Graduation क्या है और कैसे करे: योग्यता, फीस, करियर

प्रत्येक स्टूडेंट्स के पास अलग – अलग मानसिकता होता है जो उन्हें किसी चीज के बारे में जानकारी एकत्रित करने के लिए प्रेरित करता है, जिससे उनके नॉलेज में बृद्धि हो. यह प्रक्रिया उनके सोच पर निर्भर होता है कि उनकी मानसिकता क्या है. विद्वानों के अनुसार यही सोच विद्यार्थियों को उच्च एवं प्रभावशाली बनाती है.

ग्रेजुएशन सिर्फ एक पढ़ाई का जरिया नही है बल्कि यह आपको सुनिश्चित कराता है कि अब आप व्यस्क (Young) हो गए है. अपनी कुशल सोच एवं समृधि के साथ अपना फ्यूचर प्लान खुद बना सकते है. इसलिए, पहले वास्तिविकता को पहचाने फिर करियर सुनिश्चित करे.

भारत में ग्रेजुएशन का पद बेहद सम्मानित और उर्जावान है. इस डिग्री के मदद से भारत के विभिन्न क्षेत्र में सरलता से नौकरी प्राप्त किया जा सकता है. इसलिए, सरकारी या गैर सरकारी संस्थाएं जॉब के लिए ग्रेजुएट होना अनिवार्य कर दिया है. यदि आप ग्रेजुएशन पूरा करते है तो बेहतर जॉब के साथ-साथ बेहतर सैलरी मिलना लाजमी है.

स्टूडेंट्स होने के नाते हमें उस फील्ड की जानकारी होनी चाहिए जिसके साथ हम अपने फ्यूचर को आगे बढ़ान चाहते है. इस प्रक्रिया को पूरा करने के लिए आपको Graduation in Hindi से सम्बंधित सभी जानकारी यहाँ दिया जा रहा है कि वास्तव में Graduation क्या है और करना जरुरी क्यों है.

टॉप डिप्लोमा कोर्सेजPhD क्या है करियर विकल्प
BCA क्या है और कैसे करेMBA क्या है और कैसे करे
फैशन डिजाइनिंग कोर्स कैसे करे12th Arts के बाद क्या करे

Graduation क्या है? | What is Graduation in Hindi

What is Graduation in Hindi

ग्रेजुएशन 12th के बाद किया जाने वाला डिग्री कोर्स है जिसे इंडिया में बैचलर डिग्री को ग्रेजुएशन कहा जाता है. सामान्यतः ग्रेजुएशन 3 वर्ष का होता है लेकिन कुछ स्थिति में यह 4 वर्ष या 5 वर्ष का भी होता है. ग्रेजुएशन की अवधि डिग्री यानि कोर्स के चयन प्रक्रिया के अनुरूप अलग-अलग होता है.

उदाहरणस्वरूप, यदि आप 12th के बाद engineering करना चाहते है, तो ये आपके लिए 4 years का होगा और यदि Medical करना चाहते है, तो ये 5 years का होगा. और यदी 12th के बाद आप डायरेक्ट LLB करना चाहते है, तो ये कोर्स आपके लिए 5 years का हो जायेगा.

लेकिन आप B.Sc, B.Com और BA जैसे प्रोफेशनल कोर्सेज के साथ जाना चाहते है, तो सामान्यतः ये 3 years का ही होता है. कोर्स चयन प्रक्रिया पूरी तरह आपके विवेक निर्भर है कि आप किस केटेगरी का चयन करते है.

अवश्य पढ़े, B.Sc क्या है और करना क्यों जरुरी है

ग्रेजुएशन का फुल फॉर्म

Graduation क्या है: यह अपने आप में ही एक महतवपूर्ण प्रश्न है. संभवतः ग्रेजुएशन का कई अर्थ अलग-अलग रूप में हो सकते है. लेकिन यदि पढ़ाई के दृष्टिकोण से देखा जाए, तो ग्रेजुएशन का हिंदी अर्थ “स्नातक” होता है.

दुसरें शब्दों में, ग्रेजुएशन का फुल फॉर्म

ग्रेजुएशन को बैचलर डिग्री, स्नातक, अंडर ग्रेजुएट डिग्री, पूर्व स्नातक डिग्री आदि के नाम भी जाना जाता है. स्नातक, स्टडी का एक ऐसी अवस्था है जिसे पूरा करने के बाद विद्यार्थी को जॉब, व्यवसाय आदि करने में सहयता मिलती है.

ग्रेजुएशन के लिए योग्यता

मुख्य रूप से, ग्रेजुएशन करने के लिए कोई specific conditions नही होता है कि आपको किसी पर्टिकुलर स्ट्रीम से ही करना है. आप 12th के बाद किसी भी स्ट्रीम से अपना ग्रेजुएशन पूरा कर सकते है.

जैसे; Arts, Commerce, Science, Computers, Mass Media, Journalism, Management, Engineering, Medical, Law, Farmency and Designing आदि.

ग्रेजुएशन अपने आस पास के यूनिवर्सिटी या उससे सम्बंधित कॉलेज से कर सकते है. लेकिन एडमिशन या एंट्रेंस एग्जाम देने से पहले एक बात ध्यान में अवश्य रखे.

आप जिस कॉलेज में एडमिशन लेने जा रहे है या फिर एडमिशन लेने वाले है. उससे पहले यह सुनिश्चित अवश्य करे कि यूनिवर्सिटी UGC (University Grants Commission) से recognized है या नही.

ऐसी स्थिति की जानकारी आपको पहले कर लेना चाहिए ताकि बाद में किसी भी तरह की यूनिवर्सिटी या कॉलेज से रिलेटेड प्रोब्लेम्स का सामना न करना पड़े. अगर आप UGC की updates या किसी भी तरह की जानकारी जानना चाहते है तो आप UGC के ऑफिसियल वेबसाइट से जानकारी पा सकते है.

इसी प्रकार जिस कॉलेज से आप Engineering या Medical करना चाहते है, वह कॉलेज AICTE ( All India Council For Technical Education ) से recognized होना चाहिए.

फार्मा PCI ( Pharmacy Council For India ) से, LLB कोर्स BCI ( Bar Council For India ) से तथा B.Ed course NCTE ( National Council Teacher Education ) से recognized होना चाहिए. क्योकि, कॉलेजों के recognized होना privacy के लिए बहुत जरुरी होता है.

कुछ विशेष Graduation कोर्सेस का नाम | Graduation course list

यहाँ कुछ लोकप्रिय ग्रेजुएशन प्रोग्राम या कोर्सेस का लिस्ट है कोसे भारतीय विद्यार्थियों द्वारा सबसे अधिक पसंद किया जाता है. ये प्रोग्राम अधिकतर यूनिवर्सिटी एवं कॉलेजों में कराये जाते है, जो विशेषकर विद्यार्थियों के लिए डिजाईन किया गया होता है.

हालाँकि इनमें से कुछ ऐसे कोर्स है जिनके लिए स्पेशल कॉलेज या यूनिवर्सिटी पहले से ही व्यवस्थित होते है. जैसे बीटेक, इंजीनियरिंग कॉलेज, डेंटल मेडिकल कॉलेज आदि.

ग्रेजुएशन में कौन-कौन सी डिग्री आती है, के सभी प्रोग्राम यहाँ उपलब्ध है.

BCSBachelor of Computer Science
B.SCBachelor of Science
B.TechBachelor of Technology
B.COMBachelor of Commerce
B.E.Bachelor of Engineering
B.D.SBachelor of Dental Surgery
B.DesBachelor of Design
B.ArchBachelor of Architecture
BCABachelor of Computer Applications
BA LLBBA with Bachelor of Law
BFABachelor of Fine Arts
B.A.Bachelor of Arts
B.F.MBachelor of Hotel Management

ग्रेजुएशन के बाद Diploma and Certificate

Diploma/ CertificateDuration 
Diploma in Bakery and Confectionery1 – 1.5 year
Diploma in Visual Merchandising3 months – 1 year
Diploma in Food and Beverage Services6 months – 1 year
Diploma in Airline, Travel and Tourism Management1 year
Diploma in Gemology2 months – 1 year
Diploma in Photography1 year
Diploma in Nutrition and Dietetics1 year
Diploma in Airline, Travel and Tourism Management1 year
Diploma in Construction Management1 year
Diploma in Medical Laboratory Technology (DMLT)2 years
Diploma in Hotel Management (DHM)3 years
Diploma in Rural Healthcare1 year
Diploma in Nursing Care Assistant (DNCA)1 – 2 years
Diploma in Scriptwriting/Creative Writing1 year
Diploma in Communicative English1 year
Certificate in Digital Marketing3 – 6 months
Certificate in Home Health Aide2 – 6 months
Certificate in Photography3 months – 1 year
Certificate in General Duty Assistant2 – 6 months
Certificate in X-Ray Technician1 year

ग्रेजुएशन कैसे करें

अपनी 12वी कक्षा पूरी करने के बाद ग्रेजुएशन करना बेहद सरल हो जाता है. लेकिन ध्यान रहे, कई ऐसे सरकारी या गैर सरकारी संस्थाएं है जो एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करती है. लेकिन कुछ ऐसे भी जो मार्क्स के आधार पर भी एडमिशन प्रदान करती है.

किसी टॉप प्राइवेट कॉलेज या यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन करना चाहते है तो निम्न स्टेप्स अपनाएं:

  • टॉप यूनिवर्सिटी के एडमिशन प्रक्रिया को बारीकी से अध्ययन करे.
  • यूनिवर्सिटी के पात्रता मापदंड के अनुसार अध्ययन सुनिश्चित करे.
  • विभिन्न ग्रेजुएशन केटेगरी जैसे बीटेक के लिए 12th मैथ्स में 75% से ज्यादा अंक और आईआईटी की jee exam के मेरिट लिस्ट में आना जरूरी है
  • कुल मिलाकर अच्छे प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन के लिए 12th में 80% मार्क्स होना आवश्यक है.

कुछ बेसिक प्रक्रिया को फॉलो कर ग्रेजुएशन सरलता से कर सकते है.

Graduate होना जरुरी क्यों है?

हमारे देश में जॉब opportunities की क्या संभावनाए है इससे कोई भी बेखबर नही है. हालांकि, ये सभी जानते है कि इंडिया में जॉब लेना कितना मुश्किल काम है. और ऐसे में बिना ग्रेजुएट candidates, जॉब लेने की कोशिश करे तो आपको पता ही है कि उसकी चांसेस कितना हो सकता है. ये आप भलीभांति समझते है.

अगर दुसरे नजरिएँ से देखा जाए, तो आजकल हर बड़ी कंपनियां ज्यदातर ग्रेजुएट candidates को ही देख रही है. यानि जिस candidates के डिग्री में सामान्यतः B लगा हो, वह candidates, कंपनी के लिए सही हो सकता है.

B का मतलब ग्रेजुएट होता है जैसे; B.A, B.Com, B.C.A, B.B.A, BE, B.Tech, MBBA, B.Pharma, B.Ed, BMS, LLB, आदि.

अगर बात की जाए 12th पास candidates की तो एक ज़माने में उन्हें अच्छी नौकरी मिल जाती थी. लेकिन इस competitive वर्ल्ड में नौकरी लेना हर किसी के लिए मुश्किल हो गया है. इसलिए, आपको कम से कम ग्रेजुएट होना ही चाहिए, क्योकि आजकल अच्छी कंपनीयो में बैचलर डिग्री जरुरी हो गया है.

अवश्य पढ़े, BA क्या है कैसे किया जाता है

ग्रेजुएशन का मतलब सिर्फ डिग्री लेना नही है बल्कि करियर के दृष्टीकोण से आपको एक रास्ता प्रदान करता है. जिससे अपने खुशनुमा भविष्य का एक मजबूत प्रतिबिम्ब स्थापित किया जा सकता है. यह उच्च शिक्षा एवं करियर गाइड उपस्थित कराता है. इसलिए बेहतर भविष्य के Graduation in Hindi जैसे डिग्री से पहले ही तैयार रहे.

Graduation क्या है – FAQ

कुछ ऐसे भी प्रश्न होते है जिसे समझना अत्यंत आवश्यक होता है. यहाँ ऐसे ही कुछ चुनिन्दें प्रश्न शामिल है, जिसे आप भी पूछना चाहते है.

Q ग्रेजुएशन किसे कहते है?

उत्तर:- 12 वी के बाद किया जाने वाला कोर्स जैसे BSc, BA, आदि ग्रेजुएशन कहते है. यह केटेगरी के अनुसार अलग-अलग अवधि का होता है. कभी-कभी यह कोर्स या प्रोग्राम 3, 4 और 5 वर्ष का भी होता है.

Q. ग्रेजुएशन कब किया जाता है?

उत्तर:- इस प्रोग्राम को करने की मिनिमम अवस्था 12 वी पास होती है. लेकिन 12th के बाद कभी ग्रेजुएशन किया जा सकता है. जरुरी नही है कि 12 वी के बाद ही करे. आप दो या तिन वर्ष के बाद भी कर सकते है.

Q. ग्रेजुएशन में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

उत्तर:- ग्रेजुएशन अलग-अलग प्रोग्राम्स का एक समूह है जिसके अंतर्गत विभिन्न प्रकार के कोर्स निहित होते है. ये पूरी तरह आपके चुने गए honours पर निर्भर करता है. यदि आप BSc करते है, तो इसमें मैथ्स, biology, केमिस्ट्री आदि के अनुसार सब्जेक्ट्स होंगे.

Q. ग्रेजुएशन कितने साल की होती है?

उत्तर:- स्नातक डिग्री के अनुरूप ग्रेजुएशन की अवधि तैयार होती है. यदि आप इंजीनियरिंग, मेडिकल आदि जैसे कोर्स के साथ जाते है जो इसकी अवधि 4 वर्ष या इससे अधिक हो सकता है.

Q. ग्रेजुएशन कौन सी क्लास होती है?

उत्तर:- ग्रेजुएशन 12 th के बाद किया जाने वाला डिग्री कोर्स है जिसे Bachelor Degree भी कहा जाता है. यह एक प्रकार का प्रोफेशनल कोर्स है जिसके बाद मास्टर डिग्री कम्पलीट किया जा सकता है.

Graduation क्या है या Graduation in Hindi के सम्बन्ध में सभी आवश्यक जानकारी यहाँ प्रदान किया गया है. यदि आपको इसमें कोई संदेह हो तो कृपया हमे कमेंट करे.

14 thoughts on “Graduation क्या है और कैसे करे: योग्यता, फीस, करियर”

  1. *Sir mai IAS ka exam dena chahti hu…..to Mai science side se graduation krna chahati hu…..but ye kitne saal ka course hota hai..?.. or government college se graduation krna chahti hu….iske liy kitna fees…or kaise admission hoga…* Please btaiy….help me

    Reply
    • 5 se 10 hajar me graduation ho sakta hai iske baad aapke padhai ke kharche alag hote hai. college aap koi bhi select kar sakti hai kyonki we university se authorized hote hai.

      Reply
  2. Mai abhi 12th me hu…2022maifinal exam h mera….Mai UPSC ka exam dena chahati hu…mujhe kon si subject se graduate krna chahiye…plz 🙏 help me

    Reply
  3. Sir mai regular university se graduation kar rhi thi ki achank mera job lag gya aur Mai dono karna chah rhi hu to kya mera Ho sakta Hh regular university graduation aur job ek sath plzz

    Reply

Leave a Comment