CA क्या है और CA Kaise Bane – योग्यता, सिलेबस और एग्जाम

भारत में चार्टर्ड एकाउंटेंट्स को मान्यता देने के लिए अधिकृत वैधानिक निकाय है. जो इसके सम्बन्ध निरंतर कार्यरत है. इससे सम्बंधित तथ्यों के विषय में जैसे CA Kya Hai और CA Kaise Bane के बारे विस्तार से चर्चा करेंगे. जिससे CA बनने से सम्बंधित आवश्यक जानकारी प्राप्त हो.

यह देश में सीए प्रोफेशन के प्रबंधन में एक नियामक संस्था के रूप में भी कार्य करता है. किसी व्यक्ति को आईसीएआई का सदस्य बनने के लिए आईसीएआई द्वारा डिजाइन किए गए Course को पूरा करना अनिवार्य होता है.

एक चार्टेड अकाउंटेंट का काम में वित्त का प्रबंधन, जिसमें बैंक अकाउंट को मैनेज करना, बजट, ऑडिटिंग, बिज़नेस स्ट्रैटेजी, और टैक्सेशन आदि शामिल है. ये सभी कार्य Commerce Stream से सम्बंधित होते है. इसलिए, Commerce के Students CA के फिल्ड में ज्यादा Involve होते है.

CA कोर्स के तीन स्तर होते हैं. जो इस प्रकार है:

  • सीए फाउंडेशन,
  • CA इंटरमीडिएट, और
  • सीए फाइनल

इन परीक्षाओं के अलावा, किसी भी छात्र को 3 साल का व्यावहारिक प्रशिक्षण पूरा करना अनिवार्य होता है, जिसे ‘आर्टिकलशिप’ भी कहा जाता है.

CA Ka Matlab Kya Hota Hai या CA Kaise Bane आदि जैसे तथ्यों को विस्तार पूर्वक पूरा करने के लिए यहाँ कुछ ऐसे Points उपलब्ध है. जो CA बनने की राह सरल कर सकता है. इसलिए, CA syllabus, योग्यता, एग्जाम, आदि के विषय में ध्यानपूर्वक पढ़े.

CA क्या है | CA Kya Hota Hai

सीए (चार्टर्ड एकाउंटेंट) सम्मानजनक और चुनौतीपूर्ण करियर क्षेत्रों में से एक विशेष course है. भारत में उच्च शिक्षा के लिए CA एक अच्छा करियर विकल्प के रूप में प्रसिद्ध है. क्योंकि, इससे मिलने वाला जॉब भविष्य के लिए बेहतर होता है.

चार्टर्ड एकाउंटेंसी की स्थापना 1854 में ब्रिटेन में हुई थी. यह व्यवसाय की मुख्य गतिविधि है. अर्थात, व्यवसाय को संचालित करने का एक हुनर प्रदान करता है जिसे Course के द्वारा पूर्ण किया जाता है. भारत में, CA Course ICAI (इंडियन चार्टर्ड अकाउंटेंट्स इंस्टीट्यूट) द्वारा संचालित किया जाता है.

एक चार्टर्ड एकाउंटेंट आईसीएआई का सदस्य होता है. जो एक संगठन में एक निजी सलाहकार या लेखा विभाग में काम करता है. चार्टर्ड अकाउंटेंट विवादों, दिवालियेपन आदि के मामले में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. एक चार्टर्ड एकाउंटेंट का प्रमुख कार्य वित्तीय प्रबंधन से संबंधित और वित्तीय लेखा का परिक्षण करना होता है.

CA का फुल फॉर्म | CA Ka Full Form Kya Hota Hai

इस कोर्स का पूरा नाम बहुत प्रचलित है. क्योंकि, यह भारत के सबसे कठिन परीक्षाओं में एक है. इसलिए, CA का फुल फॉर्म के बारे समझना अनिवार्य है.

CA का फुल फॉर्म अंग्रेजी में Chartered Accountant तथा हिंदी में “अधिकारपत्रप्राप्त लेखाकार” होता है. इसे निम्न प्रकार स्मरण रखे.

CA का फुल फॉर्म हिंदी में अधिकारपत्रप्राप्त लेखाकार
CA का फुल फॉर्म अंग्रेजी में Chartered Accountant

CA Kaise Bane | How to become a CA in Hindi

इस कोर्स को सरलता से पूरा करने के लिए एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना आवश्यक होता है. लेकिन एग्जाम से पहले CA Kaise Bane के सम्बन्ध में कुछ योग्यताएं होनी आवश्यक है. तभी आप एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकते है.

जानकारी के लिए बता दें कि CA बनने के लिए आपको तीन चरणों की परीक्षा देनी होती है. और ये परीक्षाए हमारे देश के सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक होती है. इसलिए, एग्जाम की रजिस्ट्रेशन करने से पहले योग्यता, प्लानिंग और उचित शिक्षा से परिचित होना अनिवार्य है.

CA बनने के लिए आवश्यक योग्यता

Commerce, Science या Arts स्ट्रीम वाले छात्र सीए कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं. बशर्तें, छात्रों को कंप्यूटर का ज्ञान होना अनिवार्य है. क्योंकि, सभी खाते सम्बंधित कार्य कंप्यूटर की मदद से संचालित किए जाते हैं.

12वीं पास करने के बाद छात्र सीपीटी (कॉमन प्रोफिशिएंसी टेस्ट) के जरिए सीए में एडमिशन ले सकते हैं. क्योंकि, इसका एग्जाम class 12 के बाद ही कराया जाता है.

इच्छुक छात्र अपनी 10वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद परीक्षा के लिए पंजीकरण करा सकते हैं, हालांकि उन्हें 12वीं के बाद परीक्षा में शामिल होना होता है.

योग्यता

  • किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से 12 वी पास Students CA के लिए योग्य है.
  • Science, Commerce या Arts से CA किया जा सकता है.
  • 12वी में न्यूनतम 50% मार्क्स अनिवार्य है.
  • ग्रेजुएशन CA के लिए सर्वोत्तम विकल्प है.
  • Graduation में 50% अंक अनिवार्य है.

Note:-
जो वाणिज्य स्ट्रीम के साथ स्नातक उत्तीर्ण करते हैं, उन्हें अपनी 12 वीं की परीक्षा में न्यूनतम 50% कुल अंकों के साथ उत्तीर्ण करनी होती है.

Skills Required

संख्यात्मक क्षमता
तार्किक और पद्धतिगत दृष्टिकोण
सामाजिक-आर्थिक वातावरण की अच्छी समझ जिसमें संगठन संचालित होते हैं
सैद्धांतिक ज्ञान को व्यावहारिक स्थितियों में लागू करने में आवश्यक कौशल
अच्छी मौखिक और लिखित अभिव्यक्ति
विभिन्न प्रकार के लोगों से निपटने की क्षमता

योग्यता पूर्ण करने के बाद Chartered Accountant बनने के लिए एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने होते है जो इस प्रकार है.

  1. Foundation Course Or CPT
  2. Intermediate Or IPCC
  3. Articleship
  4. Final Examination

Foundation Route Exam क्लियर करे

छात्र अपनी बारहवीं कक्षा की परीक्षा के तुरंत बाद मई के महीने में फाउंडेशन परीक्षा दे सकते हैं. हलाकि, इस एग्जाम की रजिस्ट्रेशन class 10 में किया जा सकता है. लेकिन एग्जाम 12वी के बाद ही दे सकते है. CA Kaise Bane के विकल्प को पूर्ण करने के लिए Foundation Exam को क्लियर करना महत्वपूर्ण है.

Foundation Course Or CPT का Syllabus

फाउंडेशन एग्जाम का syllabus निम्न प्रकार है. CA Kaise Bane को ध्यान में रखकर एग्जाम को क्लियर करने के लिए syllabus का अध्ययन आवश्यक है.

इस सत्र में 2 खंड होते है और दोनों सत्र 100 Marks का एवं 2 घंटे की परीक्षा होती है.

Session IMarks
Section A: Fundamentals Of Accounting60 Marks
Section B: Mercantile Laws40 Marks
Session IIMarks
Section C: General Economics50 Marks
Section D: Quantitative Aptitude50 Marks

सीए फाउंडेशन को पास करने के लिए, Students को प्रत्येक विषय में न्यूनतम 40 अंक और सभी पेपरों में औसतन 50% अंक प्राप्त अनिवार्य है.

यदि Students किसी भी अंक-आधारित मानदंड को क्लियर नहीं करते है, तो Students 6 महीने बाद फिर से परीक्षा दे सकता है और एग्जाम को क्लियर करने का प्रयास कर सकते है.

अवश्य पढ़े, IPS Kaise Bane

Intermediate Or IPCC क्लियर करे

फाउंडेशन एग्जाम क्लियर करने के बाद Intermediate एग्जाम क्लियर करना होता है. इस एग्जाम में Accounting, Cost & Management Accounting अदि जैसे टॉपिक होते है. इसमें Subjective और Objective दोनों प्रकार के Questions होते है. इस एग्जाम को क्लियर करने के लिए सभी आवश्यक टॉपिक का अधययन समय के अनुसार करना अनिवार्य होता है.

यह एग्जाम दो ग्रुप में बंटा होता है जिसका टॉपिक और syllabus निचे मेंशन है.

Intermediate का Syllabus
Group 1Questions Types
Accounting100% Descriptive
Corporate & Other laws30% MCQ & 70% Descriptive
Cost & Management Accounting100% Descriptive
Taxation – Income tax law & Indirect Taxes30% MCQ & 70% Descriptive
Group 2Questions Types
Advanced Accounting100% Descriptive
Auditing & Assurance30% MCQ & 70% Descriptive
Enterprise Information Systems & Strategic Management30% MCQ & 70% Descriptive
Financial management & Economics for Finance100% Descriptive

Articleship

IPCC की परीक्षाएँ पास करने के बाद 3 साल की आर्टिकलशिप की प्रैक्टिस ट्रेनिंग के लिए आवेदन करना होता है. इन 3 वर्षों के आर्टिकलशिप में से 2 वर्ष की आर्टिकलशिप अनिवार्य रूप से एक चार्टर्ड एकाउंटेंट के अधीन कार्य करने के लिए आवश्यक है.

हालांकि, प्रशिक्षण के अंतिम वर्ष में, एक सीए Students एक चार्टर्ड एकाउंटेंट के तहत अपना प्रशिक्षण जारी रख सकता है या रोजगार में चार्टर्ड एकाउंटेंट के तहत प्रशिक्षण के लिए खुद को नामांकित कर सकता है. रोजगार में चार्टर्ड एकाउंटेंट के अधीन प्रशिक्षण को औद्योगिक प्रशिक्षण कहा जाता है.

Articleship की ट्रेनिंग पूरा करने के बाद ही CA के Final एग्जाम के लिए apply किया जा सकता है.

CA Final Exam क्लियर करे

सीए इंटरमीडिएट स्तर Exam को पास करने वाले Students सीए फाइनल के लिए उपस्थित होने के योग्य है. आर्टिकलशिप अवधि के अंतिम छह महीनों के दौरान ही चार्टर्ड एकाउंटेंट Final Exam के लिए पंजीकरण करने के लिए पात्र है.

सीए फाइनल की किताबें प्राप्त करने के लिए सीए इंटर परीक्षा के बाद सीए फाइनल कोर्स के लिए पंजीकरण किया जा सकता है.

इसे भी पढ़े,

BCA क्या होता हैMCA क्या होता है
CA Final Exam का Syllabus

यह एग्जाम दो Group में बंटा होता है और दोनों Group में 4-4 पेपर होते है. CA Final Exam की syllabus निम्न प्रकार है:

Group 1Questions Type
Paper 1: Financial Reporting100% Descriptive
Paper 2: Strategic Financial Management100% Descriptive
Paper 3: Advanced Auditing and Professional Ethics30% MCQ & 70% Descriptive
Paper 4: Corporate and Economic Laws30% MCQ & 70% Descriptive
Group 2Questions Type
Paper 5: Strategic Cost Management and Performance Evaluation100% Descriptive
Paper 6: 
Elective Paper
Risk Management
Financial Services and Capital Markets
International Taxation
Economic Laws
Global Financial Reporting Standards
Multi-disciplinary Case Study
100% Descriptive
Paper 7: Direct Tax Laws & International Taxation30% MCQ & 70% Descriptive
Paper 8: Indirect Tax Laws30% MCQ & 70% Descriptive

CA Course Fees कितनी होती है

COMPLETE CA COURSE FEES DETAILSFEES
Foundation Course Registration FeeRa. 9000
Foundation Course Examination FeeRa. 1500
Intermediate Course Registration FeeRa. 18,000
Intermediate Course Examination FeeRa. 2700
Intermediate Course Orientation Program And Training FeeRa. 14,000
CA Final ExamRa. 22,000

CA का कार्य क्षेत्र

चार्टर्ड एकाउंटेंट एक ऐसे प्रोफेशनल पद है, जिसके माध्यम से अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में काम किया जा सकता है. इसके सबसे महत्वपूर्ण कार्य क्षेत्र लेखाकर्म (Accountancy) और लेखा परीक्षा (Auditing) है. इसके अलावे वित्तीय लेखा-जोखा तैयार करना, वित्तीय सलाह देना, आदि जैसे कार्य CA का महत्वपूर्ण कार्य है.

व्यक्तियों / संगठनों के Financial Statements की समीक्षा करना
सरल से लेकर जटिल वित्तीय विश्लेषण करना
Accounts लिखना, Financial Statements तैयार करना
उत्पादन और प्रक्रियाओं से जुड़ी लागतों को निर्धारित करना
नियमों और विनियमों के आधार पर उनको निर्धारित करना
कराधान (Taxation) और अपने ग्राहकों को Tax संबंधी सलाह देना

CA की Career & Jobs

कॉमर्स स्ट्रीम के Students के लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट के रूप में करियर के दिलचस्प विकल्प उपलब्ध है. यह दिन-प्रतिदिन के आर्थिक जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. क्योंकि, यह करियर को एक नई ऊंचाई प्रदान करता है. और CA Kya Hai और CA Kaise Bane की जानकारी को पूर्ण करता है.

कोर्स पूरा होने के बाद, उम्मीदवारों को आईसीएआई द्वारा सदस्यता और प्रमाणन प्राप्त करने की आवश्यकता होती है. एक बार सदस्यता प्राप्त करने के बाद अर्थव्यवस्था के किसी भी क्षेत्र में कार्य कर सकते है.

पिछले 4-5 साल से युवा CA की मांग बढ़ रही है. केवल भारत में ही हर साल 7,500 से 10,000 नए सीए की Demand है. इससे अंदाजा लगया जा सकता है कि CA में करियर और जॉब की क्या Value है.

सीए के रूप में, आप सरकारी या सार्वजनिक सेवा उपक्रमों के साथ-साथ निजी क्षेत्र की कंपनियों में भी काम कर सकते हैं.

एक चार्टर्ड अकाउंटेंट बैंकिंग, टैक्स मैनेजमेंट, ऑडिटिंग, फाइनेंशियल अकाउंटिंग, कॉस्ट अकाउंटिंग और कंसल्टेंसी के विभिन्न क्षेत्रों में भी काम कर सकते है.

आप वित्त सलाहकार, प्रबंधक या वित्त के निदेशक और विशेष कंपनियों के वित्तीय नियंत्रक के रूप में भी काम कर सकते हैं.

CA के बाद कुछ बेहतरीन Jobs profile इस प्रकार है.

  • Banks
  • Auditing Firms
  • Finance Companies
  • Mutual Funds
  • Portfolio Management Companies
  • Investment Houses
  • Stock Broking Firms
  • Legal firms
  • Legal house
  • Patent Firms
  • Attorneys
  • Trade Mark
  • Copyright Registers

CA Ki Salary Kitni Hoti Hai

एक बार Course पूरा करने के बाद एक फ्रेशर के रूप में औसत सैलरी 50,000 से 70,000 तक होती है. कई बार सैलरी Jobs के Location और कंपनी पर भी निर्भर करता है. भारत में CA की सैलरी सबसे अधिक है जो प्रतिवर्ष औसतन 6 लाख से 9 के बिच होती है.

कुछ वर्षों के अनुभव के बाद इसी सैलरी में बड़ा इजाफा देखने को मिलता है. लगभग 5 वर्ष अनुभवी CA की सैलरी औसतन 90,000 से 2,50,000 प्रति महिना होता है जो बहुत बड़ा सैलरी पैकेज है. CA का पद उच्च सैलरी पैकेज के साथ-साथ समाज में बड़ा नाम भी देता है जो सरल जीवन व्यतीत करने के लिए सर्वोत्तम है.

इसे भी पढ़े, MBA क्या होता है

Quick Overview: CA Course Details In Hindi

कोर्स स्तरमापदंड
फुल फॉर्मचार्टर्ड एकाउंटेंट
योग्यतान्यूनतम 50-60% कुल अंकों के साथ 10+2
Course के स्तर3 स्तर
प्रवेश प्रक्रियाडायरेक्ट
परीक्षा प्रकारस्तर आधारित
औसत वार्षिक शुल्क50,000 से 3,00,000 रूपये
जॉब प्रोफ़ाइलएकाउंटेंट्स, बैंकिंग, Trade Marks एकाउंटिंग मैनेजर, ऑडिटिंग एक्सपर्ट्स, टैक्सेशन एक्सपर्ट्स आदि
औसतन प्रति महिना सैलरी25, 000 से 2,50,000 रूपये
औसत वार्षिक वेतन5,00,000 से 25,00,000 लाख रुपये

CA Kya Hai और CA Kaise Bane की सभी आवश्यक जानकारी उपलब्ध है जो CA बनने में सहायता करता है. साथ-साथ CA के लिए योग्यता, Syllabus, सैलरी, फीस आदि भी मौजूद है जो CA की पूरी जानकारी प्रदान करता है.

इसे भी पढ़े,

B.Ed कैसे करेPolytechnic कैसे करे
BPSC Kya Hai और BPSC कैसे करेIIT Kya Hai और कैसे करें

Leave a Comment