Web Designing क्या है और Course कैसे करे – फीस, अवधि, योग्यता आदि

Web Design in Hindi

आज के यूग में करियर को लेकर हर कोई परेशान है और हर कोई यह चाहता भी है की वह अपने करियर के बुलंद ऊचाई हो, इसके लिए हमें सही दिशा और निर्देश की जरुरत होती है पर उस समय और ज्यदा होता है जब हम अपने schooling life में होते है क्योकि हमारी मानसिकता उसी समय से विकशित होने लगता है कि आगे क्या करना है.

पर अब ऐसे करियर विकल्प वाले कोर्स की तलाश है जिसमे हम अपनी बेहतरीन करियर स्थापित कर सके. इसके लिए आपको एक ऐसे ही बेहतर करियर विकल्प प्रदान करने वाले कोर्स से रूबरू करा रहे है जिसका प्रचालन दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है. Web Designing in Hindi कोर्स आज के समय में सबसे ज्यादा किया जाने वाला कोर्स है.

इस कोर्स को पूरा करके आप केवल अच्छी करियर विकल्प ही नही बल्कि अच्छे पैसे भी कमा सकते है.

ज्यादातर लोग Government Sector या Private Sector में जॉब करना पसंद करते है पर आप वेब डिजाईन कोर्स करके अपने लिए एक अच्छा Background तैयार कर सकते है जो आपके जीवन को एक नई पहचान देगा, जो Government Sector से लाख गुणा बेहतर होगा.

इस आधुनिक इन्टरनेट की दुनिया में अगर आपका खुद का पहचान नही है तो शायद आपको कोई नही जानता. इस स्थिति में आपका अपना परिचय (Individual Identity) इन्टरनेट पर होना जरुरी है जो वेब डिजाइनिंग कोर्स से संभव है.

Web Designing क्या है (Web Designing In Hindi)

Web Designing In Hindi, वेबसाइट की वेब पेज डिजाईन करने का एक प्रक्रियाँ होता है जिसमे बहुत सारे Technical Terms प्रयोग होता है, इसी प्रक्रिया को वेब डिजाईन कहते है.

दुसरे शब्दों में Web-page, Content, Content Creation, Content Design, Page Layout, Graphics Design आदि को अच्छे से ब्यवस्थित करना ही वेब डिजाईन कहलाता है और इसे Technical शब्दों में Web Development Design प्रक्रिया भी कहा जाता है.

किसी भी Website या Web-page को Hyper Text Markup Language के सहायता से बनाया जाता है जिसका संक्षिप्त नाम HTML होता है यह एक Computer Programming Language होता है जिसका स्ट्रक्चर, Coding के रूप में होता है. Web Designer, वेब डिजाईन करने के लिए HTML Language का प्रयोग कर एक खुबसूरत वेबसाइट डिजाईन कोर्स करते है.

डिजाईन का मूल्यांकन

ज्यदातर वेबसाइट HTML और CSS (Cascading Style Sheet) language से तैयार किए जाते है जो Browser पर Smoothly Appear होता है. इसके और बहुत टेक्निकल टर्म्स होते है.

जैसे; To Create New Website, Manage Graphics Design, Page Structure, Internal Designing of Website, Content Production, Site Maintainance, etc. जो इसके महत्वपूर्ण भाग है, जिसे वेब डिजाईन कोर्स कोर्स के अंतर्गत शिक्षा प्रदान किया जाता है.

इस कोर्स में कुछ विशेष टॉपिक पर विशेष ध्यान केन्द्रित किया जाता है जैसे; HTML, CSS, CSS2, Adobe Photoshop, Illustration, Canva, Web-Hosting, SEO (Search Engine Optimization, JAVA आदि.

अवश्य पढ़े,

B.Tech कैसे करे, योग्यता, फ़ीस

BCA कोर्स की सम्पूर्ण जानकरी

MBA से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी

इंटीरियर डिजाईन क्या है?

ITI क्या है और कोर्स कैसे करे

वेब डिजाईन कोर्स के लिए योग्यता ( Web Designing Qualification in Hindi)

वेब डिजाईन एक Interested Based कोर्स है जिसमे किसी विशेष डिग्री की आवश्यकता नही होती है और न ही उम्र सीमा की. आप अपने रूचि के अनुशार कभी भी इस कोर्स को करने के लिए योग्य है. वेब डिजाईन कोर्स 10th के बाद/12th या फिर Graduation के बाद आसानी से किया जा सकता है.

पर किसी भी विषय/वस्तु को सिखने और समझने की एक उम्र सीमा होती है इस कोर्स में विशेष तरह की software, Language, Tools and Script आदि के बारे में बताया जाता है , जिसे समझने के लिए काबिलियत होनी चाहिए.

वेब डिजाईन कोर्स थोड़ा सा मुश्किल विषय है इसलिए इसे 12th के बाद या Graduation के बाद आसानी से पूरा किया जा सकता है और डिग्री का इस्तेमाल एक अच्छे जॉब लेने के लिए भी किया जा सकता है.

योग्यता

  • 10th/12th से संभव
  • ग्रेजुएशन जॉब के दृष्टीकोण से अनिवार्य
  • कम्युनिकेशन स्किल्स
  • अंग्रेज़ी स्किल
  • बेसिक कंप्यूटर की जानकारी
  • मार्केटिंग समझ
  • क्रिएटिव स्किल्स
  • सबसे बड़ा लगन

वेब डिजाईन में Certification कोर्स

Web Designing kya hai

वेब डिजाईन कोर्स विभिन्न प्रकार के होते है जैसे; Diploma, Graduate In Web Designing, Online Diploma आदि. कोर्स की अवधि भी भिन्न-भिन्न होते है, डिप्लोमा कोर्सेज 6 महीने से लेकर 1 वर्ष तक और स्नातक डिग्री 3 वर्ष का होता है.

कुछ कंडीशन में डिप्लोमा 1 वर्ष से 2 वर्ष के भी होते है लेकिन इस स्थिति में उम्मीदवार को 10th या 12th पास होना आवश्यक हो जाता है तभी उम्मीदवार इस अवधि के कोर्सो के लिए योग्य होते है.

वेब डिजाईन कोर्स को किसी भी छोटे-बड़े इंस्टीट्यूट से शुरू कर सकते है यह देखकर की उस इंस्टीट्यूट के ट्रेनर कितने योग्य है और ये जानना जरुरी भी है की आप उस इंस्टीट्यूट से कितना उम्मीद कर सकते है.

इसके अलावा, बिना किसी फीस के ऑनलाइन, फ्री में इस कोर्स को बड़ी आसानी से पूरा किया जा सकता है. बहुत सारे Online Platform है जो फ्री में Online Tutorials और E-books के मदद से वेब डिजाइनिंग कोर्स सिखाते है.

वेबसाइट डिजाइनिंग ऑनलाइन फ्री कोर्स

पर ऑनलाइन प्रक्रिया इंस्टीट्यूट और कॉलेज के तुलना में थोड़ा मुश्किल होता है, क्योकि Online में आपको खुद सभी जानकारी इधर-उधर से इक्कठा करना होता है, जो थोडा मुश्किल भरा काम है लेकिन इंस्टीट्यूट सुरक्षित होता है.

15 Top Courses After 12 in Hindi. बेहतरीन करियर विकल्प वाले courses जरुर पढ़े

वेब डिजाईन कोर्स की फीस (Web Designing Course Fee in Hindi)

इंडिया में बहुत सारे छोटे-बड़े इंस्टीट्यूट और कॉलेज है जो वेब डिजाईन ट्रेनिंग कोर्स मुहैया कराते है और कोर्स फीस उनके Training Facility के अनुसार निर्धारित होता है.

प्रत्येक इंस्टीट्यूट की फ़ीस अलग-अलग होता है लेकिन Web Designing Course की न्यूनतम फ़ीस लगभग 35,000 से 50,000 के आसपास होता है और अधिकतम कोर् लगभग 1,00,000 से 3,00,000 के आसपास होता है.

Web Design Course के फायदे

इस कोर्स के द्वारा कंप्यूटर के फील्ड में अनोखा जानकारी एवं मार्केटिंग इंडस्ट्री में प्रवेश करने की मौका, जो इस कोर्स को प्रमुख बनता है. अधिकतर उम्मीदवार ग्लोबल मार्किट से सम्बन्ध रखने एवं बेहतर करियर विकल्प के लिए इस कोर्स के साथ जाना पसंद करते है.

प्रमुख फायदे

  • अपने क्रिएटिविटी को दुनियाँ के सामने रखने का सुनहरा मौका
  • ऑनलाइन पैसे कमाने का तरीका
  • ग्लोबल मार्किट की जानकारी
  • फोटो विडियो बनाने का हुनर
  • इन्टरनेट की दुनियां में सबसे बड़ी उपलब्धि

वेब डिज़ाइनर कैसे बने?

डिज़ाइनर बनाना एक प्रोफेशन है जो यह कोर्स डिज़ाइनर बनने में एक अहम् किरदार निभाता है. अपनी कबिलिअत का परिचय दुनियां से करा सकते है, क्योकिं यह इन्टरनेट की दुनियां है और यहाँ उसी को पहचाना जाता है जिसके पास कुछ विशेष कला होती है. यह कोर्स करके आप डिज़ाइनर के रूप दुनियां के सामने खड़ा हो सकते है.

यहाँ कुछ भी असंभव नही है. अगत सोच ले की आपको बेहतर डिज़ाइनर बनान है तो वास्तव में बनेंगे. हालांकि उसके लिए कुछ विशेष सूचनाओं की आवश्यता होती है जिसे आप निचे चरण बद्ध चरण पढ़ेंगे.

  • इन्टरनेट की ताकत को समझे
  • कोर्स का मूल्यांकन करे
  • जानकारी इकट्ठा करे
  • अपने पसंदिता केटेगरी पर फोकस करे
  • मुश्किल लगने वाले कार्य को पहले पूर्ण करे

वेब डिजाइनिंग में करियर (Career Option In Web Designing In Hindi)

जहाँ तक वेब डिजाईन में करियर की सवाल है, इसे पूरा करने के बाद इसमें जॉब के बहुत विकल्प है, वेब डिज़ाइनर कामुख्य काम वेबसाइट की रुपरेखा तैयार करना होता है जो हर नए वेबसाइट मालिक की पहली पसंद Developers होते है.

क्योकि वेबसाइट का अधिकतर काम इन्ही पर निर्भर होता है इसलिए Developers hire करने की संभावनाए अधिक होते है.

अवश्य पढ़े, भारत के टॉप 10 MBA कॉलेज

इसके अलावा आप किसी कंपनी में आसानी से जॉब कर सकते है जो आजकल हर बड़ी कंपनियां एक अच्छे Web Developers की तलाश में है इसीलिए वेब डेवलपर की करियर पूरी दुनियां में सर्वाधिक महत्वपूर्ण है.

अगर आप कंपनी में जॉब करना नही चाहते तो खुद का Freelancer कंपनी खोल कर एक अच्छा आमदनी का स्रोत तैयार कर सकते है. एक प्रठिस्तित वेब डेवलपर के पास करियर के बहुत विकल्प मौजूद होते है. सरकारी और गैर सरकारी संस्था में अप्लाई कर प्रठिस्तित जॉब पा सकते है.

प्रसिद्ध करियर प्रोफाइल्स

  • Application Developers
  • Games Developers
  • Web Programmer
  • Multimedia Programmer
  • SEO Specialist
  • Web Content Manager
  • Content Writer
  • Web Designer
  • Web Developers
  • UX Analyst
  • UX Designer
  • Devloper
  • Programmer
  • Web Site Designing Companies
  • Web Consultancies
  • Software Development Companies
  • Website Optimization Companies
  • Web Marketing Firms
  • Educational Institutes
  • Web Domain & Hosting Service Providers
  • Website Development Firms
  • Professional Websites

वेब डिज़ाइनर की सैलरी पैकेज (Salary Package In Hindi)

एक वेब डिज़ाइनर की सैलरी कई मापदंडो पर निर्भर होता है जैसे मान्यता प्राप्त संस्थान Certification, Creative skills, कम्पनी आदि.

अगर एक फ्रेशर वेब डिज़ाइनर की बात करे तो उसे 12,000 से 25,000 के आसपास मंथली सैलरी मिल सकता है और यह उसके स्किल निर्भर करता है की वो अपने हुनर के वजह से कितना सैलरी लेने में सक्षम है. दूसरी तरफ एक Experienced वेब डिज़ाइनर को 30,000 से 60,000 तकमंथली सैलरी मिल सकता है.

Conclusion

आज के इस लेख में Web Designing kya hai, ( Web Designing in Hindi ) के बारे में आपने विस्तार से पढ़ा, जिसमे हमने वेब डिजाईन के हर एक पहलु पर फोकस किया है जैसे; Web Designing क्या है, वेब डिजाईन के लिए योग्यता, आदि. मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आपको ख़ुशी हुई होगी. अगर आपके मन में इस Article को लेकर किसी प्रकार के संदेह हो तो आप अपना विचार comment सेक्शन में छोड़ सकते है.

4 thoughts on “Web Designing क्या है और Course कैसे करे – फीस, अवधि, योग्यता आदि

  1. Thanks for the ideas you are giving on this website. Another thing I want to say is the fact that getting hold of some copies of your credit file in order to look at accuracy of each and every detail may be the first step you have to perform in credit score improvement. You are looking to freshen your credit report from detrimental details mistakes that damage your credit score.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *