Polytechnic क्या है एवं कोर्स पूरा करने के फायदे की सम्पूर्ण जानकारी

Polytechnic Course in Hindi

पॉलिटेक्निक शिक्षा एवं कैरियर की नजर से महत्वपूर्ण क्यों है, यह प्रश्न, इस कोर्स को करने के इच्छुक उम्मीदवार अक्सर पूछते हैं.  दरअसल, पॉलिटेक्निक जूनियर इंजीनियर बनने का एक अवसर प्रदान करता है जिसमें शिक्षा की प्रमुखता सबसे अधिक होती है.

कोर्स के इच्छुक उम्मीदवार 10वीं या 12वीं पास करने के बाद पॉलिटेक्निक के लिए योग्य होते हैं परंतु कोर्स के नियम एवं शर्तें संस्थान, इंस्टिट्यूट/ कॉलेज आदि के अनुसार तय होता है इसलिए यह आवश्यक हो जाता है कि इस कोर्स से संबंधित सभी तरह की जानकारी पहले सुनिश्चित कर लें. 

ज्यादातर विद्यार्थी पॉलिटेक्निक जैसे कोर्स के साथ अपना सुनहरा करियर बनाना चाहते हैं जिसका मुख्य वजह कम समय  एवं कम पैसे में बेहतर कैरियर विकल्प है.

इंजीनियर केवल बी टेक एवं एम टेक करके ही नहीं बल्कि  पॉलिटेक्निक करके भी बना जा सकता है.

पर बेहतर कैरियर बनाने के लिए पॉलिटेक्निक से संबंधित पर्याप्त जानकारी होना आवश्यक है इसलिए पॉलिटेक्निक क्या है, पॉलिटेक्निक के लिए योग्यता,  पॉलिटेक्निक एडमिशन प्रक्रिया,  पॉलिटेक्निक करने के फायदे, 10वीं या 12वीं के बाद पॉलिटेक्निक कोर्स,  पॉलिटेक्निक कोर्सेज, आदि की संपूर्ण जानकारी यहां आपको प्राप्त होंगे.

Polytechnic क्या है (Polytechnic in Hindi)

पॉलिटेक्निक एक लोकप्रिय प्रोफेशनल डिप्लोमा कोर्स है जो 10वीं और 12वीं के बाद क्रमशः 2 से 3 वर्ष का होता है. यह एक ऐसा कोर्स है जो दसवीं के बाद भी इंजीनियरिंग के क्षेत्र में खुशनुमा कैरियर बनाने का अवसर प्रदान करता है. 

सामान्यतः पॉलिटेक्निक दो शब्दों के मिलाप से तैयार होता है,  Poly यानी संस्थान और Technic यानी तकनीक अर्थात एक ऐसा संस्थान जहां तकनीकी सम्बन्धी अध्ययन मुहैया कराया जाए उसे ही बहु तकनीकी संस्थान या polytechnic इंस्टीट्यूट कहा जाता है.

दुसरे शब्दों में, पॉलिटेक्निक डिप्लोमा प्रोग्राम अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद द्वारा संचालित और अनुमोदित पूर्ण तकनीकी डिप्लोमा कोर्स है.

लेकिन इस कोर्स को विशेष रूप से संबंधित विषय के व्यावहारिक पहलुओं और मूलभूत बातें सीखने और समझने में मदद करने के लिए विशेष रूप से तैयार किया जाता है.

Polytechnic के लिए योग्यता (Qualification for Polytechnic in Hindi)

Polytechnic in Hindi

पॉलिटेक्निक में विभिन्न प्रकार के कोर्सों का संचालन किया जाता है जिसमे भिन्न-भिन्न योग्यता की आवश्यकता होती है.

इस कोर्स की न्यूनतम योग्यता हाईस्कूल और अधिकतम स्नातक हो सकता है, आप अपनी योग्यता के अनुसार पॉलिटेक्निक से संबंधित किसी भी डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश प्राप्त कर सकते है.

सामान्यतः  किसी विषय से 10वीं या 12वीं और ग्रेजुएट पास उम्मीदवार पॉलिटेक्निक के प्रवेश परीक्षा के लिए योग्य होते हैं और बेहतर करियर के निर्माण में प्रथम चरण प्राप्त कर सकते हैं.

  • 10वी और 12वी से पॉलिटेक्निक संभव
  • ग्रेजुएशन से भी संभव
  • कम से कम 35% मार्क्स और साथ ही साथ मैथ्स एवं भौतिक अनिवार्य
  • अंग्रेजी स्किल
  • ग्राफिक स्किल्स

अवश्य पढ़े

B.Ed से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी

MBA कोर्स के लिए आवश्यक योग्यता

PhD क्या है और कैसे करे

Polytechnic कोर्स (Polytechnic Course in Hindi)

पॉलिटेक्निक कोर्स की फेमस होने के पीछे इसके अंतर्गत आने वाले कोर्स हैं जो इसे बेहद खास बनाते हैं,  इस इंडस्ट्री में कुछ विशेष प्रकार के सब्जेक्ट कोर्स हैं जो पॉलिटेक्निक को उच्च लेवल पर स्थापित करता है. 

  • ऑटोमोबाइल इंजिनियरिंग
  • पैकेजिंग टेक्नॉलजी
  • इलेक्ट्रिकल ऐंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजिनियरिंग
  • इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड कम्यूनिकेशन इंजिनियरिंग
  • अप्लाइड इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड इंस्ट्रूमेंटेशन
  • आर्किटेक्चर कोर्सेज
  • कमर्शल ऐंड फाइन आर्ट
  • मकैनिकल इंजिनियरिंग
  • सिविल इंजिनियरिंग
  •  टेक्सटाइल टेक्नॉलजी, केमिकल इंजिनियरिंग
  • केमिकल इंजिनियरिंग इन प्लास्टिक ऐंड पॉलिमर्स
  • पेट्रोकेमिकल्स इंजिनियरिंग
  • एयरक्राफ्ट मेंटिनेंस इंजिनियरिंग
  • मास कम्यूनिकेशन 
  • इंटीरियर डिजाइनिंग
  • होटल मैनेजमेंट
  • कंप्यूटर इंजिनियरिंग
  • इन्फर्मेशन टेक्नॉलजी
  • माइनिंग इंजिनियरिंग
  • मेटलॉर्जिकल इंजिनियरिंग
  • लेटर टेक्नॉलजी
  •  प्रिटिंग टेक्नॉलजी
  • फुटवियर टेक्नॉलजी

पॉलिटेक्निक कोर्स फीस (Polytechnic Course Fees in Hindi)

पॉलिटेक्निक एक लोकप्रिय कोर्स होने के वजह से इसका प्रचलन पहले की तुलना में ज्यादा है इसलिए इसकी  लोकप्रियता को ध्यान में रखते हुए,  इस कोर्स की फीस इंस्टिट्यूट या संस्थान द्वारा निर्धारित किया जाता है.

 प्राइवेट संस्थान में,  पॉलिटेक्निक के  न्यूनतम फ़ीस 20000 से 50000 प्रतिवर्ष होता है जबकि अधिकतम कोर्स फीस 35000 से 60000 के बीच होता है. 

पॉलिटेक्निक एंट्रेंस एग्जाम पास करने के बाद सरकारी संस्थान में पॉलिटेक्निक की  न्यूनतम फ़ीस 6000 से 30000 प्रति वर्ष तथा अधिकतम फ़ीस  20000 से 70000 प्रतिवर्ष होता है. 

पॉलिटेक्निक के बाद उच्च शिक्षा (Higher Education after Polytechnic)

पॉलिटेक्निक की डिग्री प्राप्त करने के बाद उम्मीदवारों के पास बहुत सारे विकल्प उपलब्ध हो जाते हैं जैसे इंजीनियरिंग के क्षेत्र में उच्च शिक्षा या बेहतर  करियर विकल्प का तलाश. 

पॉलीटेक्निक डिप्लोमा धारकों के लिए सबसे लोकप्रिय विकल्प, इंजीनियरिंग में, बी.टेक, M.Tech या बीई का चयन करना है.

इसके लिए उम्मीदवारों को कॉलेज और प्रोग्राम के लिए संबंधित इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा में शामिल होना अनिवार्य है. 

कई इंजीनियरिंग कॉलेज डिप्लोमा पॉलीटेक्निक धारकों को सीधे दूसरे वर्ष में इंजीनियरिंग प्रोग्राम में शामिल होने के अवसर प्रदान करते हैं.

साथ-ही साथ, पॉलिटेक्निक डिप्लोमा धारकों के पास तीन साल के नियमित ग्रेजुएशन कोर्स में शामिल होने का विकल्प भी मौजूद होता है. 

यह विकल्प गैर-इंजीनियरिंग प्रोग्राम्स, बीएससी, बीए, बीसीए और बीकॉम जैसे तीन साल के रेगुलर ग्रेजुएशन प्रोग्राम्स  की अपेक्षा डिप्लोमा धारकों के लिए विशेष रूप से लाभदायक है.

पॉलीटेक्निक करने के फायदे 

  • पॉलीटेक्निक की डिग्री 
  • तत्काल नौकरी पाने का अवसर
  • जूनियर इंजीनियर और जेई, लोको पायलट, तकनीकी सहायक और कई अन्य पदों पर आवेदन करने का अवसर
  • बी.टेक के सेकेंड ईयर में डायरेक्ट प्रवेश पाने का अवसर
  • कौशल के साथ-साथ सफल करियर बनाने का दक्षता 
  • कम लागत और समय की बचत
  • इंजीनियरिंग की डिग्री में शामिल होने का आसान तरीका है

करियर के अवसर (Career Opportunity after Polytechnic in Hindi)

10 वीं पास करने के बाद पॉलिटेक्निक उम्मीदवार को आर्थिक समस्याओं से जूझ रहे छात्रों को यह रोमांचक और आकर्षक करियर विकल्प प्रदान करता है.

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा धारकों के लिए एक और उत्कृष्ट करियर विकल्प स्वं का रोज़गार है. 

पॉलिटेक्निक संस्थानों द्वारा प्रदान किए गए डिप्लोमा कोर्सेज विशेष रूप से व्यावहारिक सम्बन्धी पहलुओं पर छात्रों को प्रशिक्षित एवं तैयार करते हैं.

पॉलिटेक्निक कोर्स करने के बाद  खुद का व्यवसाय शुरू करने के योग्य होते है जैसे, कंप्यूटर इंजीनियरिंग में डिप्लोमा रखने वाले छात्र आसानी से कंप्यूटर की मरम्मत के लिए एक व्यवसाय शुरू कर सकते हैं, या ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा रखने वाला कोई भी छात्र ऑटोमोबाइल मरम्मत स्टोर शुरू कर सकता है.

Conclusion

Polytechnic Course Details in Hindi में कोर्स से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकरी प्रदान किया गया है. पॉलिटेक्निक भातर में सबसे लोकप्रिय डिप्लोमा कोर्स है जिसे ज्यादातर 10वी और 12वी के विद्यार्थी करना पसंद करते है. कभी भी और कही भी इस कोर्स में एडमिशन लेने से पहले पॉलिटेक्निक से सम्बंधित प्रयाप्त जानकारी प्राप्त कर ले, उसके इंस्टीट्यूट और कॉलेज सेलेक्ट करे.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *