BCA क्या है और कैसे करे | BCA Course Details in Hindi

BCA Course Details in Hindi

बीसीए इन हिंदी, तेजी से बदल रहे इस डिजिटल युग में सर्वोत्तम कैरियर प्रदान करने वाला कोर्स है. BCA एक्सपर्ट के अनुसार पूरा विश्व धीरे-धीरे विट्लाइज हो रहा है और दुनिया डिजिटल उपकरण के पीछे भाग रही है जिसके वजह से कंप्यूटर के फील्ड में करियर की अपॉर्चुनिटी दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है.

डिजिटल युग एक क्रांति की तरह है जो कभी खत्म नहीं होगा परिणाम स्वरूप बीसीए इस फिल्ड में सर्वोत्तम करियर प्रदान करता है जिसे पूरा कर एक बेहतर कैरियर का नींव तैयार किया जा सकता है. 

बीसीए एक प्रकार का माध्यम है जिसके द्वारा कंप्यूटर की दुनिया में अपना एक अनोखा पहचान बनाया जा सकता है. यह सिर्फ केरियर की नजर से ही महत्वपूर्ण नहीं है बल्कि व्यक्तिगत तौर पर भी बहुत कारगर है. 

बीसीए किए हुए उम्मीदवार कैरियर के अलावा डिजिटल वर्ल्ड से जुड़े व्यक्तिगत तौर पर सभी कार्य आसानी से कर सकते हैं, दूसरे की हस्तक्षेप की आवश्यकता नहीं. अतः BCA इस दुनिया का अनूठा कोर्स है जो सीधे तौर पर आपको इस डिजिटल वर्ल्ड से जोड़ता है इसलिए आवश्यक है कि आप भी इस कोर्स के द्वारा अपना सुनहरा भविष्य बनाएं. 

बीसीए कोर्स से संबंधित जानकारी होना आवश्यक है इसलिए आज की पोस्ट में आप  निम्न जानकारियाँ प्राप्त करेंगे जो कोर्स के दौरान एक नई पहचान देगा जैसे, BCA क्या है, BCA कोर्स कैसे करे, BCA Course Syllabus in Hindi, BCA कहाँ से करे, बीसीए कोर्स फीस, बीसीए में करियर, बीसीए की तैयारी कैसे करे, बीसीए में करियर कैसे बनाए, BCA सब्जेक्ट्स आदि 

BCA क्या है और कोर्स करना जरुरी क्यों है?

बीसीए एक अंडर ग्रेजुएट प्रोफेशनल डिग्री कोर्स है जो 12वीं के बाद 3 वर्ष का होता है. BCA लगभग कंप्यूटर साइंस कोर्स  के समान ही होता है. कंप्यूटर साइंस और बीसीए कोर्स के बीच का अंतर 30 से 40% तक ही होता है.

इस कोर्स के अंतर्गत कंप्यूटर साइंस के मुख्य टॉपिक्स,  कंप्यूटर एप्लीकेशन, और कंप्यूटर भाषा पर विशेष ध्यान केंद्रित कराया जाता है जिसका मुख्य वजह कंप्यूटर में होने वाली सभी गतिविधियों पर सरलता से नजर बनाया जा सके, होता है.

कंप्यूटर के ट्रेंडिंग कोर्स के वजह से बीसीए कोर्स युवाओं की पहली पसंद बना हुआ है. क्योंकि अधिकांशतः यह कोर्स वैसे टोपीक को कवर करता है जो कंप्यूटर नेटवर्किंग, कंप्यूटर भाषा, वेब डेवलपिंग आदि के महत्वपूर्ण अंग होते हैं.

यहां तक  दैनिक जीवन में प्रयोग होने वाले  टॉपिक भी शामिल होते हैं जैसे वेबसाइट डिजाइनिंग, ग्राफिक डिजाइनिंग आदि.  इसलिए बीसीए कोर्स का महत्त्व अधिक हो जाता है.

BCA करने के फायदे (BCA Course befefits in hindi)

  • डिजिटल वर्ल्ड में (Compurter के फिल्ड) ग्रेजुएशन प्रोफेशनल डिग्री
  • उच्चतम शिक्षा का मौका, जैसे MCA, MBA, P.Hd आदि
  • सुनहरा करियर
  • IT सेक्टर में करियर Opportunity
  • अच्छा सैलरी पैकेज
  • कोम्पुर्टर का व्यक्तिगत ज्ञान

BCA का Full Form (हिंदी एवं अंग्रेजी में)

जिस प्रकार बीसीए एक आकर्षक कोर्स है ठीक उसी प्रकार इस कोर्स का फुल फॉर्म भी आकर्षक है.  BCA का अंग्रेजी में फुल फॉर्म Bachelor of Computer Application होता है और हिंदी में “कंप्यूटर अनुप्रयोग में स्नातक” होता है.

  • BCA= Bachelor of Computer Application
  • BCA= कंप्यूटर अनुप्रयोग में स्नातक

BCA के लिए आश्यक योगता (Required Qualification for BCA in Hindi)

साइंस, कॉमर्स, और आर्ट्स, किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास किए हुए विद्यार्थी BCA कोर्स के लिए योग्य होते हैं बशर्ते 12वीं के रिजल्ट में कम से कम 45%  मार्क्स हो. इस कोर्स के लिए किसी स्पेसिफिक स्ट्रीम की आवश्यकता नहीं होती है. 

किसी रजिस्टर्ड बोर्ड से 12वीं पास के किए हुए विद्यार्थी  बीसीए कोर्स 3 वर्ष में आसानी से पूरा कर सकते हैं. व्यक्तिगत तौर पर उम्मीदवार के अंदर सोचने, समझने,  और कुछ नया करने कि साहस होनी चाहिए. वैसे उम्मीदवार बीसीए में अपना सुनहरा भविष्य स्थापित कर सकते हैं.

सरकारी और गैर सरकारी संस्थान बीसीए में एडमिशन एंट्रेंस एग्जाम और मार्क्स दोनों के आधार पर सुनिश्चित करती है इसलिए यह सुनिश्चित करना आवश्यक हो जाता है कि कौन सी संस्थान किस आधार पर एडमिशन लेती है. 

  • क्रिएटिव माइंड
  • 12th में कम से कम 45% मार्क्स होने चाहिए 
  • मैथमेटिक्स आवश्यक है 
  • बेसिक कंप्यूटर की जानकारी 
  • अंग्रेजी आवश्यक है 

BCA कोर्स फ़ीस (BCA Course Fees Details in Hindi)

बीसीए की कोर्स फीस  सरकारी और गैर सरकारी संस्थान में अलग-अलग होते हैं क्योंकि इसकी फीस संस्थान के फैसिलिटी के अनुसार तय किया जाता है कि कौन सी संस्थान किस प्रकार की फैसिलिटी प्रदान करती है.

सामान्यतः गैर सरकारी संस्थान की कोर्स फीस सरकारी संस्थान से ज्यादा होती है जिसका मुख्य वजह संस्थान की सिलेबस,  फैसिलिटी और शिक्षा होती है.

 बीसीए की न्यूनतम कोर्स फीस प्राइवेट संस्थान में 50 हजार से 2 लाख के बीच और अधिकतम 2 लाख से 10 लाख तक होता है जबकि सरकारी संस्थान कि यहीं फीस लगभग 20 हजार से 40 हजार के बीच होता है.

BCA की सिलेबस (BCA Syllabus in Hindi)

इस कोर्स में वर्ष के अनुसार सिलेबस अलग-अलग होते हैं यानि प्रथम वर्ष में अलग, द्वितीय वर्ष में अलग और तृतीय वर्ष में कुछ अलग. 

इसलिए अस्पष्ट नहीं पर BCA की कॉमन सिलेबस नीचे दिया जा रहा है जिससे आपकी कंसेप्ट क्लियर हो जाएगा कि बीसीए कोर्स में कौन सी सिलेबस को कवर किया जाता है.

  • Visual Basic
  • System Analysis & Design
  • Organizational Behavior
  • C Programming
  • Computer Fundamentals
  • Computer Laboratory & Practical Work
  • Data Structure
  • Database Management
  • Programming using PHP
  • Java
  • Operating System
  • System Analysis & Design
  • HTML
  • Networking
  • World wide web
  • Advanced c language programming
  • Database management
  • Mathematics
  • Software Engineering
  • Object-Oriented  Programming Using C++
  • Oracle
  • Web  Scripting
  • Development.

 सिलेबस वर्ष के अनुसार अलग-अलग हो सकते हैं इसलिए अधिक जानकारी के लिए ऑफिशियल वेबसाइट से जानकारी प्राप्त करें.

अवश्य पढ़े

B.Sc में करियर कैसे बनाए

B.A करना क्यों महत्वपूर्ण है

B.Com करने के फायदे

12th Arts के बाद क्या करे

करियर विकल्प (Career Opportunity After BCA in Hindi)

सरकारी और गैर सरकारी कंपनियां में बीसीए डिग्री धारको के लिए बहुत सारे वैकेंसी निकलती रहती है.

बीसीए कोर्स पूरा करने के बाद उम्मीदवार इन कंपनियों में एक अच्छे पैकेज पर नौकरी पा सकते हैं.  बहुत सारे विद्यार्थी नौकरी के बजाय इंटर्नशिप पर जाना पसंद करते हैं.

जिसका मुख्य उद्देश्य और अधिक तजुर्बा पाना होता है जिसका फायदा उन्हें बाद में मिलता है क्योंकि एक एक्सपीरियंस उम्मीदवार को फ्रेशर से ज्यादा सैलरी मिलती है. 

एक्सपर्ट के अनुसार बीसीए कोर्स पूरा करने के तुरंत बाद उम्मीदवार को इंटरशिप करना चाहिए क्योंकि नॉलेज के साथ-साथ एक्सपीरियंस जल्दी मिलती है. 

बीसीए कोर्स पूरा करने वाले उम्मीदवार इन प्रसिद्ध जॉब प्रोफाइल से नौकरी कर सकते हैं और बेहतर सैलरी पैकेज भी पा सकते हैं.

  • Accounting Dept
  • Insurance Companies
  • Academic Institutions
  • Information system manager
  • Software Developer
  • Software Publisher
  • Software Developer or Software Publisher
  • System Administrator
  • Teacher or Lecturer in any organization or institute
  • Stock Markets
  • Banking Sector
  • Finance Manager
  • Marketing Manager
  • Business Consultant
  • Accounting Dept
  • Insurance Companies
  • Academic Institutions
  • Web Designing Companies
  • Systems Management Companies
  • Software Developing Companies
  • E-Commerce & Marketing Sector
  • Computer Programmer
  • Computer System Analyst
  • Database Administration

यह कुछ प्रसिद्ध जॉब प्रोफाइल हैं जिस पर उम्मीदवार BCA करने के बाद जॉब करना पसंद करते हैं.

इसे भी पढ़े,

MBA कैसे करे पूरी जानकारी

फैशन डिजाइनिंग कोर्स क्या है और कैसे करे

होटल मैनेजमेंट कोर्स जानकारी

ट्रेवल एंड टूरिज्म क्या है

BCA करने के बाद सैलरी पैकेज 

IT सेक्टर भारत का सबसे पॉपुलर इंडस्ट्री है इसमें करियर की ग्रोथ सबसे अधिक है इसलिए BCA किए हुए उम्मीदवार को आईटी सेक्टर में नौकरी आसानी से मिल जाता है. भारत टॉप आईटी सेक्टर होने के साथ-साथ इस फिल्ड में ज्यादा जॉब देने वाला इंडस्ट्री भी है. 

 इसलिए बीसीए धारकों को  बैचलर डिग्री पूरा करने के बाद आईटी सेक्टर में आसानी से जॉब मिल जाता है. फ्रेशर लेवल पर अनुमानित सैलरी 8000 से 16000 के बीच होता है जबकि एक्सपीरियंस लेवल पर अनुमानित सैलरी 20000 से 60000 तक होता है.

सैलेरी पैकेज कंपनी के स्ट्रक्चर पर भी निर्भर करता है कि कंपनी कौन सी सर्विस प्रोवाइड करती है अगर Google, Microsoft, Facebook, IBM आदि की बात की जाए तो इनकी सैलरी ऊपर बताया गए सैलरी से,  2 से 3 गुना अधिक भी हो सकते हैं.

  • फ्रेशर लेवल पर अनुमानित सैलरी पैकेज= 8 हजार से 16 हजार तक
  • एक्सपीरियंस लेवल पर अनुमानित सैलरी = 20 हजार से 60 हजार तक

Conclusion

BCA कोर्स डिटेल्स इन हिंदी, पोस्ट केवल जानकारी प्रदान करने के उदेश्य था, किसी भी इंस्टीट्यूट पर संस्थान में एडमिशन लेने से पहले उस इंस्टिट्यूट और संस्थान के बारे में प्रयाप्त जानकारी प्राप्त अवश्य कर ले. BCA कोर्स इस इस डिजिटल युग का एक हिस्सा है इसलिए इस कोर्स में करियर के चांसेस अधिक है.

आप इसमें अपना खुशनुमा करियर बना सकते है, BCA से सम्बंधित जानकारी आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके अवश्य बताए.


One thought on “BCA क्या है और कैसे करे | BCA Course Details in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *