Advertisements

IPS Kaise Bane | योग्यता, एग्जाम, Syllabus, और सैलरी

आज की तारीख में अधिकांश युवाओं का ख्वाब होता है कि वह IPS Kaise Bane. क्योंकि आईपीएस ऑफिसर,भारत के प्रशासनिक व्यवस्था में एक ऊंचा स्तर का अधिकारी होता है, जिसका प्रमुख काम देश और राज्य के कानून व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने में अपनी एक अहम भूमिका निभाना होता है.

आईपीएस अधिकारी बनना उतना आसान नहीं है जितना लोग समझते हैं. इसकी परीक्षा सबसे कठिन मानी जाती है और बहुत ही कम लोग हैं जो उनकी परीक्षाओं को पास कर कर आईपीएस अधिकारी बन पाते हैं.

IPS Officer बनने के लिए सही प्लानिंग और मार्गदर्शन के साथ दिन-रात कठिन मेहनत करना होता है. हालांकि, ये इतना भी मुश्किल नही है. अगर IPS बनने का जिद मन में हो, तो सब कुछ मुमकिन है.

अब आप लोगों के मन मे सवाल आएगा कि आखिर IPS kaise bane, योग्यता क्या होगी, कौन-कौन से एग्जाम देने होंगे, सैलरी कितनी मिलेगी, आदि. ऐसी सभी प्रश्नों का जवाब यहाँ दिया गया है जिसके माध्यम से IPS बनने की राह सरल हो सकती है.

IPS क्या है | IPS Officer Kya Hota Hai

Indian Police Service यानि IPS भारत सरकार की तीन अखिल भारतीय सेवाओं IRAS , IAS, IFS में से एक है. अर्थात, IPS अपने आप में केवल एक पद है जो राज्य पुलिस और सभी भारतीय केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के कर्मचारियों को बल प्रदान करता है.

अवश्य पढ़े, IAS कैसे बने

इस पद की स्थापना 1948 में भारत सरकार द्वारा की गई. जिसकी कैडर कंट्रोलिंग अथॉरिटी गृह मंत्रालय (Home Ministry) के आधीन होती है. अर्थात, गृह मंत्रालय को आईपीएस अधिकारियों के कैडर को नियंत्रित करने के लिए अधिकृत किया गया है.

आईपीएस ऑफिसर मुख्यतः कानून- व्यवस्था को बनाए रखने, दुर्घटनाओं से बचने, निपटने, कुख्यात अपराधियों और अपराध को रोकने, एवं यातायात प्रबंधन को सुचारू रूप से बनांए रखने के लिए जिम्मदार होते है.

एक IPS ऑफिसर अपने राज्य का Director General के साथ-साथ केंद्र सरकार में एक IPS officer, CBI, IB और RAW का Director भी बन सकता है. इन तथ्यों से सम्बंधित और भी जानकारी अनिवार्य है जिसे निचे दिया गया है.

IPS का फुल फॉर्म क्या होता है

IPS full form अंग्रेजी में Indian Police Service तथा हिंदी में भारतीय पुलिस सेवा होता है. फुल फॉर्म के साथ-साथ इस पद की अहिमियत भारत में सबसे अधिक है. इसलिए, Students IPS का फुल फॉर्म सबसे अधिक पूछा जाता है.

  • आईपीएस का फुल फॉर्म हिंदी में = “भारतीय पुलिस सेवा”
  • IPS फुल फॉर्म अंग्रेजी में = Indian Police Service

IPS Kaise Bane | IPS Officer Kaise Bane

आईपीएस अधिकारी बनने के लिए आपको निम्नलिखित प्रकार के योग्यताओं के मापदंड को पूरा करना होगा जिनका विवरण आपको नीचे बिंदु अनुसार दिया गया है.

  • 12वीं एग्जाम किसी भी सब्जेक्ट से पास करें
  • अपनी ग्रेजुएशन किसी भी कोर्स से पूरी करें
  • UPSC में आईपीएस एग्जाम के लिए अप्लाई करें
  • UPSC में प्रीलिमिनरी एग्जाम को क्लियर करें
  • अब मेन्स एग्जाम को भी क्लियर करें
  • इंटरव्यू भी क्लियर करना करे
  • मेडिकल टेस्ट क्लियर करे
  • अंत में LBSNAA में आईपीएस की ट्रेनिंग करें
  • अधिक जानकारी के लिए UPSC ऑफिसियल वेबसाइट जाए. www.upsc.gov.in

IPS ऑफिसर बनने में प्रयोग होने वाले योग्यता, उम्र सीमा, आदि को निचे वर्णित किया गया है.

शैक्षणिक योग्यता

सिविल सर्विस एग्जाम की आईपीएस परीक्षा में आवेदन करने के लिए आवेदक का किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक (Graduation) होना चाहिए. जो स्टूडेंट्स अंतिम वर्ष के रिजल्ट का इंतज़ार कर रहे है वे भी इस परीक्षा में आवेदन करने के पात्र है.

  • IPS बनने की न्यूनतम योग्यता ग्रेजुएशन है.
  • किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन किए उम्मीदवार आईपीएस के लिए मान्य होते है.
  • ग्रेजुएशन में न्यूनतम मार्क्स का कोई नियम नहीं है. अर्थात, केवल ग्रेजुएशन पास उम्मीद्वार
  • IPS बनने के लिए UPSC CSE यानि यूपीएससी सिविल सर्विस एग्जाम देना अनिवार्य है.
  • भारत के ग्रेजुएट उम्‍मीदवार IPS परीक्षा दे सकते हैं.
  • एग्जाम में एक ऑप्शनल सब्जेक्ट चुनना अनिवार्य है.
  • Creative Mind अनिवार्य

राष्ट्रीयता

आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए आवेदक का भारतीय नागरिक होना अनिवार्य है.

BBA क्या हैITI क्या है
12th के बाद करियर आप्शनMBA क्या है

IPS के लिए उम्र सीमा

आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए न्यूनतम आयुसीमा 21 वर्ष और अधिकतम आयुसीमा 32 वर्ष होना अनिवार्य है. तथा आरक्षित वर्ग के छात्रों को उम्र सीमा में छूट भी प्रदान की जाती है, जो इसक प्रकार है.

IPS एग्जाम कितनी बार दे सकते है.

वर्ग       उम्र सीमाप्रयास
जनरल21-32 साल6 बार
ओबीसी21-35 साल (+3 साल की राहत)9 बार
SC / ST21-37 साल (+5 साल की राहत)कोई सीमा नहीं है

IPS बनने के लिए शारीरिक योग्यता क्या है

कद (Height) – पुरुषों की हाइट कम से 165 सेमी (5 फुट 5 इंच) और स्त्रियों की हाइट कम से कम 150 सेमी (4 फुट 12 इंच) होनी चाहिए.

छाती (Chest) – पुरुष उम्मीदवारों की छाती कम से कम 84 सेमी होनी चाहिए और महिला उम्मीदवार के लिए छाती 79 सेमी होनी चाहिए.

नेत्र दृष्टि (Eye Sight) – स्वस्थ आंखों का विज़न 6/6 या 6/9 होना चाहिए और कमजोर आंखों का विज़न  6/12 या 6/9 होना चाहिए. द्विनेत्री दृष्टि आवश्यक है. आँखो पर दूर के नंबर -4.00D से ज़्यादा नहीं होने चाहिए और नज़दीक के नंबर +4.00D से ज़्यादा नहीं होने चाहिए.

Physical CriteriaRequirement
पुरुष की ऊंचाई165 सेमी (5 फुट 5 इंच)
स्त्री की ऊंचाई150 सेमी (4 फुट 12 इंच)
पुरुस की छाती 84 सेमी
स्त्री की छाती79 सेमी
नेत्र दृष्टिआंखों का विज़न 6/6 या 6/9
द्विनेत्री दृष्टि-4.00D से +4.00D

IPS सिलेबस क्या है

आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए आपको निम्नलिखित तीन चरणों को क्लियर करना आवश्यक होता है. तभी आप आईपीएस ऑफिसर बन पाएंगे जिनका विवरण नीचे बिंदु अनुसार दिया गया है.

  • प्रारंभिक परीक्षा (प्रिलिम्‍स)
  • मुख्य परीक्षा
  • साक्षात्कार

इन तीनो परीक्षाओं में सफल होने के बाद IPS का पद प्रदान किया जाता है. ये परीक्षाएँ निम्न प्रकार होती है.

प्रारंभिक परीक्षा क्लियर करे

प्रारंभिक परीक्षा में 200-200 अंकों के दो प्रश्न पत्र होते हैं, इस परीक्षा में तर्क और विश्लेषणात्मक से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है. प्रारंभिक परीक्षा के दोनों प्रश्न पत्रों में ऑब्जेक्टिव टाइप  के प्रश्न पूछें जाते है. 

इस परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा में सम्मिलित किया जाता है. इसलिए आप इस परीक्षा की तैयारी अच्छी तरह से करें.

  • इसमें बहु विकल्प वाले प्रश्न पूछे जाते है.
  • इसमें 200-200 नंबर के दो पेपर होते हैं.
  • एक सामान्य अध्ययन और दूसरा सिविल सेवा योग्यता का पेपर होता है.
  • यह 2-2 घंटे में पूरे करने होते हैं. इसमें माइनस मार्किंग होती है
प्रारंभिक परीक्षा का सिलेबस

पेपर – 1

  • विश्‍व का भूगोल
  • ,भारतीय राजतंत्र और गवर्नेंस (संविधान, पॉलिटिकल
  • सिस्‍टम, पंचायती राज, पब्लिक पॉलिसी), भारतीय
  • इतिहास और भारतीय राष्‍ट्रीय आंदोलन, 
  • आर्थिक और सामाजिक विकास (सस्‍टेनेबल डेवलपमेंट, गरीबी, जनसंख्‍या)
  • इनवायरमेंटल इकोलॉजी
  •  बायो-डायवर्सिटी
  •  क्‍लाइमेट चेंज और जनरल साइंस जैसे विषयों से ऑब्‍जेक्टिव
  • राष्‍ट्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय करंट अफेयर्स

पेपर – 2

  • जनरल मेंटल एबिलिटी, बेसिक न्‍यूमरेसी और डेटा
  • इंटरप्रिटेशन (चार्ट, ग्राफ, टेबल), रीजनिंग और एनालिटिकल एबिलिटी
  •  कॉम्प्रिहेंशन, इंटरपर्सनल स्किल्‍स, डिसिजन मेकिंग और प्रॉब्‍लम सॉल्विंग

मुख्य परीक्षा क्लियर करे

मुख्य परीक्षा, प्रारंभिक परीक्षा से जटिल होती है. इसमें लिखित परीक्षा के साथ ही साक्षात्कार (Interview) भी लिया जाता है. मुख्य परीक्षा में कुल 9 पेपर होते है. जिन्हें दो भागों में विभाजित किया गया है, क्वालीफाइंग पेपर और मेरिट पेपर के रूप में.

क्वालीफाइंग पेपर- इसमें 2 पेपर होते है (1st And 2nd Paper) दोनों पेपर 300-300 अंकों के होते है, इसके अंक चयन के समय नहीं जोड़े जाते है.

मेरिट पेपर – इसमें 7 पेपर होते है, सभी 250-250 अंकों के होते है, यानी सभी पेपर कुल 1750 अंकों के होते

मुख्य परीक्षा के सिलेबस

पेपरTopicविषयअंक
पेपर AQualifying सविधान को आठवी सूची में शामिल किसी एक भारतीय भाषा का चुनाव 300
पेपर BQualifying अंग्रेजी ( English ) 300
पेपर 1Essay भर्तिया विरासत और संस्कृति ,इतिहास ,भूगोल 250
पेपर 2जनरल स्‍टडीज़ – I गवर्नेंस संविधान ,राजतन्त्र ,सामाजिक न्याय ,और अन्त्रस्त्रिया सम्बन्ध 250
पेपर 3जनरल स्‍टडीज़ – II टेक्नोलॉजी इकोनॉमिक डेवेलोपेमेंट ,सुरक्षा और आपदा प्रबंधन 250
पेपर 4जनरल स्‍टडीज़ – III आचार ,नीति ,अखंडता ,एप्टीट्यड 250 250
पेपर 5जनरल स्‍टडीज – IVGeneral Studies250
पेपर 6Optional Subject: पेपर – I250
पेपर 7Optional Subject: पेपर – II250
साक्षात्कार क्लियर करे

आईपीएस ऑफिसर बनने का सबसे अंतिम पड़ाव इंटरव्यू होता है. इसमें आपको विभिन्न प्रकार के क्षेत्रों से सवाल जवाब पूछे जाते हैं. अगर आप उन सवालों के जवाब सही तरीके से देते हैं, तो आपको अधिकारी के तौर पर चयनित किया जाता है. और आपको ट्रेनिंग के लिए भेज दिया जाएगा. इंटरव्यू कुल मिलाकर 275 अंकों का होता है.

Interview लगभग 45 का होता है. इसमें विभिन्न प्रकार के प्रश्न पूछे जाते है और इसी के आधार पर मेरिट list जारी किया जाता है. उसके बाद ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है.

ट्रेनिंग क्लियर करे

जब आप इंटरव्यू क्लियर कर जाते हैं, तब आपको आइपीएस अधिकारी बनाने के लिए ट्रेनिंग के लिए भेजा जाएगा. जहां आपको प्रोफेशनल तरीके से ट्रेनिंग दी जाती है. और फिर आपको आखिर में शपथ दिलाया जाता है. जिसके बाद आप की पोस्टिंग आईपीएस अधिकारी के तौर पर जिले या केंद्रीय के किसी भी विभाग में कर दी जाती है. सबसे महत्वपूर्ण बात की ट्रेनिंग 11 महीने के होती है.

IPS की सैलरी

आईपीएस की सैलरी पद के अनुसार अलग-अलग होता है. यहाँ IPS के कुछ पदों की सैलरी अंकित किया गया है. ये 7th Pay Commission आने के बाद की रिपोर्ट है.

IPS PositionSalary
Director of Intelligence Bureau (GOI) (DIB) Rs. 100,000 – 110,000
Director General Of Police (DGP) Rs. 80,000 – 90,000
Additional Director General Of Police (ADGP) Rs. 37,400 – 67,000 + Grade Pay 12,000
Inspector General of Police (IGP) Rs. 37,400 – 67,000 + Grade Pay 10,000
Deputy Inspector General Of Police (DIG) Rs. 37,400 – 67,0000 + Grade Pay 8,900
Senior Superintendent Of Police (SSP) Rs. 15,600 – 39,100 + Grade Pay 8,700
Superintendent Of Police (SP) Rs. 15,600 – 39,000 + Grade Pay 7,600
Additional Superintendent Of Police (Addl. SP) Rs. 15,600 – 39,000 + Grade Pay 6,600
Deputy Superintendent of Police (DSP) Rs. 15,600 – 39,100 + Grade Pay Of 5,400
Assistant Superintendent of Police (ASP) Rs. 15,600 – 39,100
Assistant Superintendent of Police Rs. 15,600 – 39,100

Conclusion- IPS Kaise Bane

IPS का परीक्षा UPSC द्वारा आयोजित किया जाता है. इस एग्जाम का मुख्य उदेश्य राज्य और केंद्र सरकार को IAS, IPS जैसे अधिकारी प्रदान करना होता है. UPSC परीक्षा क्लियर करने के बाद IPS ऑफिसर बनने की राह सरल हो जाता है. हालांकि, इसके बाद भी interview और training शेष रहता है. लेकिन IPS का रास्ता क्लियर होता है.

आज की पोस्ट में आपने IPS Kaise Bane के सभी तथ्यों का अध्ययन किया है. उम्मीद करता हूँ ये आपको पसंद आया होगा.

Also Read,

NDA क्या है और कैसे करेHotel Management Course कैसे करे
टॉप 7 डिप्लोमा कोर्सेजM.Sc क्या है
Polytechnic क्या है और कैसे करेPhD क्या है और कैसे करे
B.Ed क्या है और कैसे करेB.Tech क्या है और कैसे करे

Leave a Comment