Present Indefinite Tense in Hindi – Rules और Examples

Present Indefinite Tense in Hindi

Simple Present Tense in Hindi समझना एकदम आसान होता है, अगर इसका परिभाषा, नियम और उदाहरण स्पष्ट रूप से दर्शाया गया हो. इस Tense के माध्यम से वर्तमान में हो रहे घटनाओं पर चर्चा किया जाता है, जिसे साधारण भाषा में Simple Present Tense भी कहा जाता है. 

Tense के मुख्यतः तीन रूप होते है और प्रत्येक Tense के चार भेद होते है. पहला यानि Present Tense के पहले भेद का विस्तार से अध्ययन करेंगे जिसमे स्पेशल रूल्स, परिभाषा, और उदाहरण शामिल होंगे. साथ ही इस Tense का प्रयोग भी पढ़ेंगे कि किस-किस स्थिति में इसका प्रयोग किया जाता है. 

Present Indefinite Tense in Hindi के माध्यम से सभी महत्वपूर्ण रूल्स एवं नियम की व्याख्या मॉडर्न ग्रामर के अनुसार यहाँ उपलब्ध है जिसमे शब्द-भेद के साथ विशेष नियमों का उल्लेख किया गया है.

Present Indefinite Tense का परिभाषा, पहचान अनुवाद की विधि   

जिस वाक्य से किसी काम का वर्तमान में होना मालूम हो, तो वह वाक्य Present Indefinite Tense में होना कहा जाता है. 

The sentence which denotes the present time in its simplest form is said to be in Present Indefinite Tense. 

पहचान:-

जिस वाक्य के अंत में ता हूँ / ता है / ती है / ते है / ते हो इत्यादि रहे तो वह वाक्य Simple Present Tense में होना कहा जाता है. 
Or
जिस हिंदी वाक्य के मूल क्रिया के अंत में ता हूँ / ता है / ती है / ते है / ते हो / ती हो / ते हो इत्यादि लगा रहे तो ऐसी क्रिया का अनुवाद Present Indefinite Tense में किया जाता है. 

अनुवाद की विधि (Rules of Translation)

सबसे पहले कर्ता (Subject), उसके बाद क्रिया (Verb) का मूल रूप का प्रयोग कर अन्य शब्दों को रखा जाता है.

यदि कर्ता Third Person Singular Number में हो, तो क्रिया में s / es जोड़ा जाता है उसके बाद अन्य पदों को रखा जाता है. 

Tense के सभी भागों को प्रमुख चार तरीकों से बनाया जाता है जो इस प्रकार है. 

  • Affirmative Sentence (सकारात्मक वाक्य)
  • Negative Sentence (नकारात्मक वाक्य)
  • Interrogative Sentence (प्रश्नवाचक वाक्य)
  • Negative Interrogative Sentence (नकारात्मक प्रश्नवाचक वाक्य)

Structure:-
S + V1 / V5 + O (Other Word)

जहाँ 
S = Subject
V1 = Base for of the Verb (क्रिया का मूल रूप)
V5 = V1 + s / es

1. Affirmative Sentence (सकारात्मक वाक्य)

Present Indefinite Tense in Hindi में क्रिया का मूल रूप का प्रयोग Third Person Singular Number के Subjects को छोड़कर बाकि सभी Subjects के साथ होता है.

Note:- 

  • Verb अपने मूल रूप में Plural होता है उसे Singular बनाने के लिए s / es जोड़ा जाता है. 
  • Noun अपने मूल रूप में Singular होता है उसे Plural बनाने के लिए s / es जोड़ा जाता है.
  • I, We और You को छोड़कर सभी Pronouns और Nouns Third Person के अंतर्गत आते है. 

S और es लगाने का नियम

यदि Verb का अंतिम letter s, sh, ss, ch, x, o, z हो, तो “es” जोड़ा जाता है. यदि ऐसा नही हो, तो केवल “s” जोड़ा जाता है. 

यदि Verb का  अंतिम letter “y” हो और उसके पहले कोई Consonant हो, तो “y” को “i” में बदलकर “es” जोड़ा जाता है. अन्यथा केवल “s” जोड़ा जाता है.  जैसे:- Carry – Carries

Examples:- 

सोनू और मोनू रोज मेरे साथ कबड्डी खेलते है.
Sonu and Monu play Kabaddi with me daily.

वे रोज इनके साथ कार्यालय जाते है.
He goes to the office with him daily.

तुम्हारे पिताजी धारा प्रवाह अंग्रेजी बोलते है. 
your father speaks fluent English.

हमलोग क्रिकेट खेलते है.
We play cricket.

मैं रोज यहाँ आता हूँ.
I come here daily.

Read Here, Relative Pronoun का अर्थ एवं परिभाषा

2. Negative Sentence (नकारात्मक वाक्य)

जब Subject, Third Person Singular Number में हो, तो does not तथा अन्य Subjects के साथ do not क प्रयोग किया जाता है. मुख्य क्रिया हमेशा अपने मूल रूप यानि V1 में ही रहती है. इसके बाद अन्य शब्दों को रखा जाता है. 

Do not के जगह पर don’t तथा does not की जगह पर doesn’t का प्रयोग होता है. इसे Contraction कहा जाता है जिसका प्रयोग मुख्य रूप से Spoken English में किया जाता है. 

Structure:- 
S + do not / does not + V1 + Other Word

  • मैं भात नही खाता हूँ. 
  • I do not eat rice. 
  • हमलोग झूठ नही बोलते है.
  • We do not / don’t tell a lie.
  • मेरी गायें दूध नही देती है.
  • My cows do not / don’t give milk.
  • तुमलोग झगड़ा नही करते हो.
  • You don’t quarrel.
  • वह सच नही बोलता है.
  • He does not speak the truth. 

3. Interrogative (प्रश्नवाचक वाक्य)

इस तरह के वाक्य में do / does को Subject के पहले रखा जाता है तथा Verb के मूल रूप को सब्जेक्ट के बाद रखा जाता है. 

जब हिंदी वाक्य के शुरू में “क्या” हो, तो इसके लिए सब्जेक्ट के Person और Number के अनुसार do / does का प्रयोग सब्जेक्ट के पहले किया जाता है और सब्जेक्ट के बाद आने वाला मुख्य क्रिया हमेशा V1 के रूप में होता है. 

Structure:-
What family + does / do + S + V1 + Other Word + ?

  • वह रोज यहाँ आता है?
  • Does he come here daily?
  • क्या तुम्हारे पिताजी चाय पिते है?
  • Does your Father take tea?
  • क्या तुम्हे कुछ चाहिए?
  • Do you want something?
  • क्या वह अपनी माँ को प्यार करता है?
  • Does he love his mother?

अवश्य पढ़े, WH Words और Yes-No Question का प्रयोग एवं परिभाषा

4. Negative Interrogative (नकारात्मक प्रश्नवाचक वाक्य)

Structure:-
What family + does / do + S + V1 + Other Word + ?
Or
does / do / doesn’t / don’t  + S + V1 + Other Word + ?

  • बच्चे रात में क्यों नही सोते है?
  • Why do children not sleep?
  • वह कैसे तुम्हारी मदद करता है?
  • How does he help you?
  • सीता कब स्कूल जाती है?
  • When does Sita go to school?
  • क्या मैं तुम्हे प्यार करता हूँ?
  • Do I love you?
  • मनीषा रोज कैसे पढ़ती है?
  • How does Manish study daily?

Uses of Present Indefinite Tense in Hindi (Present Indefinite Tense का प्रयोग)

इस Tense का प्रयोग अलग-अलग समय, कार्य, स्थिति एवं सिद्धांत का बोड कराने एवं व्यापक अर्थ प्रदान करने के लिए किया जाता है. 

Also Read, इंग्लिश में सब्जेक्ट और ऑब्जेक्ट की पहचान कैसे करे

स्थाई कार्य व्यापर की अभिव्यक्ति के लिए (To Express Permanent Actions)

  • मैं पटना में रहता हूँ.
  • I live in Patna.
  • उसकी बहन दिल्ली पब्लिक स्कूल में पढ़ाती है.
  • His sister teaches in Delhi Public school.
  • विश्वकर्मा पूजा 17 सितम्बर को पड़ता है.
  • Vishwakarma Puja falls on 17th September
  • निर्भयता विश्वाश पैदा करता है.
  • Fearlessness generates confidence.

नियमित कार्य-व्यापर के अभिव्यक्ति के लिए (To Express routined actions)

  • मैं पांच बजे उठता हूँ.
  • I get up at 5 a.m.
  • वह दस बजे अपना कम शुरू करता है.
  • He starts his work at 10 a.m.
  • वह रोज मंदिर जाती है.
  • She goes to the temple daily.
  • मेरे पिताजी सुबह में अख़बार पढ़ते है.
  • My father reads the newspaper in the morning.

आदत / स्वभाव जनित कार्य-व्यापर की अभिव्यक्ति के लिए (To Express habitual actions)

  • वह दूध पिता है.
  • He drinks milk.
  • वह हमेशा विलम्ब से आती है.
  • She always comes late.
  • हमलोग हमेशा समय पर आते है.
  • We always come on time.
  • बिल्ली माँस खाती है.
  • A cat eats flesh.

भविष्य में पूर्व निर्धारित योजना की अभिव्यक्ति के लिए (To Express planned future actions)

  • प्रधानमंत्री कल यहाँ आएँगे.
  • The Prime Minister comes here tomorrow.
  • अलका अगले वर्ष शादी करेगी.
  • Alka gets married next year.
  • स्कूल अगले सोमवार को खुलेगा.
  • The school reopens next Monday.
  • अगले सप्ताह हमलोग शिमला जाएँगे.
  • We go to Shimla next week.

Note:- 
ऐसे वाक्यों में Adverb of Time अवश्य प्रयुक्त रहता है. जैसे अगले साल / दिन / सप्ताह / कल / सोमवार आदि. 
एडवर्ब से सम्बंधित महत्वपूर्ण नियम यहाँ पढ़े, Adverb क्या है और इसका प्रयोग कैसे किया जाता है

विश्वव्यापी सत्य / सामान्य सत्य / सिद्धांत की अभिव्यक्ति के लिए (To Express Universal / General Truth / Principle)

  • सूर्य पूरब में उगता है.
  • The sun rises in the east.
  • दूध उजला होता है.
  • Milk is white.
  • इमानदारी सर्वोत्तम निति है. 
  • Honesty is the best policy.

निष्कर्ष

Present Indefinite Tense in Hindi यानि वर्तमान समय में होने वाली सभी घटनाओं का विशलेषण करने में मदद करता है. जिससे समय के विषय में जानकरी प्राप्त करने एवं वाक्यों का अनुवाद करने में विशेष गुण प्रदान करता है. प्रेजेंट टेंस के सभी अवश्यक पहलुओं वर्णन यहाँ किया गया है जो आपके परेशानीयों को शांत करेगा.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *