट सेक्शन में सबमिट कर सकते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *