Home » Courses » PCS Kya Hota Hai: योग्यता, एग्जाम, Syllabus और एग्जाम पैटर्न

PCS Kya Hota Hai: योग्यता, एग्जाम, Syllabus और एग्जाम पैटर्न

PCS Kya Hota Hai: PCS राज्य सेवा आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली एक प्रमुख परीक्षा है जिसके तहत राज्य के विभिन्न पदों की नियुक्ति के लिए इस एग्जाम का आयोजन प्रत्येक वर्ष किया जाता है. इसे राज्य स्तर का सबसे कठिन एग्जाम माना जाता है. क्योंकि, PCS योग्यता, एग्जाम पैटर्न, syllabus आदि दुसरें परीक्षाओं से भिन्न होता है.

PCS क्या है, PCS कैसे बने के सन्दर्भ में अभ्यर्थियों द्वारा बहुत सारा प्रश्न पूछा जाता है. जो एग्जाम और इसके तैयारी के बहुत आवश्यक है.

जानकारी के लिए बता दें कि PCS परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के बाद अभ्यार्थी को विभिन्न उच्च पदों जैसे; एसडीएम (SDM), डीएसपी (DSP), एआरटीओ (ARTO), बीडीओ (BDO), जिला अल्पसंख्यक अधिकारी, जिला खाद्य विपणन अधिकारी, असिस्टेंट कमिश्नर व्यापार कर आदि पर नियुक्ति किया जाता है.

प्रत्येक राज्य में राज्य संघ लोक सेवा आयोग अर्थात State Public Service Commission का गठन किया गया है. इसके अंतर्गत राज्य में सरकारी रिक्त पदों के पूर्ति के लिए PCS एग्जाम का आयोजन प्रत्येक वर्ष किया जाता है. यह आयोग विशेषकर संघ लोक सेवा आयोग के तर्ज पर कार्यरत रहता है, लेकिन प्रशासनिक शक्ति राज्य सरकार में निहित होती है.

यहाँ PCS से सम्बंधित सभी तथ्य जैसे PCS Kya Hai, PCS के लिए योग्यता, PCS के लिए Subject एवं PCS Ki Taiyari Kaise Kare आदि के बारे में विस्तार से चर्चा किया गया है. जिसकी आवश्यकता एग्जाम की तैयारी के लिए है.

PCS Kya Hota Hai

PCS एक राज्य स्तरीय प्रतियोगिता एग्जाम है जिसका आयोजन राज्य सरकार रिक्त पदों के पूर्ति लिए करती है. अर्थात, यह राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित होने वाली राज्य सिविल सेवा का सबसे प्रमुख परीक्षा है.

इस परीक्षा के अंतर्गत अभ्यर्थी को एसडीएम, डीएसपी, एआरटीओ, बीडीओ, जिला अल्पसंख्यक अधिकारी, जिला खाद्य विपणन अधिकारी, असिस्टेंट कमिश्नर व्यापार कर समेत विभिन्न विभागों के उच्च पदों पर नियुक्ति प्रदान किया जाता है.

Note:
यह पद राज्य सरकार के परामर्श के अनुसार नियंत्रण होता है. इसलिए, एक बार PCS में भर्ती हो जाने के बाद अधिकारी को दूसरे राज्य में ट्रान्सफर नही किया जा सकता है. यह प्रावधान प्रत्येक राज्य के अनुसार कार्य करता है.

PCS के पद संभालने के बाद कानून व्यवस्था और राजस्व प्रशासन के रखरखाव के लिए, पीसीएस अधिकारी विभिन्न स्तरों जैसे जिला, मंडल और उप-मंडल आदि के देखभाल करते है.

यहाँ PCS Kya Hota Hai के सन्दर्भ में और भी तथ्य उपलब्ध है जो एग्जाम की तैयारी करने एवं अधिकतर जानकारी इकट्ठा करने में मदद करते है. इसलिए, PCS का योग्यता, एग्जाम पैटर्न, syllabus आदि का अध्ययन विस्तार से करे.

PCS का फुल फॉर्म क्या होता है

व्यक्तिगत और मौखिक ज्ञान के लिए PCS Full Form in Hindi को जानना आवश्यक है. क्योंकि, यह कई बार Competition एग्जाम के दृष्टिकोण से आवश्यक हो जाता है.

यहाँ PCS का फुल फॉर्म हिंदी और अंग्रेजी दोनों में अंकित है. क्योंकि, इसकी भूमिका व्यक्तिगत ज्ञान को बढ़ाने में अधिक होती है.

PCS का फुल फॉर्म हिंदी में = प्रांतीय सिविल सेवा
PCS Ka Full Form अंग्रेजी में = Provincial Civil Service

इसे भी पढ़े,

PCS के लिए योग्यता

PCS एंट्रेंस एग्जाम में आवेदन करने के लिए निम्न योग्यताएँ होना आवश्यक है.

आरक्षण या आयु में छूट के लाभ का दावा करने के लिए, उम्मीदवारों के पास निम्न प्रमाण होना आवश्यक है.

  • महिला उम्मीदवारों के मामले में, पिता की ओर से जारी जाति / अधिवास प्रमाण पत्र मान्य माना जाएगा
  • एक से अधिक पत्नी (जीवित) वाले पुरुष उम्मीदवार पात्र नहीं हैं.
  • महिला उम्मीदवार जिन्होंने पहले से ही एक पत्नी (जीवित) वाले व्यक्ति से विवाह किया है, वे पात्र नहीं हैं.
  • गर्भवती (12 सप्ताह या अधिक) महिला उम्मीदवारों को अस्थायी रूप से अयोग्य घोषित किया जाएगा.
  • यूपी पीसीएस परीक्षा के लिए एक से अधिक श्रेणी में आयु छूट/आरक्षण का दावा करने वाले उम्मीदवार केवल एक रियायत के हकदार होंगे

Educational Qualification

  • PCS एग्जाम में सम्मिलित होने के लिए अभ्यार्थी के पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन डिग्री होना आवश्यक है.
  • उम्मीदवार शारीरिक और मानसिक रूप से स्वास्थ्य होना चाहिए.

पीसीएस अधिकारियों के कुछ विशिष्ट पदों के लिए आवेदन करते समय विशिष्ट योग्यता अनिवार्य है.

पद (Post)आवश्यक Qualification
DIET (Senior Lecturer)B.Ed और Post Graduate Degree
District probation officerDegree of Post Graduation in Sociology  Diploma, Psychology,
District Administrative OfficeDegree of post-graduation.
Sub Registrar & Assistant Prosecuting OfficerGraduated in law.
Assistant Conservator of Forest or Range Forest officerGraduated in Engineering, Geology Forestry, Zoology, Agriculture, Chemistry, Physics, Mathematics, Statistics.
Assistant Labor CommissionerEconomics, Sociology, Commerce in a graduate degree of arts.
District Adult OfficerThe candidate graduated with a Commerce degree.
Statistical OfficerPost-graduation
Child Development Project OfficerSociology, Home Science, Social Work undergraduate degree.

PCS के लिए Age Limit

पीसीएस के लिए आयु सीमा प्रत्येक वर्ग के अनुसार अलग-अलग निर्धारित किया गया है. सामान्य स्थति में इस परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए अभ्यार्थी की न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम 40 वर्ष होनी ही चाहिए.

जबकि कुछ आरक्षित वर्ग जैसे SC / ST / PWD के लिए आयु में छूट की प्रावधान अंकित किया गया है. जिसका अध्ययन PCS Kya Hota Hai के माध्यम से निचे करेंगे.

CategoryAge Relaxation
SC5 वर्ष का छुट
S.T.5 वर्ष का छुट
OBC5 वर्ष का छुट
Skilled players of U.P. of Classified Games5 वर्ष का छुट
State Govt. Employees of U.P. 5 वर्ष का छुट
Physically Handicapped (PwD)15 वर्ष का छुट

PCS Exam Pattern in Hindi

पीसीएस परीक्षा पैटर्न यूपीपीएससी द्वारा पीसीएस की आधिकारिक अधिसूचना के साथ जारी किया गया है. पीसीएस अधिसूचना के अनुसार पीसीएस प्रिलिम्स में दो पेपर 200-200 अंकों के होते हैं.

इस एग्जाम में एक गलत जवाब के लिए अंक काटे जाते हैं. जबकि पीसीएस मेन्स का पूर्णांक 1500 का होता है. इसमें 8 पेपर Subjective के होते है.

PCS का एग्जाम तिन चरण में पूर्ण होता है.

  1. Prelims – 2 papers – objective type questions (MCQs)
  2. Mains – 8 papers – essay/descriptive type
  3. Interview

इसका एग्जाम पैटर्न इस प्रकार है.

पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न

पेपरविषयअधिकतम अंकअवधि
पेपर 1सामान्य अध्ययन 12002 घंटे
पेपर 2सामान्य अध्ययन 22002 घंटे

पीसीएस मेन परीक्षा पैटर्न

पेपरविषयअधिकतम अंकअवधि
पेपर 1सामान्य हिंदी1503 घंटे
पेपर 2निबंध1503 घंटे
पेपर 3सामान्य अध्ययन 12003 घंटे
पेपर 4सामान्य अध्ययन 22003 घंटे
पेपर 5सामान्य अध्ययन 32003 घंटे
पेपर 6सामान्य अध्ययन 42003 घंटे
पेपर 7वैकल्पिक विषय पेपर 12003 घंटे
पेपर 8वैकल्पिक विषय पेपर 22003 घंटे

PCS Syllabus

लोक सेवा आयोग पीसीएस का परीक्षा तीन चरण में पूर्ण होता हैं. जो इस प्रकार है: प्रारंभिक (prelims), मुख्य (mains) और साक्षात्कार (interview). ये तीनों चरण राज्य सरकार द्वारा ऑफ़लाइन मोड में आयोजित किए जाते हैं.

पीसीएस आधिकारिक अधिसूचना में प्रिलिम्स और मेन्स परीक्षा का syllabus आयोग द्वारा अलग-अलग जारी किया जाता है. जिसका मुख्य उदेश्य विद्यार्थियों को सही जानकारी प्रदान करना होता है.

प्रारंभिक (prelims) और मुख्य (mains) एग्जाम का syllabus निचे विस्तार से अंकित किया गया है जिसके मदद से PCS Kya Hota Hai और तैयारी करने में मदद करता है.

अवश्य पढ़े, IBPS Kya Hai और तैयारी कैसे करे

PCS prelims syllabus

प्रिलिम्स परीक्षा में General Studies के दो Paper होते हैं. पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा में प्रश्न सामयिक मामलों, सामान्य विज्ञान, विश्व भूगोल, भारतीय राजनीति, अर्थव्यवस्था, भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन आदि और सामान्य एवं मानसिक योग्यता, हिंदी आदि जैसे विषयों से पूछे जाते है.

पहला पेपर:

सामान्य अध्ययन (General Studies) 1
राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सामयिक मामले
भारत का इतिहास
भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन
स्वतंत्रता आंदोलन
भारतीय इतिहास के सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक पहलू
राष्ट्रवाद का विकासस्वतंत्रता प्राप्ति
भारतीय और विश्व भूगोल
भारत का भौतिक, सामाजिक और आर्थिक भूगोल
भारतीय राजव्यवस्था और शासन
पंचायती राज
संविधान
राजनीतिक प्रणाली
सार्वजनिक नीति
अधिकार के मुद्दे, आदि
आर्थिक और सामाजिक विकास
सतत विकास
सामाजिक क्षेत्र की पहल
गरीबी समावेशन
जैव विविधता
जलवायु परिवर्तन, आदि
सामान्य विज्ञान
भौतिक विज्ञान
रसायन विज्ञान
जीवविज्ञान

दूसरा पेपर:

यह पेपर कुल 200 मार्क्स का होता है इसमें 100 प्रश्न और 2 घंटे की समय सीमा तय होती है.

सामान्य अध्ययन 2
तार्किक तर्क
विश्लेषणात्मक क्षमता
निर्णय कौशल और समस्या-समाधान
सामान्य मानसिक क्षमता
गणित से
अंकगणित
बीजगणित
ज्यामिति
सांख्यिकी
ग्रामर से
Comprehension
Direct & indirect speech
Punctuation & spellings
Active voice & passive voice
Parts of speech
Transformation of sentences
Words meanings
Vocabulary & usage
Idioms & phrases
Fill in the blanks
हिंदी से
हिंदी वर्णमाला
संधि, समास
क्रिया
अनेकार्थी शब्द
विलोम शब्द
तत्सम, तद्भव, देशज, विदेशी
शब्द रचना, वाक्य रचना, अर्थ
शब्द रूप
पर्यायवाची शब्द
मुहावरे
लोकोक्तियां आदि

मुख्य परीक्षा | Mains Exam

पीसीएस मुख्य परीक्षा Subjective Type का होता है. इसमें कुल आठ पेपर होते है जिसमे कुल अंको की संख्या 1500 होता है. पीसीएस मुख्य परीक्षा में प्रश्न सामान्य हिंदी, निबंध, सामान्य अध्ययन और वैकल्पिक विषयों से पूछे जाते हैं.

अवश्य पढ़े, IAS कैसे बने की पूरी जानकारी

General Hindi150 मार्क्स और समय सीमा 3 घंटे
Essay150 मार्क्स और समय सीमा 3 घंटे
General Studies 1200 मार्क्स और समय सीमा 2 घंटे
General Studies 2200 मार्क्स और समय सीमा 2 घंटे
General Studies 3200 मार्क्स और समय सीमा 2 घंटे
General Studies 4200 मार्क्स और समय सीमा 2 घंटे

इस एग्जाम का syllabus इस प्रकार है.

सामान्य हिंदी
शब्द ज्ञान एवं प्रयोग
उपसर्ग एवं प्रत्यय प्रयोग
विलोम शब्द
वाक्यांश के लिए एक शब्द
वर्तनी एवं वाक्य शुद्धि
सरकारी एवं अर्धसरकारी पत्र लेखन
दिए हुए गद्य का अवबोध एवं प्रश्नोत्तर
संक्षेपण
तार लेखन, कार्यालय आदेश
अधिसूचना, परिपत्र
लोकोक्ति एवं मुहावरे
निबंध
सेक्शन – A
कला और संस्कृति
सामाजिक
राजनैतिक

सेक्शन – B
विज्ञान, पर्यावरण और प्रौद्योगिकी
अर्थशास्त्र
कृषि, उद्योग और व्यापार

सेक्शन – C
राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय घटनाएं
प्राकृतिक आपदा, सूखा, भूस्खलन, भूकंप, बाढ़ आदि
General Studies 1
भारतीय संस्कृति का इतिहास
प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला रूपों, साहित्य और वास्तुकला के प्रमुख पहलू
स्वतंत्रता संग्राम
स्वतंत्रता के बाद देश में सशक्तीकरण और पुनर्गठन (वर्ष 1965 तक)
आधुनिक भारतीय इतिहास (सन् 1757 से 1947 तक)
विश्व इतिहास
भारतीय समाज और संस्कृति की प्रमुख विशेषताएं
समाज और महिला संगठनों में महिलाओं की भूमिका
सामाजिक सशक्तीकरण, सांप्रदायिकता, क्षेत्रवाद और धर्मनिरपेक्षता
दुनिया के प्रमुख प्राकृतिक संसाधनों का वितरण
भौतिक भूगोल की मुख्य विशेषताएं
भारत के समुद्री संसाधन और उनकी क्षमता
मानव पलायन
जनसंख्या और बस्तियाँ
उत्तर प्रदेश का विशिष्ट ज्ञान
General Studies 2
भारतीय संविधान – ऐतिहासिक आधार, विकास, विशेषताएं, संशोधन, बुनियादी संरचना, सर्वोच्च न्यायालय की भूमिका
संघ और राज्यों के कार्य और जिम्मेदारियां
केंद्र में वित्त आयोग की भूमिका – राज्य वित्तीय संबंध
शक्तियों का विभाजन
वैकल्पिक विवाद निवारण तंत्र का उदय और उपयोग।
अन्य प्रमुख लोकतांत्रिक देशों के साथ भारतीय संवैधानिक योजना की तुलना
संसद और राज्य विधानसभाएँ
कार्यपालिका और न्यायपालिका की संरचना, संगठन और कार्यप्रणाली
जनप्रतिनिधित्व अधिनियम की मुख्य विशेषताएं।
विभिन्न क्षेत्रों और मुद्दों में विकास के लिए सरकार की नीतियां और हस्तक्षेप
विकास की प्रक्रिया
केंद्र और राज्यों द्वारा जनसंख्या के कमजोर वर्गों के लिए कल्याणकारी योजनाएं
गरीबी और भुखमरी से संबंधित मुद्दे, देश पर उनके निहितार्थ।
शासन के महत्वपूर्ण पहलू
लोकतंत्र में सिविल सेवाओं की भूमिका
भारत और पड़ोसी देशों के साथ इसके संबंध
द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक समूह और समझौते
विकसित और विकासशील देशों की नीतियों और राजनीति प्रभाव
महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थाएं
उत्तर प्रदेश का विशिष्ट ज्ञान
क्षेत्रीय, राज्य, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की वर्तमान घटनाएं और मामले
General Studies 3
भारत में आर्थिक नियोजन, उद्देश्य और उपलब्धियाँ
नीति आयोग की भूमिका
सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) का उद्देश्य
गरीबी, बेरोजगारी के मुद्दे
सामाजिक न्याय और समावेशी विकास
सरकारी बजट और वित्तीय प्रणाली के घटक
प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कृषि सब्सिडी और न्यूनतम समर्थन मूल्य से संबंधित मुद्दे
सार्वजनिक वितरण प्रणाली
भारत में खाद्य प्रसंस्करण और संबंधित उद्योग
स्वतंत्रता के बाद से भारत में भूमि सुधार।
बुनियादी ढांचा
विज्ञान और तकनीक
विज्ञान और प्रौद्योगिकी में भारतीयों की उपलब्धियां, प्रौद्योगिकी का स्वदेशीकरण
पर्यावरण सुरक्षा और पारिस्थितिकी तंत्र
एक अपारंपरिक सुरक्षा और सुरक्षा चुनौती के रूप में आपदा, आपदा न्यूनीकरण और प्रबंधन।
भारत की आंतरिक सुरक्षा चुनौतियां
कृषि, बागवानी, वानिकी और पशुपालन के मुद्दे
यूपी के विशेष संदर्भ में कानून और व्यवस्था और नागरिक सुरक्षा
General Studies 4
नैतिकता और मानव संपर्क
रवैया
सिविल सेवा के लिए योग्यता और मूलभूत मूल्य
भावनात्मक बुद्धि
भारत और दुनिया के नैतिक विचारकों और दार्शनिकों का योगदान
लोक / सिविल सेवा मान और लोक प्रशासन में नैतिकता
शासन में संभावना
उपरोक्त मुद्दों पर केस स्टडी

साक्षात्कार | Interview

यह PCS परीक्षा का अंतिम चरण है जिसे पास करना अनिवार्य होता है तभी वो किसी पद पर नियुक्त हो सकते है. मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है. साक्षात्कार 100 अंकों का होता और जिसका आयोजन यूपीपीएससी द्वारा नियुक्त बोर्ड द्वारा किया जाता है.

साक्षात्कार का उद्देश्य सक्षम और आपके विचार, विपरीत परिस्थितियों में आपके निर्णय लेने की क्षमता और नेतृत्व क्षमता का परीक्षण करना है.

व्यक्तित्व परीक्षण में, अपने अकादमिक अध्ययन के अलावा, उम्मीदवारों को अपने राज्य या देश के भीतर और बाहर हो रहे मामलों के बारे में पता होना चाहिए.

साक्षात्कार उम्मीदवार के मानसिक गुणों और विश्लेषणात्मक क्षमता का पता लगाने के उद्देश्य से एक उद्देश्यपूर्ण बातचीत है. इसलिए, इंटरव्यू के दौरान आत्मविश्वास बनाये रखे.

अवश्य पढ़े, CA क्या है और तैयारी कैसे करे

PCS की तैयारी कैसे करे

प्रांतीय सिविल सेवा परीक्षा एक प्रतिष्ठित परीक्षा है और इसके लिए तैयार किए गए प्रश्नपत्रों का उदेश्य इस प्रकार है कि यह उम्मीदवारों की विश्लेषणात्मक और बौद्धिक स्पष्टता का परीक्षण करता है.

कुछ विशेष सुझाव जो उम्मीदवारों को उनकी तैयारी को और बेहतर बनाने में मदद करता है.

  • प्रत्येक विषय जो PCS syllabus में अपना स्थान रखता है, वह महत्वपूर्ण है और एक उम्मीदवार को उनमें से किसी को भी छोड़ना नहीं चाहिए.
  • राज्य सेवा परीक्षाओं के लिए, उम्मीदवार को राज्य बोर्ड की पाठ्यपुस्तकों को पढ़ना चाहिए क्योंकि ये पाठ्यक्रम में उल्लिखित विभिन्न विषयों पर विस्तार से जानकारी देती हैं.
  • प्रत्येक विषय जैसे इतिहास, भूगोल, राजनीति आदि को भी राज्य के पहलुओं को ध्यान में रखते हुए पढ़ा जाना चाहिए.
  • पिछले वर्ष पूछे गए प्रशों का भी अध्ययन नियमित रूप से करे.

PCS प्रीलिम्स एग्जाम के लिए निम्न विषय पर विशेष ध्यान केन्द्रित करे:

  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की समसामयिक घटनाएं
  • भारतीय इतिहास और राष्ट्रीय आंदोलन
  • सामाजिक और आर्थिक विकास
  • भारतीय और विश्व भूगोल
  • पर्यावरण पारिस्थितिकी, जलवायु परिवर्तन और जैव विविधता
  • सामान्य विज्ञान
  • भारतीय शासन और राजनीति

Aptitude परीक्षा के लिए, यानी पीसीएस प्रीलिम्स पेपर– II, उम्मीदवारों को पढ़ने की समझ, तार्किक तर्क और अंग्रेजी व्याकरण का अधिक अभ्यास करना चाहिए क्योंकि इन वर्गों के प्रश्न अधिक परीक्षा में पूछे जाते हैं.

एग्जाम आने से पहले अधिक से अधिक मॉक टेस्ट अवश्य हल करे. इससे आपको एग्जाम पेपर की एक झलक मिल जाती है. सबसे आवश्यक अध्ययन के लिए Time-Table अवश्य बनाए. ये आपकी अध्ययन शैली को और अधिक विकसित कर देगा.

जरुर पढ़े, IPS कैसे बने की जानकारी

PCS Kya Hota Hai – FAQ

Q 1. पीसीएस करके क्या बनते हैं?

उत्तर:- PCS का एग्जाम क्लियर करने के बाद अभ्यार्थी को सरकारी विभाग के विभिन्न उच्च पदों जैसे; एसडीएम (SDM), डीएसपी (DSP), एआरटीओ (ARTO), बीडीओ (BDO), जिला अल्पसंख्यक अधिकारी, आदि पर नियुक्त किया जाता है. ऐसे सभी पद राज्य के अंतर्गत राज्य में ही कार्य करता है.

Q 2. PCS की सैलरी कितनी होती है?

उत्तर:- PCS ऑफिसर की सैलरी बहुत सारे फैक्टर पर निर्भार होता है. लेकिन एक अनुमान के अनुसार पीसीएस अधिकारी का वेतन संरचना लगभग 60,000 से 1,00,000 के करीब होती है, जिसमे रहने के लिए घर, नौकर, सरकारी वाहन आदि शामिल है.

Q 3. पीसीएस की योग्यता क्या है?

उत्तर:- PCS एग्जाम में भाग लेने के लिए उम्मीद्वार के पास निम्न योग्यताएँ होना अनिवार्य है.

  • किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से बैचलर डिग्री होना चाहिए
  • कैंडिडेट भारतीय नागरिक होना चाहिए
  • उम्मीद्वार की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष और अधिकतम 40 वर्ष होनी चाहिए
  • अन्य रिजर्व कैटेगरी के लिए आयु सीमा में विशेषछूट दी गई है.

Q 4. PCS अधिकारी कैसे बने?

उत्तर:- PCS ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले PCS द्वारा तय की गई योग्यता को पूर्ण करना अनिवार्य है. जैसे किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन डिग्री, उम्र न्यूनतम 21 वर्ष और अधिकतर 40 वर्ष होनी चाहिए. एग्जाम क्लियर करने के लिए PCS का syllabus का अध्ययन टॉपिक के अनुसार करना अनिवार्य है. एग्जाम क्लियर करने के बाद SDM, DSP, ARTO, BDO आदि जैसे पदों पर नियुक्ति होती है.

उम्मीद करता हूँ कि PCS Kya Hota Hai से सम्बंधित जानकारी पढ़कर आपको अच्छा लगा होगा. यदि कोई संदेह शेष हो तो कृपया हमे कमेंट अवश्य करे.

Leave a Comment