MBA क्या है और कैसे कर सकते है | MBA से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी

MBA क्या है और कैसे करे

भारत में बेहतर कैरियर के दृष्टिकोण से एमबीए सबसे प्रसिद्ध कोर्स है विशेषज्ञों का कहना है एमबीए हर वो उम्मीदवार आसानी से पूरा कर सकता है जो अपने आप में परिपक्व है, मतलब दृढ़ संकल्प, कठिन परिश्रम और सफल होने की इच्छा, यह तीन संकल्प किसी भी नामुमकिन काम को करने की चाबी है.

भारत में इस फील्ड का मांग सबसे अधिक है क्योंकि अधिकतर विद्यार्थी का मानना है एमबीए एक अच्छे कोर्स होने के साथ-साथ एक अच्छा करियर रूप भी प्रधान करता है इसलिए इस कोर्स की प्रधानता भारत के साथ-साथ विदेशो में भी अधिक है. 

किसी भी फील्ड में बेहतर कैरियर बनाने के लिए, सही दिशा-निर्देश, उचित ज्ञान और उस कोर्स या कैरियर से संबंधित पर्याप्त जानकारी होना बहुत महत्वपूर्ण है. 

 MBA, 19 वी सदी के बाद से प्रचलन में आया, जिसका मुख्य उद्देश्य स्नातक शिक्षा की गुणवत्ता को और ज्यादा निखारना था जो बाद में चलकर प्रसिद्ध हुआ. इस कोर्स के माध्यम से विद्यार्थी बेहतर भविष्य बना सकते हैं नीचे एमबीए से संबंधित सभी तरह की जानकारी इकट्ठा किया गया है जो आपको पूरी तरह जानकारी देने में सहयोग करेगा. 

MBA कोर्स क्या है? (MBA Course Details in Hindi)

एमबीए व्यवसाय प्रशासन में 2 साल की मास्टर डिग्री कोर्स है जो व्यवसाय से संबंधित विस्तृत शैक्षिक विषयों को संबोधित करता है इस कोर्स के द्वारा Business Management, Marketing Skills, Business Skills आदि को प्रोत्साहित किया जाता है  ताकि इसकी गुणवत्ता को और अच्छे से निखारा जा सके.

एमबीए व्यावसायिक शिक्षा के गुणवत्ता को और निखारने का विशेष रूपरेखा प्रदान करता है, जिससे उन विषयों को विस्तृत रूप से तैयार किया जाता है.  एमबीए लेखांकन, विपणन, अनुसंधान, अभियान प्रबंधन आदि विषयों से परिचित करवाने के लिए इसका प्रयोग मुख्य रूप से किया जाता है. यानि इस कोष के द्वारा विद्यार्थी इन सभी विषयों में प्रमुखता हासिल करते हैं जो उन्हें एक उच्च लेवल पर लेकर जाता है

भारत में MBA की प्रमुखता सबसे अधिक है क्योंकि यह एक ऐसा कोर्स है जिसे किसी भी विषय के ग्रैजुएट विद्यार्थी कर सकता है इसलिए भारत में एमबीए कोर्स की लोकप्रियता अधिक होने के साथ-साथ महत्वपूर्ण भी है.  

MBA Full Form

एमबीए का पूरा नाम मास्टर ऑफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन होता है जैसे कि मैंने ऊपर बताया है इस कोर्स की प्रधानता उन्नीसवीं सदी के मध्य से बहुत ज्यादा थी और अब उससे भी अधिक हो गया है हिंदी में एमबीए को व्यवसाय प्रबंधन में स्नातकोत्तर कहा जाता है  जो यह दर्शाता है कि एक बेहतर कैरियर के लिए कितना प्रभावी है.

अगर एमबीए को हिंदी में उच्चारण करते हैं तो इससे साफ महसूस होता है कि यह कोर्स बिज़नेस को एक नई ऊंचाई प्रदान करने के लिए बनाया गया है जिसे पूरा कर इस इंडस्ट्री में एक नया कीर्तिमान स्थापित किया जा सकता है. 

  • M=Master
  • B=Business
  • A=Administration
  • Business of Master Administration
  • व्यवसाय प्रबंधन में स्नातकोत्तर (MBA)
MBA क्या है | MBA In Hindi
MBA in Hindi

MBA के लिए योग्यता (Qualification for MBA in Hindi)

मास्टर ऑफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स करने के लिए विद्यार्थी को कम से कम 12th पास होना आवश्यक होता है,    दरअसल, एमबीए ग्रेजुएशन के बाद ही किया जाता है जिसमें 2 वर्ष का समय लगता है, लेकिन कोई उम्मीदवार अगर इस कोर्स को 12वी के बाद करना चाहता है तो इसे पूरा करने के लिए उन्हें 5 साल का समय लगता है.

स्थिति यह होता है कि 3 साल, पहले उन्हें बिज़नेस के सभी स्किल्स सिखाया जाता है उसके बाद बिज़नेस से संबंधित सभी तरह की जानकारी मुहैया कराया जाता है.

लेकिन एमबीए ग्रेजुएशन के बाद किया जाए तो उन्हें सिर्फ 2 वर्ष समय देना होता है जिसमें उन्हें इस कोर्स से संबंधित बिज़नेस की सभी आवश्यक जानकारी प्रदान किया जाता है. कोई भी ग्रैजुएट कैंडिडेट एमबीए करने के लिए योग्य होता है बशर्ते ग्रेजुएशन में कम से कम 50% मार्क्स होना चाहिए.

  • 12वी से भी संभव है.
  • ग्रेजुएशन डिग्री (जरूरी है)
  • ग्रेजुएशन में 50% मार्क्स (कम से कम)
  • कम्युनिकेशन स्किल्स 
  • बिज़नेस की समझ
  • इंग्लिश स्किल 
  • कोई भी ग्रेजुएशन/ मास्टर डिग्री 
  • कुछ नया सीखने की लगन 

आवश्यक नहीं कि बताए गए सभी योग्यता किसी एक मनुष्य में हो लेकिन एमबीए करने के लिए इनमें से कुछ का होना अति आवश्यक है. 

प्रवेश परीक्षा (MBA के लिए एंट्रेंस एग्जाम)

एमबीए में प्रवेश लेने के लिए विद्यार्थी को एंट्रेंस एग्जाम से होकर गुजरना होता है पर यह सभी कॉलेजों के लिए जरूरी नहीं होता. इंडिया में, बहुत सारे ऐसे कॉलेज हैं जो बिना एंट्रेंस एग्जाम के, जरूरी योग्यता और सर्टिफिकेशन के आधार पर भी एडमिशन ले लेते हैं. 

अगर आप एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर एमबीए में एडमिशन लेना चाहते हैं पहले आपको एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना होता है उसके बाद सिलेक्टेड कॉलेज में काउंसलिंग के जरिए आपको एडमिशन मिलता है आप इस कोर्स को डिस्टेंस (Distance) से भी कर सकते हैं.

कुछ ऐसे भी कॉलेज होते हैं जहां एमबीए में एडमिशन लेने के लिए जरूरी योग्यता के साथ-साथ किसी कंपनी से 1 या 2 साल का वर्क एक्सपीरियंस होना जरूरी होता है जिसके आधार पर इंडिया के प्रसिद्ध कॉलेज में एडमिशन होता है.

महत्वपूर्ण MBA एंट्रेंस एग्जाम (MBA Entrance Exam List in Hindi)

S. No.Entrance ExamFull-Form
1CATCommon Admission Test
2XATXavier Aptitude Test
3GMATGraduate Management Aptitude Test
4CMATCommon Management Admission Test
5MATManagement Aptitude Test
6ATMAAIMS TEST FOR MANAGEMENT ADMISSIONS
7NMATNMIMS Management Aptitude Test
8SNAPSymbiosis National Aptitude Test
9IIFTIndian Institute of Foreign Trade
10IRMAInstitute of Rural Management Anand
11MICATMICA Admission Test
12TISSNETTata Institute of Social Sciences
13IBSAT ICFAI Business Studies Aptitude Test

प्रवेश परीक्षा में आने वाले प्रश्न टॉपिक 

एमबीए के एंट्रेंस एग्जाम में निम्नलिखित तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं जो एडमिशन लेने से पहले कैंडिडेट को इन एग्जाम को क्लियर करना होता है इसलिए इन सभी परीक्षाओं में पूछे जाने वाले प्रश्न टॉपिक का नाम नीचे दिया गया है जिसे आपको समझने में आसानी होगी. 

एंट्रेंस एग्जाम को आसानी से पास करने के लिए दिए गए टॉपिक को अच्छे से तैयारी तैयारी किया जाता है. ये ऐसे टॉपिक है जो ज्यादातर एमबीए के एंट्रेंस एग्जाम में इन्ही से प्रश्न पूछे जाते हैं इनसे सबसे महत्वपूर्ण टॉपिक क्वांटिटेटिव तकनीक,लोकल रिजनिंग, जनरल अवेयरनेस, वर्बल एबिलिटी और इंटेलिजेंस एंड क्रिटिकल रीजनिंग आदि है.

  • Quantitative technique
  • Logical reasoning
  • Language comprehension
  • General Awareness
  • English Language & Logical Reasoning
  • Data Interpretation & Data Sufficiency
  • Intelligence and Critical Reasoning
  • Verbal Ability
  • Reading Comprehension

MBA Programs (MBA प्रोग्राम के बारे में जानना जरुरी क्यों है)

मास्टर ऑफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन प्रोग्राम मुख्यतः 5 प्रकार के होते है, जिनकी अवधि प्रोग्राम के अनुसार अलग-अलग होता है. एमबीए 2 वर्ष का होता है लेकिन इस प्रोग्राम का अवधि और फ़ीस दोनों अलग-अलग होते हैं. इसलिए जरूरी नहीं कि एमबीए केवल 2 का वर्ष ही किया जाए.

वो जो एमबीए, 2 वर्ष की अवधि से पहले करना चाहते है वो निम्न प्रोग्राम का चयन कर सकते हैं. जैसे 1-year Full-Time एमबीए (MBA) प्रोग्राम की अवधि 12 महीने से 15 महीने के बीच में होता है पर इस प्रोग्राम की फ़ीस 2-year Full-Time MBA प्रोग्राम से अधिक होता है. 

जिन्हें कम समय में एमबीए की डिग्री चाहिए होती है और बिज़नेस करने के लिए व्यवसाय से संबंधित पूरी जानकारी भी चाहिए होती है वैसे उम्मीदवार के लिए यह प्रोग्राम होता है यह सेमेस्टर वाइज विभाजित नहीं होता है इसमें इंटर्नशिप  की भी अवधि कम होता है 

ठीक इसी प्रकार इन चारों का भी अपना अलग विशेषता होता है, जैसे 2-year Full-Time MBA चार सेमेस्टर में विभाजित होता है. इस प्रोग्राम को चयन करने वाले विद्यार्थी के पास 2-3 वर्ष का वर्क एक्सपीरियंस होता है आदि. 

  • 1-year Full Time
  • 2-year Full Time 
  • Online MBA
  • Part-Time MBA
  • Executive MBA OR E-MBA

MBA कोर्स कितने प्रकार के होते है? (Types of MBA Courses)

ज्यादातर स्टूडेंट्स यह जानने में इच्छुक होते हैं कि एमबीए में कोर्स कितने प्रकार के होते हैं चुकी यह डिफाइन नहीं होता है की इसमें कितने कोर्स होते हैं. कोर्स के प्रकार उम्मीदवार के इंटरेस्ट के अनुसार तय होता है इंस्टिट्यूट और कॉलेज बहुत प्रकार के कोर्स ऑफर करते हैं जो विद्यार्थी को यह सुनिश्चित करना होता है कि वह किस कोर्स के साथ आगे की पढ़ाई जारी रखना चाहते हैं.

एमबीए में बेहतर कैरियर बनाने के लिए इंटरेस्ट के आधार पर कोर्स का चुनाव करना बेहद जरूरी होता है. दरअसल विद्यार्थी को इस फिल्ड में आने से पहले उनका करियर गोल पहले से ही सुनिश्चित करना होता है कि वे क्या करना चाहते हैं.

इनमें से कुछ प्रसिद्ध कोर्स हैं जो भारत में ज्यादातर किए जाते हैं और इनका मांग पहले की अपेक्षा अब ज्यादा है जैसे बिज़नेस मैनेजमेंट, मार्केटिंग, फाइनेंस और एकाउंटेंट, जनरल मैनेजमेंट, ऑपरेशन मैनेजमेंट,  हुमन रिसोर्स मैनेजमेंट आदि.

नीचे कुछ कोर्स के प्रकार अंकित किया गया है जो एमबीए में प्रसिद्ध कोर्सेज है. 

  • Decision Sciences
  • Economics & Social Sciences
  • Entrepreneurship
  • Finance & Accounting
  • Information Systems
  • Marketing
  • Organizational Behavior & Human Resources Management
  • Production & Operations Management
  • Public Policy
  • Strategy
  • Hospitality & Tourism Management
  • Logistics & Supply Chain Management
  • Food & Agriculture Business Management
  • General Management
  • Law
  • Pharmaceutical Management
  • Social Entrepreneurship
  • Entrepreneurship & Family Business
  • Airline & Airport Management
  • Real Estate Construction & Management
  • Hospital & Healthcare Management
  • Telecom
  • Digital & Social Media Marketing
  • Events Management
  • Corporate Communication & Public Relations

MBA की सब्जेक्ट (MBA (Full Time) Syllabus & Subjects)

सब्जेक्ट का मतलब है कि एमबीए में आपको क्या-क्या पढ़ाया जाएगा, हालांकि विषय, एमबीए प्रोग्राम के अनुसार सुनिश्चित होता है कि कौन से प्रोग्राम में कौन कौन से टॉपिक होते हैं इसलिए यहां सिर्फ फुल टाइम एमबीए का सिलेबस और सब्जेक्ट नीचे दिया जा रहा है जिससे आपको यह अंदाजा लग सके कि सब्जेक्ट किस तरह के होते हैं और उनकी तैयारी कैसे कराया जाता है.

यह सिर्फ एक प्रोग्राम का सिलेबस है जो दर्शाता है MBA में मास्टर डिग्री लेने के लिए इंटरेस्टिंग प्रोग्राम के साथ-साथ इंटरेस्टिंग सिलेबस और सब्जेक्ट की तैयारी करना बेहद आवश्यक है जिसके फलस्वरूप बेहतर कैरियर मिलना लाजमी है.

फुल टाइम एमबीए प्रोग्राम में निम्नलिखित विषय पढ़ाए जाते हैं जो इस कोर्स में प्रसिद्ध है यह सिर्फ दिखाने के माध्यम से नीचे दिया गया है इसमें इससे अधिक भी सुजेक्ट्स हो सकते हैं.

  • MBA (Full Time) Syllabus & Subjects
  • Finance for Non-Finance
  • Personal Journey for Excellence
  • Joy of Management
  • Micro-Economics
  • Business Statistics
  • Marketing and Consumer Behaviour
  • Excel Spreadsheet Modelling
  • Written Analysis and Communication
  • Sankalp–Social Entrepreneurship Project

MBA की फ़ीस कितनी होती है? ( MBA Course Fees in Hindi)

इंडिया में एमबीए की कोर्स फीस लगभग दो लाख से लेकर 30 लाख तक होती है, फीस सरकारी कॉलेज और विश्वविद्यालय में, प्राइवेट कॉलेज की तुलना में कम होता है  यह कोर्स 500000 से 800000 के बीच भी किया जा सकता है और 15 लाख से 40 लाख में भी किया जा सकता है लेकिन शर्त यह है कि आप कौन-सा प्लेटफार्म पसंद करते हैं. 

भारत में एमबीए की फीस बहुत सारे फैक्टर पर निर्भर करता है जैसे infrastructure, hostel facility, extra-curricular activities and pedagogy आदि, यानी कॉलेज, यूनिवर्सिटी, इंस्टीट्यूट आदि अपने फैसिलिटी के अनुसार कोर्स की फीस डिफाइन करते हैं. 

इसलिए विद्यार्थी को अपने फाइनेंसियल स्थिति के अनुसार कॉलेज ढूंढना चाहिए और इसके साथ साथ वहां की सभी फैसिलिटी से भी अवगत होना चाहिए ताकि बाद में वह आवश्यक निर्णय ले सकें. 

  • Regular MBA Fees- 5-15 लाख 
  • Distance MBA Fees- 1+ लाख प्रत्येक वर्ष 

MBA में करियर स्कोप क्या है? (Career Scope in MBA In Hindi)

मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स पूरा करने के बाद विद्यार्थी के पास बहुत बड़ा  कैरियर फील्ड होता है वह किसी भी एमबीए से संबंधित क्षेत्र का चयन सकता है जिसमे वे इच्छुक हो. इस इंडस्ट्री का मतलब है व्यवसाय को एक नई ऊंचाई देना होता है तो जाहिर है एमबीए में करियर स्कोप बहुत बड़ा होगा.

लेकिन अगर व्यक्तिगत कैरियर स्कोप के बारे में बात की जाए तो इस फील्ड से एमबीए किए हुए कैंडिडेट नीचे दिए गए कुछ प्रमुख जॉब प्रोफाइल पर काम कर सकते हैं जिसमें उन्हें स्पेशलाइजेशन प्राप्त है.

  • Banks 
  • Tourism Industry
  • Management Analyst
  • Healthcare Administrator
  • Multinational Companies 
  • Industrial Houses
  • Information Systems Manager
  • financial analyst
  • Public Works
  • Personal Business
  • Accountant Operational Research analyst
  • Educational Institutes
  • Market Research Analyst
  • Business Operations Manager
  • Competitive Marketing
  • Business Marketing
  • Online Marketing
  • Analytical Marketing
  • Customer Relationship Marketing
  • Advertising Management
  • Product and Brand Management
  • Retailing Management

 अनुमानित सैलरी 

इंडिया में, एमबीए ग्रैजुएट उम्मीदवार को शुरुआत में 300000 से 600000 के बीच वार्षिक सैलरी हो सकती है लेकिन जैसे जैसे आपकी एक्सपीरियंस बढ़ता जाएगा ठीक इसी प्रकार वार्षिक सैलरी भी बढ़ती जाएगी.  विदेशों में यही आंकड़ा 5 लाख से 9 लाख के बीच में होता है.

आवश्यक नहीं कि यही सैलरी आपको भी मिले क्योंकि सैलरी पैकेज कंपनी के अनुसार तय होता है,  इंडस्ट्री के अनुरूप आपकी सैलरी अलग अलग हो सकता है. अगर मासिक सैलरी की बात करे तो शुरू में 20 हजार से 45 हजार के आसपास मिल सकता है.

2 thoughts on “MBA क्या है और कैसे कर सकते है | MBA से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी

  1. Long time supporter, and thought I’d drop a
    comment.

    Your wordpress site is very sleek – hope you don’t mind me asking
    what theme you’re using? (and don’t mind if I steal it? :P)

    I just launched my site –also built in wordpress like yours–
    but the theme slows (!) the site down quite a
    bit.

    In case you have a minute, you can find it by searching
    for “royal cbd” on Google (would appreciate any feedback) –
    it’s still in the works.

    Keep up the good work– and hope you all
    take care of yourself during the coronavirus scare!

  2. Hi! Someone in my Facebook group shared
    this site with us so I came to look it over.
    I’m definitely enjoying the information. I’m book-marking and will be
    tweeting this to my followers! Great blog and outstanding design and style.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *