Parts of Speech का भेद, परिभाषा एवं Rules | Parts of Speech in Hindi

Parts of Speech in Hindi

किसी भी वाक्य को शुद्ध-शुद्ध लिखने, पढ़ने और बोलने के लिए Parts of Speech in Hindi ( शब्द भेद) का प्रयोग किया जाता है, ताकि श्रोता को अर्थ पूर्ण भाव स्पष्ट रूप से मुहैया कराया जा सके. अंग्रेजी के विशेषज्ञ किसी वाक्य के माध्यम से उसमें निहित भाव एवं अर्थ को सावधानीपूर्वक पेश करते हैं जो शब्द समूह से संभव होता है.

शब्द भेद के प्रत्येक भाग वाक्य को अर्थवान बनाने के लिए प्रयुक्त होते है, जिससे यह निर्धारित होता है कि किस वाक्य का क्या प्रभाव सामने वाले पर पड़ेगा.

सामान्यतः पार्ट्स ऑफ़ स्पीच ग्रामर की सबसे Advance एवं Basic इकाईयों में एक है जिसका प्रयोग लगभग प्रत्येक वाक्य में होता है. इस टॉपिक के अध्ययन से अंग्रेजी में बोलकर या लिखकर अपने भाव या विचार दूसरों तक बड़ी सरलता से पहुँचाया जा सकता है.

प्रतियोगिता एवं बोर्ड एग्जाम (क्लास 10 और क्लास 12) के लिए यह टॉपिक सबसे महत्वपूर्ण है क्योंकि, इससे प्रश्न एग्जाम में पूछे जाते है. इसलिए, आवश्यकता अनुसार परिभाषा, प्रकार और उदाहरण का वर्णन विशेष रूप से यहाँ किया गया है.

Parts of Speech किसे कहते है | Parts of Speech Definition in Hindi

अंग्रेजी वाक्य में शब्दों का उनके कार्य के अनुसार विभाजन को Parts of Speech  कहा जाता है. 

The division of words according to their function or usage in English sentences is called Parts of Speech. 

सामान्यतः Parts of Speech का वर्गीकरण इसके प्रयोग एवं बनावट के आधार पर किया जाता है, जो अंग्रेजी बोलने और पढ़ने में सहायता करता है. ये मुख्यतः 8 प्रकार के होते है.

दरअसल शब्द भेद का सम्बन्ध English Grammar के Syntax अर्थात वाक्य विचार है. क्योंकि इसके पांच भेद होते है, जो इस प्रकार है.

  1. Orthography ( वर्ण विचार)
  2. Etymology (शब्द विचार)
  3. Syntax (वाक्य विचार)
  4. Punctuation (चिन्ह विचार)
  5. prosody (छंद विचार)

मूलरूप से Parts of Speech, Syntax यानि वाक्य विचार का एक भेद है जिसका अध्ययन इसके अंतर्गत किया जाता है.

इसके सन्दर्भ में और भी तथ्य उपलब्ध है जिसका अध्ययन निचे नियमानुसार करेंगे.

शब्द-भेद की प्रकार | Kinds of Parts of Speech

Parts of Speech  का वर्गीकरण इनके प्रयोग और बनावट के आधार पर English के विशेषज्ञों द्वारा किया है, जिसे आठ प्रमुख भागों में बांटा गया है, जो इस प्रकार हैं.

  1. Noun ( संज्ञा )
  2. Pronoun ( सर्वनाम )
  3. Verb ( क्रिया )
  4. Adjective ( विशेषण )
  5. Adverb (  क्रियाविशेषण )
  6. Preposition ( संबंध सूचक )
  7. Conjunction ( संयोजक )
  8. Interjection ( विस्मयादिबोधक )

इस सभी भेदों का अध्ययन यहाँ संक्षिप्त रूप से करेंगे जो आवश्यक है. क्योंकि, ये अपने आप ही एक बड़ा टॉपिक है, जिसे एक पोस्ट में पुर्णतः वर्णित करना संभव नही है.

मूल रूप से वैसे तथ्यों का वर्गीकरण यहाँ उपलब्ध है जिसका प्रयोग दैनिक जीवन, प्रतियोगिता एवं बोर्ड एग्जाम में विशेष रूप से होता है.

1. Noun ( संज्ञा )

वैसा शब्द जो किसी  वस्तु, व्यक्ति, जानवर, कार्य आदि के नाम का बोध कराने के लिए किया जाए, वह Noun  कहलाता है.

The word that is used to make sense of the name of an object, person, animal, work etc. is called Noun.

Traditional Classification के अनुसार Noun के पांच भेद है. समय के उपरांत Noun में बदलाव होता रहा है. जिसका सम्पूर्ण विवरण आगे पढ़ेंगे.

Proper Noun (व्यक्ति वाचक संज्ञा)
Common Noun (जाती वाचक संज्ञा)
Collective Noun (समूह वाचक संज्ञा)
Material Noun (द्रव्यवाचक संज्ञा)
Abstract Noun (भाव वाचक संज्ञा)

Note:- दुनियाँ में जितने भी वस्तु और नाम है वे सभी Noun है.

For Example:- 

  1. Mohan is quite lucky.
  2. Shivam had already completed his homework.
  3. You are Ram’s brother.
  4. Patna is an old city.
  5. Rekha makes tea.

Mohan, Shivam, Ram, Patna और Rekha Noun के उदाहरण है. 

2. Pronoun ( सर्वनाम )

वह शब्द जिसका प्रयोग Noun के बदले में किया जाए, उसे सर्वनाम (Pronoun)  कहा जाता है.

The word that is used in lieu of Noun is called Pronoun.

बनावट एवं प्रयोग के अनुसार सर्वनाम के 10 भेद होते है. जो इस प्रकार है.

Personal Pronoun (व्यक्तिवाचक सर्वनाम )
Demonstrative Pronoun (निश्चयवाचक सर्वनाम )
Possessive Pronoun (स्वत्वबोधक सर्वनाम)
Reflexive Pronoun (निजवाचक सर्वनाम )
Emphatic Pronoun (दृढ़तावाचक सर्वनाम)
Indefinite Pronoun (अनिश्चयवाचक सर्वनाम )
Distributive Pronoun (वितरणवाचक सर्वनाम )
Reciprocal Pronoun (पारस्परिक सर्वनाम)
Interrogative Pronoun (प्रश्नवाचक सर्वनाम )
Relative Pronoun (संबंधवाचक सर्वनाम )

अंग्रेजी में Noun के बदले सर्वनाम का प्रयोग होता है जैसे उदाहरण में दर्शाया गया है.

For Example:-

  • She is a beautician.
  • This is a very beautiful toy.
  • I was going to Delhi yesterday.
  • It is time we took our lunch.
  • He was living in Ranchi earlier.

She, This, I, It,  और He, Pronoun के उदाहरण है. 

3. Verb ( क्रिया )

वह शब्द जो किसी Noun की विशेषता के बारे में बताएं या कहें, उसे Verb  कहते हैं.

The words that describe or say about the specialty of a Noun are called Verb.

For Example:- 

  • I had never seen such a terrible earthquake before.
  • She had not written to me since she went abroad.
  • He helped me.
  • How many students do you teach?
  • People celebrate Saraswati Puja on Vasant panchami.
  • He gave me a book.

उपयुक्त वाक्य में Had, Helped, do, Gave और Celebrate Verb है.

Note:- Verb मुख्यतः दो प्रकार होते हैं

  • Helping Verb
  • Main Verb.

ग्रामर में Main Verb दो प्रकार के होते है.

  1. Finite Verbs
  2. Non-Finite Verbs

Finite Verb के दो प्रकार होते है.

  1. Transitive Verb (सकर्मक क्रिया)
  2. Intransitive Verb (अकर्मक क्रिया)

और Non-finite Verb को मुख्यतः तिन वर्गों में विभाजित किया जाता है जो इस प्रकार है. 

  1. Infinitive
  2. Participle
  3. Gerund

तीनो Not-Finite Verb का अध्ययन आप यहाँ विस्तार से कर सकते है.

Auxiliary Verbs या Helping Verb दो प्रकार के होते है.

  1. Primary Auxiliaries
  2. Modal Auxiliaries

इस सभी भेदों का अध्ययन यहाँ विस्तार से यहाँ कर सकते है.

4. Adjective ( विशेषण )

Adjective एक ऐसा शब्द है जो किसी Noun, Pronoun के अर्थ में वृद्धि करता है.

Adjective is a word that adds to the meaning of a Noun, Pronoun.

प्रयोग एवं बनावट के अनुसार Adjective के आठ भेद होते है, जैसे;

Proper Adjective (व्यक्तिवाचक विशेषण)
Adjective of Quality (गुणवाचक विशेषण)
Adjective of Quantity (परिमाणवाचक विशेषण)
Adjective of Number (संख्यावाचक विशेषण)
Demonstrative Adjective (संकेतवाचक विशेषण)
Possessive Adjective (सम्बन्धसूचक विशेषण)
Distributive Adjective (वितरणवाचक विशेषण)
Interrogative Adjective (प्रश्नवाचक विशेषण)

इन सभी रूपों का अध्ययन विस्तारपूर्वक Adjective के सीरीज में सरलता से किया जा सकता है. यहाँ केवल इसके संक्षिप्त रूप ही प्रदान किया गया है.

For Example:- 

  • The Indian farmers are poor.
  • All the boys are rich.
  • Few vehicles are running on the road.
  • I hate such things.
  • He wants more water.
  • What colour is your coat?

Indian, poor, rich, Few, Such, More, Colour आदि Adjectives के उदाहरण है.

5. Adverb (  क्रियाविशेषण )

वह शब्द जो किसी Verb, Adjective या अन्य Adverb के अर्थ की विशेषता प्रकट करे, उसे Adverb  कहा जाता है.

The word that characterizes the meaning of a Verb, Adjective or other Adverb is called Adverb.

क्रियाविशेषण यानि Adverb क्रिया की विशेषता के साथ-साथ Adjective, और स्वयं खुद adverb की भी विशेषता बतलाता है. जैसे, He runs very slowly. इस वाक्य में slowly, एक adverb है लेकिन “very” फिर से slowly के बारे में बता रहा है.

For Example:- 

  • He is not slow.
  • He is not Reading.
  • You are a very good boy.
  • Fortunately no one was injured in a car accident. 

Note:-

Slowly, Not, Very, Fortunately आदि Adverb के उदाहरण है.

Adverb को निम्न वर्गों में वर्गीकृत किया गया है.

Adverb of Time (काल वाचक क्रिया विशेषण)
Adverb of Frequency (बारम्बारता वाचक क्रिया विशेषण)
Adverb of Place (स्थान वाचक क्रिया विशेषण)
Adverb of Manner (रिती वाचक क्रिया विशेषण)
Adverb of Degree (परिणाम वाचक क्रिया विशेषण)
Adverb of Sentence ( वाक्य वाचक क्रिया विशेषण)
Adverb of Affirmation and Negation (सकरात्मक और नकारात्मक क्रिया विशेषण)

6. Preposition ( संबंध सूचक )

वह शब्द जो किसी Noun, Pronoun के साथ प्रयोग किया जाए और उस Noun या Pronoun का सम्बन्ध किसी दूसरे Noun या Pronoun से प्रदर्शित करता हो,  तो उसे Preposition  कहां जाता है.

The word that is used with a Noun, Pronoun, and displays the relation of that Noun or Pronoun to another Noun or Pronoun, then where does it go Preposition.

For Example:- 

  • I got the apple from the tree.
  • You will have to select from among them.
  • He suspended his tour due to heavy rain. 
  • It is quarter to ten by his watch.
  • I was walking along the road. 

From, among, to, along आदि Preposition  है.

Preposition को मुख्यतः चार वर्गों में विभाजित किया गया है.

  1. Single Word / Simple Prepositions
  2. Double Prepositions
  3. Compound Prepositions
  4. Phrase Prepositions

ये प्रयोग एवं बनावट के अनुसार भिन्न-भिन्न होते है.

7. Conjunction ( संयोजक )

दो या दो से अघिक शब्दो अथवा वाक्यो को जोङता है, वह Conjunction कहलाता है.

The addition of two or more words or sentences is called Conjunction.

For Example:- 

  • I like you and your friends
  • The sun rises in the east and sets in the west.
  • Mohan is good but his friend is bad. 
  • Labour hard lest you should fail.
  • Please wait until I come back.
  • I know that God is everywhere.

Note:- 

And, but, lest, until, that  आदि Conjunction है.

Conjunction मुख्यतः दो प्रकार के होते है जो इस प्रकार है. 

  1. Co-Ordinating Conjunctions
  2. Sub-Ordinating Conjunctions

इन दोनों को भी अलग-अलग रूप में व्यक्त किया जा सकता है. विस्तृत अध्ययन आप आगे करेंगे.

8. Interjection ( विस्मयादिबोधक )

वह शब्द जिसका प्रयोग आश्चर्य, शोक,घृणा,  प्रसन्नता इत्यादि को व्यक्त करने के लिए किया जाए,  तो उसे Interjection  कहते हैं.

The word that is used to express surprise, grief, disgust, happiness, etc. is called Interjection.

For Example:-

What a fine picture it is !

What a lovely garden it is !

How beautiful it is !

What a scene it is !

How terrible !

Well done !

Fie! Fie !

Parts of Speech से सम्बंधित FAQ

Q.1. पार्ट्स ऑफ़ स्पीच कितने प्रकार की होती है?

उत्तर:- ग्रामर में पार्ट्स ऑफ़ स्पीच 8 प्रकार की होती है. जो निम्न है.

  • Noun (संज्ञा)
  • Pronoun (सर्वनाम)
  • Adjective (विशेषण)
  • Verb (क्रिया)
  • Adverb (क्रिया विशेषण)
  • Preposition (संबंधसूचक)
  • Conjunction (संयोजक)
  • Interjection (विस्मयसूचक)

Q.2. पार्ट्स ऑफ़ स्पीच का हिंदी अर्थ क्या होता है?

उत्तर:- Parts of Speech का हिंदी अर्थ शब्द भेद, शब्द समूह या शब्द भाषा होता है.

Q.3. पार्ट्स ऑफ़ स्पीच क्या है?

उत्तर:- पार्ट्स ऑफ़ स्पीच वाक्य विचार का एक भाग है जिसे वाक्यों के नियमों आदि का अध्ययन किया जाता है.

Parts of Speech in Hindi चैप्टर एक पूर्ण किताब के समान है जिसे एक पोस्ट में अंकित करना मुश्किल है. अतः आप parts of speech की सम्पूर्ण जानकरी एक-एक पोस्ट के माध्यम से पढ़ पाएँगे.

इस पोस्ट से सम्बंधित कोई सन्देह और समझ न आने के संदर्भ में आप संपर्क और सन्देश कमेंट के माध्यम से कर सकते है.

ग्रामर से सम्बंधित पोस्ट

Pronunciation नियमSentences का प्रकार
WH WordsSubject, Object
Modal VerbsPunctuation Marks

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *